edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर विद्यार्थियांे के लिए वरदान साबित हुई जिला कलक्टर की रात्रि चौपाल
-जिला कलक्टर से बबुगुलेरिया मंे छात्राआंे ने अतिरिक्त कक्षा कक्ष निर्माण करवाने का अनुरोध किया था।
बाड़मेर, 20 जुलाई। जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते की बबुगुलेरिया एवं कौशलू मंे आयोजित रात्रि चौपाल स्थानीय विद्यार्थियांे के लिए वरदान साबित हुई। यहां विद्यालयांे मंे अतिरिक्त कक्षा कक्ष निर्माण के लिए स्व विवेक जिला विकास योजना से प्रशासनिक स्वीकृति जारी की गई है। रात्रि चौपाल के दौरान विद्यार्थियांे एवं ग्रामीणांे ने अतिरिक्त कक्षा कक्ष निर्माण करवाने की मांग की थी।

जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते ने बताया कि बबुगुलेरिया मंे आयोजित रात्रि चौपाल के दौरान राउमावि बबुगुलेरिया मंे कक्षा कक्ष की तादाद कम होने का जिक्र करते हुए छात्राआंे ने अतिरिक्त कक्षा कक्ष बनवाने का अनुरोध किया था। इसी तरह ग्राम पंचायत कौशलू मंे आयोजित रात्रि चौपाल के दौरान विद्यार्थियांे, ग्रामीणांे एवं प्रधानाचार्य ने छात्र संख्या की अपेक्षा कक्षा कक्ष कम होने के बारे मंे अवगत कराया। जिला कलक्टर ने बताया कि विद्यार्थियांे की वाजिब मांग एवं तत्काल राहत पहुंचाने के लिहाज से स्व विवेक जिला विकास योजना के तहत राउमावि बबुगुलेरिया एवं राउमावि कौशलू मंे अतिरिक्त कक्षा कक्ष निर्माण के लिए पांच-पांच लाख रूपए की प्रशासनिक स्वीकृति जारी की गई है। वहीं कौशलू ग्राम पंचायत केयर्न के सरस्वती प्रोजेक्ट क्षेत्र मंे स्थित है।ऐसे मंे केयर्न के सीएसआर मद से विद्यालय मंे दो अतिरिक्त कक्षा कक्ष निर्माण करवाने के लिए कहा गया है।

डाय-नप्रताड़ना निवारण अधिनियम

संबंधित कार्यशाला आज


बाडमेर, 20 जुलाई। राजस्थान डायन-प्रताड़ना निवारण अधिनियम 2015 एवं नियम 2016 के प्रावधानांे की पालना एवं पीडि़ता के पुर्नवास के संबंध मंे जिला स्तरीय एक दिवसीय आमुखीकरण कार्यशाला का आयोजन 21 जुलाई शुक्रवार को प्रातः 11 बजे कलेक्टेªट सभागार में किया जाएगा।

जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते ने बताया कि यह प्रशिक्षण नई दिल्ली की पीएलडी संस्था की ओर से दिया जाएगा। इस प्रशिक्षण में प्रशासन, पुलिस, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य,सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, जिला विधिक सेवा, राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम, विद्युत निगम, शिक्षा, कृषि, खाद्य एवं आपूर्ति, जलदाय सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारियांे को उपस्थित होने के निर्देश दिए गए है।

सात पारिवारिक न्यायालयों को दीवानी वाद सुनने का अधिकार
बाड़मेर, 20 जुलाई। राज्य सरकार ने एक अधिसूचना जारी कर बालोतरा समेत सात पारिवारिक न्यायालयों को दीवानी वादों को सुनने का अधिकार प्रदान किया है।

अधिसूचना के अनुसार पारिवारिक न्यायालय, बालोतरा को बाड़मेर, जिला न्यायाधीश से स्थानान्तरित किए जाने वाले दीवानी वादों, धौलपुर को धौलपुर, जैसलमेर को जैसलमेर, जालोर को जालोर, करौली को करौली, प्रतापगढ़ को प्रतापगढ़ तथा पारिवारिक न्यायालय सिरोही को जिला न्यायाधीश सिरोही से स्थानान्तरित किए जाने वाले दीवानी वादों को शीघ्र निपटाने के लिए दीवानी वाद सुनने का अधिकार प्रदान किया है। इसी तरह इन पारिवारिक न्यायालयों को स्थानान्तरित किए जाने वाले मोटर दुर्घटना दावों की सुनवाई के लिए मोटर दुर्घटना दावा अधिकरणों के रूप में गठित कर इन न्यायालयों के पीठासीन अधिकारी को उनके अधिकरण का पीठासीन अधिकारी भी नियुक्त किया है।

मार्च 2018 तक सेवानिवृत होने वाले कार्मिकांे को
बीमा पॉलिसी के दावा प्रपत्र प्रस्तुत करने के निर्देश
बाड़मेर, 20 जुलाई। राज्य बीमा एवं प्रावधायी निधि विभाग ने 31 मार्च 2018 तक सेवानिवृत होने वाले सभी राज्य कर्मचारी एवं अधिकारियों को बीमा पालिसी के परिपक्वता दावा प्रपत्र तैयार कर अपने आहरण एवं वितरण अधिकारी के माध्यम से संबंधित जिले के राज्य बीमा विभाग में तत्काल प्रस्तुत करने को कहा गया है।

राज्य बीमा एवं प्रावधायी निधि विभाग के निदेशक भंवरलाल मेहरा ने बताया कि राज्य कर्मचारी एवं अधिकारी प्रपत्र के साथ बीमा रिकॉर्ड बुक, मूल पालिसी बॉण्ड, पदस्थापन विवरण पत्र एवं जी.ए. 81 भी संलग्न करें। ताकि उनकी राज्य बीमा पॉलिसी का जल्द से जल्द भुगतान किया जा सके। मेहरा ने बताया कि 1 अप्रेल 2017 को या इससे पूर्व परिपक्व राज्य बीमा पॉलिसियों के अधिकांश प्रकरण जिला कार्यालयों में परिपक्वता दावा प्रपत्र प्राप्त नहीं होने के कारण बकाया चल रहे हैं।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top