edvertise

edvertise
barmer



बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में आपदा एवं राहत कार्याें की समीक्षा

मुख्यमंत्री सहायता कोष से मृतकों को

एक लाख रुपये देने की घोषणा

फसल खराबे वाले क्षेत्रों में शीघ्र गिरदावरी के निर्देश






जयपुर, 31 जुलाई। मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने बाढ़ प्रभावित जालोर, सिरोही, पाली एवं बाड़मेर जिलों में आपदा प्रभावितों को मुख्यमंत्री राहत कोष से मिलने वाली सहायता राशि बढ़ाने की घोषणा की है। श्रीमती राजे ने इन क्षेत्रों में बाढ़ से मारे गये लोगों के परिजनों को 1-1 लाख रुपये, गंभीर घायलों को 25 हजार और सामान्य घायलों को 10 हजार रुपये प्रति व्यक्ति सहायता राशि देने के निर्देश दिए हैं।

श्रीमती राजे ने सोमवार को जालोर एवं सिरोही सहित बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से लौटकर मुख्यमंत्री निवास पर एक उच्च स्तरीय बैठक ली, जिसमें आपदा एवं राहत कार्याें की समीक्षा की। उन्होंने बाढ़ प्रभावित गांवों जहां 50 प्रतिशत से ज्यादा फसल खराबा हुआ है वहां गिरदावरी का कार्य शीघ्र कराने के निर्देश दिए। उन्होंने बाढ़ से क्षतिग्रस्त हुए मकानों का सर्वे कर जल्द ही राशि भुगतान करने तथा टूटी हुई रपटों, पुलिया एवं बांधों की शीघ्र मरम्मत करने को कहा। इसके अलावा प्रभावित क्षेत्रों में अतिरिक्त मेडिकल टीमें भेजने तथा संभावित बीमारियों की रोकथाम के लिए समुचित प्रबंध करने के निर्देश भी दिए।

मुख्यमंत्री ने रेलवे अधिकारियों से चर्चा कर आरयूबी में भरे पानी एवं मिट्टी की सफाई करने, जिन इलाकों में पानी भरा है वहां नावों का इंतजाम करने तथा पशुधन एवं जनधन की हानि के मामलों में तुरन्त आर्थिक मदद देने के निर्देश भी दिए।

बैठक में मुख्य सचिव श्री अशोक जैन, अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त डीबी गुप्ता, अतिरिक्त मुख्य सचिव राजस्व श्री खेमराज, प्रमुख शासन सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्रीमती वीनू गुप्ता, प्रमुख शासन सचिव पीडब्ल्यूडी श्री आलोक, प्रमुख शासन सचिव ऊर्जा श्री संजय मल्होत्रा, प्रमुख शासन सचिव सहकारिता श्री अभय कुमार, प्रमुख शासन सचिव पीएचईडी श्री रजत मिश्र, प्रमुख शासन सचिव जल संसाधन श्री शिखर अग्रवाल, शासन सचिव आपदा श्री हेमन्त गेरा, शासन सचिव पशुपालन श्री अजिताभ शर्मा एवं अन्य विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

---


0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top