edvertise

edvertise
barmer

लूणी नदी उफान पर: समदड़ी-सिवाना रोड मार्ग बाधित, प्रशासन अलर्ट 
बाड़मेर: राजस्थान के जालोर और पाली में पिछले तीन दिन से लगातार जारी मुसलाधार बारिश के चलते पाली और जालोर के सभी नदिया व बांध ओवरफ्लो चल रहे है. बांडी नदी का पानी लूणी में आ रहा है. जिसके चलते 10 सालों के बाद तीसरी बार भी मरू गंगा कहलाने वाली लूणी नदी में आज सुबह 6:00 बजे समदड़ी की रपट को पार करते हुए आगे के लिए निकल गई.

नदी रपट के ऊपर करीब एक से डेढ़ फुट के लगभग पानी का चलना शुरू हो गया है. वही सिवाना – समदडी रूट मार्ग बाधित है. कई गाँवो को जोड़ने वाले सड़क मार्गो का संपर्क टूट गया है, इधर कोटडी सांवरड़ा करमावास के पास खारा के अंदर सुकड़ी नदी चल रही. पानी के कारण कई ग्रामीणों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.



नदी आने के बाद कुछ समय के लिए रपट पर से बड़े वाहनों का आवागमन चालू रहा लेकिन पानी के बहाव को बढ़ता देख प्रशासन ने दोनों तरफ बेरिकेटर लगाकर होमगार्ड एवं पुलिसकर्मियों को तैनात कर दोनों तरफ से रास्ते बंद कर दिए एवं लोगों को सेल्फी के चक्कर में नदी के नजदीक नहीं जाने की हिदायत दी, एवं जल भराव वाले इलाके पर प्रशासन निरंतर जगह जगह जाकर लोगों को सुरक्षित जगह पर पहुंचने की अपील कर रहे हैं. वही जालौर पाली सहित कई अन्य इलाकों में बारिश के कारण पानी का वेग और भी बढ़ सकता है.

बाड़मेर जिला प्रशासन द्वारा अवगत करवाया गया है कि पाली जालोर और सिरोही मे लगातार बारिश हो रही है, जिससे लूनी नदी, सुकड़ी, बांडी नदी मे पानी का वेग बढ रहा है. नेहड़ा, हेमावास, और बाकली बांध मे लगातार पानी की आवक बढ रही है. बारिश भी लगातार हो रही है.

प्रशासन ने ऐतिहात के तौर पर लूनी और सुकड़ी नदी किनारे निवास करने वाले लोगो को घरों से सुरक्षित जगह पर जाने की हिदायत दी है. विशेष रूप से रामपुरा, गोदोकाबाड़ा, मियोकाबाड़ा, पातोकाबाड़ा, अजीत, खरंटिया, मजल, कोटड़ी, भलरोकाबाड़ा, भानावास, चारणोकाबाड़ा, रानीदेशीपुरा, समदड़ी, करमावास, बामसीन, टीकमपुरा, मांगला, लालाणा, कुंपावास, जेठंतरी, सिलोर देवलियारी गाँव के नदी किनारे भराव वाले क्षेत्र के लोगों को सतर्क रहने को कहा गया है. नदी मे पानी की आवक और ज्यादा हो सकती है.

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top