edvertise

edvertise
barmer

अजीब था ये रिश्ता, फिर शादी के बाद पति-पत्नी और देवर ने उठाया ये स्टेप


धौलपुरआर्थिक तंगी से प्रेम प्रसंग में बदले संबंधों में धौलपुर के बाड़ी में पति-पत्नी और देवर ने जहर खा लिया। इससे पति-पत्नी की अस्पताल ले जाते समय रास्ते में ही मौत हो गई वहीं देवर की हालत नाजुक है। जानिए और इस बारे में ...


अजीब था ये रिश्ता, फिर शादी के बाद पति-पत्नी और देवर ने उठाया ये स्टेप



- बाड़ी में आनंद (40) अपनी पत्नी प्रीति (38) व दो बच्चों के साथ रहता था। इनके साथ आनंद का कजिन रूपेश (29) भी रहता था।

- अानंद बेरोजगार था। घर चलाना मुश्किल था तो रूपेश ने मदद के हाथ बढ़ाए और उनके परिवार का खर्च उठाना शुरू किया। यह सब पिछले कुछ सालों से चल रहा था।

- इसी दौरान रूपेश के प्रीति से संबंध बन गए। इसकी जानकारी आनंद सहित पूरे परिवार को थी। धीरे-धीरे इसे आनंद ने स्वीकार कर लिया। तीनों एक ही परिवार का अंग बन गए।

कहानी में आ गया नया मोड़

- परिजनों ने रूपेश की शादी तय कर दी और गत दो जुलाई को उसकी आगरा की रहने वाली पूजा से शादी हो गई। पूजा अपने ससुराल आ गई। कुछ ही दिनों में उसे रूपेश और प्रीति के संबंधों का पता चल गया।

- पूजा ने इसका विरोध किया। उसने कुछ दिन इंतजार किया, लेकिन रूपेश और प्रीति के संबंध वैसे ही बने रहे।

- पंचायत समिति में कैशियर रूपेश के पिता राजेश वर्मा ने भी इस संबंध का विरोध किया और रूपेश को प्रीति से संबंध खत्म करने के कहा।

- फिर दोनों पर कोई असर नहीं पड़ा तो पूजा अपने पीहर लौट गई। परिवार का दबाव व आर्थिक तंगी की आहट से आनंद व प्रीति परेशान हो गए।

- उन्हें लगा कि रूपेश उन्हें छोड़ कर चला जाएगा तो उनका खर्चा कौन उठाएगा। इस पर तीनों ने तय किया कि वे एक ही ही हैं और एक ही रहेंगे।

- तीनों ने बीती रात को पोटाश खा ली। सुबह रूपेश नहीं दिखा तो उसके पिता उसे देखने आनंद और प्रीति के कमरे में गए जहां तीनों बेहोश थे।

- इस पर परिजन तीनों को अस्पताल ले गए जहां रूपेश को भर्ती कर लिया गया और आनंद व प्रीति को आगरा रेफर कर दिया गया।

- रास्ते में ही दोनों की मौत हो गई। इस बीच स्पेश की भी हालत नहीं संभली तो उसे भी आगरा रेफर कर दिया गया।

- आनंद और प्रीति के एक लड़की और एक लड़का है। पिछले कुछ सालों से वह कमाता नहीं था। वह शारीरिक रूप से कमजोर था इसलिए ज्यादातर घर में ही रहता था।

- परिवार चलाना मुश्किल हो गया तो रूपेश ने उनके परिवार की जिम्मेदारी संभाल ली। इसी बीच देवर रूपेश के अपनी भाभी प्रीति से संबंध बन गए।

- आनंद व रूपेश का परिवार एक ही हवेली में रहता था। वहीं ये तीनों एक ही कमरे में रहते थे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top