edvertise

edvertise
barmer



जालोर जलदाय मंत्री श्री सुरेन्द्र गोयल ने ली समीक्षा बैठक

तत्काल मंजूर होंगे बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के पेयजल प्रस्ताव

जालोर में एक माह में पूरी तरह सुचारू हो जाएगी पेयजल व्यवस्था


जालोर, 5 अगस्त। जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री श्री सुरेन्द्र गोयल ने कहा है कि जालोर के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की पेयजल व्यवस्था के प्रस्तावों पर तत्काल स्वीकृति प्रदान की जाएगी और एक माह में हर हालत में पेयजल व्यवस्था सुचारू कर दी जाएगी।

श्री गोयल शनिवार को जालोर के जिला कलेक्ट्रेट सभागार में जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों के साथ बाढ़ प्रभावित गांवों में पेयजल व्यवस्था एवं भावी योजना पर चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जिले की ओर से भिजवाए जाने वाले प्रस्तावों को राज्य आपदा राहत कोष (एसडीआरएफ) के नियमों के मुताबिक तुरंत मंजूर कर दिया जाएगा। उसके बाद विभागीय अधिकारी अल्प अवधि की निविदा जारी कर 30 दिन के भीतर कार्य पूर्ण कराना सुनिश्चित करेंगे।

जलदाय मंत्री ने कहा कि जालोर जिले के पेयजल व्यवस्था से संबंधित प्रस्ताव तत्काल भेजें। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे प्रस्ताव की समीक्षा कर त्वरित गति से कार्य करवाकर लोगों तक पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित करें। मंत्री ने इस संबंध में आपदा प्रबंधन विभाग के शासन सचिव श्री हेमन्त गेरा से मोबाइल पर बात कर आवश्यक निर्देश दिए। जलदाय विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जालोर के लिए करीब पांच करोड़ रूपए के प्रस्ताव तैयार किए गए हैं। इसका तकनीकी रूप से और परीक्षण कर शनिवार शाम तक ही एसडीआरएफ को भिजवा दिया जाएगा।

50 लाख तक के काम एसीई के स्तर पर

श्री गोयल ने आपदा के दौरान पीएचईडी अधिकारियों की ओर से किए गए कार्यों की सराहना की और आगे भी इसी गति से कार्य करते हुए जिले की पेयजल व्यवस्था ठीक करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अधिकारी जनप्रतिनिधियों से समन्वय स्थापित कर फील्ड में विजिट करें और जहां जो संभव हो सके उसी अनुसार कार्य कर पेयजल स्रोत चालू करें। उन्होंने कहा कि 50 लाख रूपए तक के काम अतिरिक्त मुख्य अभियंता के स्तर पर ही स्वीकृत हो सकेंगे।

अगस्त, 2018 से पहले पूरे हों सारे प्रोजेक्ट

पीएचईडी मंत्री ने जिले में चल रहे विभागीय प्रोजेक्टों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों से कहा कि अगस्त, 2018 से पहले सभी प्रोजेक्ट पूरे हो जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि वे स्वयं इन प्रोजेक्ट की पाक्षिक रिपोर्ट लेंगे। उन्होंने स्वीकृत आरओ प्लांट का कार्य शीघ्र पूर्ण कराकर आमजन को लाभान्वित करने के निर्देश दिए।

पाइपलाइन रिपेयर के काम शीघ्र हों

आहोर विधायक श्री शंकर सिंह राजपुरोहित ने जवाई नदी के किनारे स्थित ट्यूबवेल तुरंत ठीक कराकर पेयजल सप्लाई चालू करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि जिन ट्यूबवेल की सफाई करनी है या पाइप लाइन रिपेयर करना हो तो ऐसा काम शीघ्रता से करें। साथ ही जो ट्यूबवेल ठीक होना संभव नहीं है तो उसके स्थान पर दूसरा ट्यूबवेल खुदवाने के प्रस्ताव बनाएं। जालोर विधायक श्रीमती अमृता मेघवाल ने जालोर शहर एवं आसपास के गांवों में पानी की आपूर्ति सुचारू करने के लिए त्वरित गति से कार्य करने को कहा।

538 गांवों में पेयजल आपूर्ति सुचारू

बैठक के आरंभ में पीएचईडी के अतिरिक्त मुख्य अभियंता श्री आरके विश्नोई ने जिले की पेयजल व्यवस्था से अवगत कराते हुए बताया कि नर्मदा एफआर प्रोजेक्ट के अतिवृष्टि से क्षतिग्रस्त होने के कारण जालोर शहर में 24 नलकूपों के माध्यम से 96 घंटे के अंतराल से पेयजल आपूर्ति की जा रही है। इसके अतिरिक्त शहर में 23 हैण्डपम्प कार्यशील है। भीनमाल शहर की पेयजल आपूर्ति सुचारू कर दी गई है। अतिवृष्टि एवं पांचला डेम टूटने से नर्मदा डीआर प्रोजेक्ट की मुख्य पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हो गई थी। इससे सांचैर शहर की पेयजल व्यवस्था बाधित हो गई थी। वर्तमान में आधे शहर को विभिन्न स्रोतों से सप्लाई दी जा रही है, जबकि शेष क्षेत्र में टैंकरों से जल परिवहन किया जा रहा है।

