edvertise

edvertise
barmer

भाभी ने प्रेमी संग मिल की देवर की हत्या, पुलिस को है अवैध संबंध का शक

भाभी ने प्रेमी संग मिल की देवर की हत्या, पुलिस को है अवैध संबंध का शक
नांगल राजावतान/जयपुर।राजस्थान के नांगल राजावतान थाना इलाके में हुई युवक की हत्या का पुलिस ने चार दिन में 0 कर दिया। युवक की हत्या उसकी भाभी ने प्रेमी व उसके मौसेरे भाई से कराई थी। इसके लिए उसने 50 हजार रुपए की सुपारी दी थी। ऐसे आए शक के घेरे में...




पुलिस ने मृतक की भाभी, प्रेमी व उसके मौसेरे भाई को गिरफ्तार कर लिया। झालरा का निवासी धर्म सिंह गुर्जर (21) का शव 4 जुलाई को पपलाज माता रोड पर जंगल में मिला था। इस पर मृतक के भाई मुकेश गुर्जर ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया था। मामले को गंभीरता से लेते हुए एसपी योगेश यादव ने एएसपी प्रकाश कुमार शर्मा व लालसोट डीएसपी मोहनलाल वर्मा के सुपरविजन में थानाधिकारी मुकेश कुमार चौधरी के नेतृत्व में विशेष टीम गठित की।

टीम ने जांच शुरू की। इस दौरान मृतक की भाभी का चरित्र संदेह के दायरे में आने एवं उसके रामखिलाड़ी गुर्जर निवासी गांगल्यावास से अवैध संबंध होने की जानकारी सामने आने पर टीम ने दोनों पर नजर रखी। टीम ने साइबर सैल दौसा की तकनीकी मदद से प्रकरण की तह तक जाकर रामखिलाड़ी गुर्जर को पकड़कर गहनता से पूछताछ की तो उसने धर्म सिंह की हत्या करने की बात कबूल कर ली।

ऐसे आए शक के घेरे में

धर्म सिंह दुकान से घर नहीं पहुंचने पर परिजन उसे ढूंढते रहे। इस दौरान उर्मिला परिजनों के साथ धर्म सिंह को ढूंढने का नाटक करती रही। उसने परिजनों से कहा कि देवता ने धर्म सिंह को पपलाज माता रोड की तरफ ढूंढने की बात कही है। वहां पर धर्म सिंह का शव मिलने के बाद उर्मिला पर भी शक हो गया।

ऐसे तैयार की षड्यंत्र और यूं दिया वारदात को अंजाम

पुलिस के अनुसार मृतक धर्म सिंह की भाभी उर्मिला पत्नी मुकेश गुर्जर से पिछले डेढ़-दो साल से रामखिलाड़ी गुर्जर निवासी गांगल्यावास से अवैध संबंध रहे हैं। मृतक शादी शुदा था। परिजन उसका गोना करने की तैयारी कर रहे थे। तभी उसकी भाभी उर्मिला ने मृतक के हिस्से की संपत्ति कब्जाने के लिए उसे रास्ते से हटाने के लिए प्रेमी रामखिलाड़ी को तैयार कर लिया। रामखिलाड़ी ने धर्म सिंह की हत्या करने के लिए अपने मौसेरे भाई गजेंद्र उर्फ शिवलाल पुत्र हरदेव गुर्जर निवासी बीगावास को 50 हजार रुपए का लालच दिया तथा धर्म सिंह की हत्या करने के लिए तैयार कर लिया। योजना के अनुसार 3 जुलाई को धर्म सिंह के जूते की दुकान से घर के लिए निकलने पर नागौरी पुलिया के पास रामखिलाड़ी व गजेंद्र ने उसे मोटर साइकिल पर बैठा लिया तथा बीगावास जाकर वापस आने की कहकर लाहड़ीवाला के जंगलों में ले गए। दोनों ने पहले धर्म सिंह का गला दबाया तथा बाद में पत्थरों से वार कर उसकी हत्या कर वापस दौसा आ गए। रामखिलाड़ी ने इस हत्या की सूचना प्रेमिका उर्मिला को दे दी। उर्मिला अपने पति व परिजनों के साथ धर्म सिंह को तलाशने का नाटक करती रही। घटना के अगले दिन रामखिलाड़ी ने गजेंद्र गुर्जर को 50 हजार रुपए दे दिए। पुलिस ने उर्मिला, उसके प्रेमी रामखिलाड़ी व प्रेमी के मौसेरे भाई गजेंद्र उर्फ शिवलाल गुर्जर को गिरफ्तार कर लिया। रामखिलाड़ी पूर्व में भी गांव गांगल्यावास में जमीनी विवाद में हत्या के आरोप में जेल जा चुका है। गजेंद्र सिंह दहेज हत्या के मामले में जेल जा चुका है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top