edvertise

edvertise
barmer



नागौर/परबतसर.आनंदपाल के परिवार को झटका, जेल से बाहर नहीं आ पाएंगे विक्की व गट्टू
आनंदपाल फरारी प्रकरण में हाई अजमेर सिक्योरिटी जेल में बंद विक्की उर्फ रुपेन्द्रपाल व गट्टू उर्फ देवेन्द्र सिंह गत 24 जून को एनकाउंटर में मारे गए बदमाश आनंदपाल सिंह की अन्त्येष्टि में शामिल नहीं हो पाएंगे। परबतसर एसीजेएम कोर्ट में आनंदपाल के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए विक्की व गट्टू को नहीं मिली अंतरिम जमानत।

 
आनंदपाल फरारी मामले में जेल में बंद आरोपित विक्की उर्फ रुपेन्द्रपाल सिंह और गट्टू उर्फ देवेंद्र सिंह को आनंदपाल की अन्त्येष्टि में शामिल होने के लिए शनिवार को एसीजेएम कोर्ट परबतसर में पेश किया वारंट। एसीजेएम ज्योति सोनी ने जमानत अर्जी खारिज करते हुए आगामी पेशी 3 जुलाई को दी है। विक्की व गट्टू 3 सितम्बर 2015 को आनंदपाल को फरार करने के मामले में जेल में है।

 !

विक्की उर्फ रुपेन्द्रपाल व गट्टू उर्फ देवेंद्र सिंह के वकीलों ने अंतिम संस्कार में शामिल होने की अनुमति देने के लिए लगाई थी अर्जी। एसओजी के सहायक उप निरीक्षक पवन मीणा व थानाधिकारी सतेंद्र नेगी ने किया जमानत देने का विरोध।

बदमाश आनंदपाल का शव भले ही पुलिस ने परिजनों को सौंप दिया है लेकिन अन्येष्टि कल तक टल सकती है। पारिवारिक सूत्रों के अनुसार परिवार चाहता है कि आनंदपाल की बेटी चीनू भी इस मौके पर मौजूद रहे। ऐसे में दुबई में इंजीनियरिंग की पढाई कर रही चीनू के बाद सांवदरा आने के बाद ही रविवार को अंतिम संस्कार किए जाने की संभावना लग रही है।

गौरतलब है कि आनंदपाल गत 24 जून की रात को चुरू जिले के मालासर में एनकाउंटर में मारा गया था।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top