edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर बाड़मेर में भारी बारिश की चेतावनी, प्रशासन ने जारी किया अलर्ट
गुजरात के ऊपर चल रहे चक्रवात से मारवाड़ में बादलों ने मजबूत घेरा बना लिया है। राजस्थान में इसका केन्द्र बाड़मेर को मानते हुए मौसम विभाग ने यहां आगामी तीन दिनों में भारी बारिश की चेतावनी दी है।

शनिवार को पश्चिमी राजस्थान में सर्वाधिक 65 मिमी बारिश बाड़मेर जिले के चौहटन कस्बे में ही दर्ज की गई। जिला कलक्टर ने पूरे जिले में अलर्ट जारी कर दिया है। इधर, शनिवार को बाड़मेर शहर में सुबह करीब साढ़े चार बजे तेज बारिश का दौर शुरू हुआ जो तीन घंटे तक जारी रहा।

बाद में सुबह 11 बजे तक थोड़े अंतराल में बारिश का क्रम जारी रहा। सुबह 63 मिमी बारिश में पूरा शहर जलमग्न हो गया। निचले इलाकों सहित अधिकांश जगह कमर तक पानी का भराव रहा। उल्लेखनीय है कि पूरे राज्य में औसत से अधिक बारिश में बाड़मेर इस सीजन में टॉप पर है।

धोरों में इस सीजन मानसून पूरी तरह मेहरबान है। शनिवार सुबह करीब तीन घंटे तक जमकर बदरा बरसे। हालांकि रुक-रुक कर बारिश का क्रम दस बजे तक चलता रहा। इससे शहर के कई इलाके जलमग्न हो गए।

निचले इलाकों मेें पानी भरा। कई घरों में पानी भरने से लोगों को परेशानी हुई। हालांकि प्रशासन शाम तक पानी को निकालने मेें लाचार नजर आया।

हर बार की तरह कलक्ट्रेट, सिणधरी चौराहा व कृषि उपज मंडी क्षेत्र में पानी का भराव रहा। इससे आवागमन बाधित रहा और कई बार जाम की स्थिति रही।

यहां रहा भराव

शहर के रामनगर, बलदेव नगर, जाटावास, गांधीनगर, लक्ष्मीनगर सहित कई इलाकों में पानी का भराव हो गया। बारिश थमने के बाद बस्तियों से पानी निकालने का प्रयास किया गया। इस दौरान बिजली गुल होने से शहरवासियों को परेशानी हुई।

सिणधरी चौराहे पर समस्या यथावत

पूर्व में हुई बारिश के दौरान नगर परिषद ने रात में टीम लगाकर सिणधरी चौराहे से बिजलीघर तक दबे हुए नाले को खुलवाया।

इसके बाद चौराहे के पास में जमा पानी नाले में चला गया। फिर नगरपरिषद् ने इसकी सुध नहीं ली। परिणाम स्वरूप शनिवार को भी सिणधरी चौराहे के आसपास के लोग परेशानी झेलते रहे।

किसानों को होगा फायदा

थार में इस बार जमकर मानसून आने से किसानों के चेहरे पर खुशी नजर आ रही। जानकारों के अनुसार इस बार अच्छे जमाने की आस लगाई जा रही है।

इस दौरान खेतों में लोगों ने निदान करना प्रारम्भ कर दिया है। इसके साथ ही फसलों को पशुओं से बचाने के लिए खेत के चारों और तारबंदी की गई है।

कहां कितनी बारिश (एमएम)

बाड़मेर 55

गुडामालानी 32

धोरीमन्ना 52

पचपदरा 5

बालोतरा 11

समदडी 8

सिवाना 11

सेड़वा 21

चौहटन 65

गिड़ा 8

बायतु 4

रामसर 25

सिणधरी 22

जिला कलक्टर ने की अपील

जिला कलक्टर शिव प्रसाद एम नकाते ने आमजन से जल भराव वाले स्थलों से दूर रहने की अपील। वहीं विद्यार्थियों से तालाब व पानी से भरे गढ्डों से दूर रहने की बात कही।

उन्होंने बारिश के दौरान सड़कें क्षतिग्रस्त होने अथवा पानी के बहाव की वजह से हादसा होने की आशंका होने पर तत्काल उपखंड अधिकारी, तहसीलदार, पुलिस अधिकारियों एवं अन्य प्रशसनिक अधिकारियों को इसकी सूचना देने के लिए कहा है।

संस्था प्रधानों को निर्देशित किया गया है कि क्षतिग्रस्त कमरों में विद्यार्थियों को अध्ययन नहीं करवाएं। उन्होनें कहा कि अगर बारिश के कारण छुट्टी करना आवश्यक हो तो अपने स्तर पर अवकाश भी घोषित कर सकते है।

किसी भी प्रकार की सूचना जिला नियंत्रण कक्ष दूरभाष 02982-222226 पर दी जा सकती है। चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को भी मौसमी बीमारियों की रोकथाम के लिए समुचित इंतजाम सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top