edvertise

edvertise
barmer



198 घंटे बाद पहुंचे पायलट को लोगों ने कहा,

हुजूर आते-आते बहुत देर कर दी - राठौड़


सिरोही/जालोर/जयपुर, 1 अगस्त। ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने कहा है कि बाढ़ आने के 198 घंटे बाद कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट की नींद खुली। इसके बाद ही वे बाढ़ग्रस्त इलाके में जा पाए। इसीलिए अब वे झेंप मिटाने के लिए कह रहे हैं कि 48 घंटे में सरकार ने कोई राहत नहीं पहुचांई, जबकि सच तो यह है कि मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने राहत पहुंचाने में 48 क्षण भी नहीं लगाए। देर से पहंुचे पायलट से बाढ़ पीड़ितों ने कहा भी कि हुजूर आते-आते बहुत देर कर दी। वे इसके जवाब में ही लोगों को झूठ बोलकर भड़का रहे हैं, सरकार को कोस रहे हैं।

राठौड़ ने कहा कि कांग्रेस के एक भी नेता ने एक मुन्ना पैसा भी बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिए नहीं दिया, न ही राहत पहुचांने मे कोई मदद की और अब जब खुद बाढ़ग्रस्त इलाके में इतने दिन बाद पहुंचे हंै, तो अपनी कमी को ढकने के लिए ऐसी बातें कर रहे हैं।

राठौड़ ने कहा कि मुख्यमंत्री जी ने पहले दिन बाढ़ की सूचना मिलते ही प्रभारी मंत्रियों को लोगों की तकलीफ कम करने के लिए भेज दिया था। वे स्वयं भी बाढ़ग्रस्त इलाकों में गईं और पहले दिन से ही स्वयं बाढ़ प्रभावित क्षेत्रांे की माॅनिटरिंग कर रही हैं, फीडबैक ले रही हैं और राहत पहुंचा रही हैं। भाजपा के कार्यकत्र्ता भी दिन-रात एक कर राहत एवं बचाव दलों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर बाढ़ पीड़ितों की सेवा में जुटे हैं।

पंचायती राज मंत्री ने कहा कि पायलट को तो सीएम का धन्यवाद करना चाहिए जिनकी तत्परता से 1309 लोगों की जान बची और 1514 लोगोें को राहत शिविरों में सुरक्षित पहुंचाया गया। अब तक 31 मृतकों के परिजनों को आर्थिक सहायता प्रदान की जा चुकी है। मुख्यमंत्री जी के प्रयासों से ही मृतक आश्रितों को 7-7 लाख रुपये की आर्थिक सहायता सरकार की ओर से दी जा रही है।

राठौड़ ने कहा कि अच्छा होता पायलट और उनकी कांग्रेस पहले दिन से ही बाढ़ पीडितों की सहायता में जुटते। ऐसा होता तो भाजपा भी उनका स्वागत करती।

-----

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top