edvertise

edvertise
barmer

बेटे का अकेलापन दूर करने के लिए मां ने बुलाई कॉलगर्ल
मां की ममता के हजारों किस्से तो आपने सुने होंगे। मां न केवल अपने बच्चों की परवरिश करती है बल्कि उनकी जरूरतों को भी समझती है। लेकिन इंग्लैंड में मां-बेटे का एक अजीब किस्सा सामने आया है। इंग्लैंड की एक महिला कैथी लैट्टे ने अपने बेटे जूलीयस की लव लाइफ को पूरा करने के लिए कॉलगर्ल का सहारा लिया है। इस बात का खुलासा करते हुए कैथी का कहना है कि उन्होंने ऐसा इसलिए किया क्योंकि वो चाहती थीं कि उनका बेटा सेक्स के बारे में कुछ सीख सके। उनका बेटा जब स्कूल में था तो उसी की उम्र की एक लड़की उसे नामर्द बुलाती थी।एक नामी वेबसाइट से बातचीत में कैथी ने बताया कि एक रात जूलीयस ने मुझसे पूछा कि 'क्या मेरी कभी कोई गर्लफ्रेंड नहीं बन पाएगी? कोई मुझे अहमियत नहीं देता। हर बार का रिजेक्शन मुझे तोड़ रहा है। मैं क्या करूं'। इस पर कैथी को गहरा आघात लगा बेटे की बात दिल पर लग गई।ऐसे में अपने बेटे को डिप्रेशन में जाते देख कैथी ने एक ऐसा निर्णय लिया जो एक मां कभी नहीं लेना चाहेगी। उसने बेटे के रोमांस की चाहत को खत्म करने के लिए कॉलगर्ल तलाशना शुरु कर दिया। 


आखिरकार कैथी को एक कॉलगर्ल मिली जो उसके बेटे को हर वो चीज सिखाने को तैयार थी जो वो चाहता था। कैथी का बेटा जूलियस बचपन से ऑर्टिम से पीडि़त है। चार साल का होने तक उसने बोलना भी नहीं सीखा था। स्कूल में साथी बच्चे उसका मज़ाक उड़ाते। जब वो नौ साल का हुआ तो एक दिन कैथी ने उसकी पीठ पर एक कागज चिपका पाया। जिसपर लिखा था, 'मुझे लात मारो, मैं मंदबुद्धि हूं'। जूलियस को तो मंदबुद्धि का अर्थ तक नहीं पता था। जूलियस पढ़ाई में काफी तेज था। लेकिन उसकी लड़कियों को आकर्षित करने वाली तमाम कोशिशें बेकार साबित हो रही थी। लेकिन उसकी मां उसके साथ एक अजीज दोस्त की तरह खड़ी थी। आज जूलियस 26 साल का है और बहुत खुश है। अब तो उसकी एक गर्लफ्रेंड भी है।




0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top