श्री विश्नोई ने बताया कि नलकूपों के डूब क्षेत्र में आने, बिजली सप्लाई बाधित होने एवं पाइप लाइनें क्षतिग्रस्त होने से 796 गांवों की पेयजल स्पलाई बन्द हो गई थी। विभागीय टीम ने त्वरित कार्यवाही करते हुए 538 गांवों में पेयजल आपूर्ति दुरूस्त कर दी है। सांचैर खण्ड के नेहड़ क्षेत्र में कई गांव डूब क्षेत्र में होने के कारण पेयजल आपूर्ति सुचारू करने में परेशानी आ रही है, लेकिन वहां अधिकतर घरों में टांके बनवाए हुए है, जिनमें ब्लीचिंग पाउडर डालकर पानी का शुद्धीकरण किया जा रहा है। शेष गांवों में जल परिवहन, स्थानीय पेयजल स्रोत किराये पर लेकर एवं जल संग्रहण टांकों का उपयोग कर पेयजल आपूर्ति शीघ्र बहाल करने का प्रयास किया जा रहा है।

बैठक में जिला प्रमुख श्री वन्नेसिंह गोहिल, विभिन्न पंचायत समितियों के प्रधान, उपखण्ड अधिकारी श्री राजेन्द्र सिंह सिसोदिया, पीएचईडी के अधीक्षण अभियंता कमलजीत, विद्युत वितरण निगम के अधीक्षण अभियंता बीएल दहिया सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

जालोर में राहत कार्य जारी

36 पीड़ित परिवारों को सहायता राशि का भुगतान


जालोर, 5 अगस्त। जालोर जिले के बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत कार्य लगातार जारी है। जिला कलेक्टर श्री एल.एन. सोनी ने बताया कि शनिवार को भी जिला प्रशासन की ओर से विभिन्न गांवों में राशन एवं अन्य सामग्री भिजवाई गई। साथ ही पीड़ित परिवारों को सहायता राशि प्रदान की गई।

श्री सोनी ने बताया कि जालोर उपखण्ड क्षेत्र में बाढ़ एवं अतिवृष्टि से हुए नुकसान के तहत त्वरित सहायता देने के लिए तहसीलदार जालोर से सर्वे करवाया गया था। सर्वे में प्राप्त प्रस्तावों के अनुसार सहायता राशि के रूप में दस व्यक्तियों को प्रति परिवार 3800 रूपए का भुगतान उनके बैंक खातों में किया गया है। इनमें 6 परिवार नहर के पास के हैं तथा 4 परिवार ग्राम बलवाड़ा के हैं।

उपखण्ड अधिकारी श्री राजेन्द्र सिंह सिसोदिया ने बताया कि शेष परिवारों का सर्वे करवाया जा रहा है। जालोर तहसीलदार को शीघ्र सर्वे पूर्ण करने के निर्देश दिए गए हैं। इसके बाद अन्य पात्र परिवारों को भी सहायता राशि दी जाएगी।

रानीवाड़ा उपखण्ड अधिकारी श्री हनुमान सिंह राठौड़ ने बताया कि उपखण्ड में शनिवार को 26 पीड़ित परिवारों को कपड़ों एवं बर्तनों के लिए प्रति परिवार 3800 रूपए की सहायता राशि प्रदान की गई।

मृतक आश्रित परिवार को चार लाख की सहायता राशि दी

आहोर उपखण्ड अधिकारी श्री प्रकाशचंद्र अग्रवाल ने बताया कि शनिवार को बाढ़ के कारण पचानवा निवासी कैलाश कुमार की मृत्यु होने पर उनके पिता श्री नारायणलाल मेघवाल को 4 लाख रूपए की सहायता राशि का चैक प्रदान किया गया। आहोर विधायक श्री शंकर सिंह राजपुरोहित ने पीड़ित परिवार को चैक प्रदान किया और ढांढस बंधाया। इस अवसर पर तहसीलदार पंकज जैन सहित अन्य जनप्रतिनिधि तथा अधिकारीगण उपस्थित थे।

चिकित्सा मंत्री रविवार को लेंगे बैठक

चिकित्सा मंत्री श्री कालीचरण सराफ जालोर जिले में बाढ़ के कारण उत्पन्न स्थितियों एवं चिकित्सा व्यवस्थाओं के संबंध में रविवार को समीक्षा बैठक लेंगे। बैठक प्रातः 11 बजे कलेक्ट्रेट सभागार में होगी।

जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक रविवार को

जालोर जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक रविवार दोपहर 1 बजे जिला कलेक्ट्रेट सभागार में होगी। बैठक की अध्यक्षता जिला कलेक्टर श्री एल.एन. सोनी करेंगे।

----

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top