edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर किसानो तक खेती की नई तकनीक पंहुचाना ही कृषि विज्ञान केन्द्र का मुख्य उदेश्य है-पगारिया
राष्ट्रीय युवा कोर स्वंय सेवको ने किया कृषि विज्ञान केन्द्र का भ्रमण
बाड़मेर 12 जुलाई ।कृषि विज्ञान केन्द्र का उदेश्य कृषको,बेरोजगार युवको को समसामयिक विषयो पर कौशल आधारित रोजगारपूरक संस्थागत एवं असंस्थागत प्रशिक्षण प्रदान कराना है। यह बात नेहरू युवा केन्द्र के राष्ट्रीय युवा स्वंय सेवको के कृषि विज्ञान केन्द्र भ्रमण पर स्वंय सेवको से चर्चा करत हुए कृषि विज्ञान केन्द्र के प्रमुख वैज्ञानिक प्रदीप पगारिया ने कही।

पगारिया ने स्वंयसेवको से कहा कि कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा संस्थागत प्रशिक्षण के अन्तर्गत कृषि और उससे संबंधित विषयो पर प्रशिक्षण उपलब्ध करवाया जाता है ताकि वे स्वंय काम करके सीख सके। असंस्थाग प्रशिक्षण के तहत केन्द्र द्वारा गांवो में जाकर गांव की आपवश्यकता के अनुसार कृषको को उन्नत तकनीक का प्रशिक्षण दिया जाता है।

प्रथम पक्ति पदर्शन पर विस्तार से चर्चा करते हुए उन्होने कहा कि प्रयोगशाला से कृषि भूमि तक का रास्ता इस प्रणाली से तय किया जाता है। उन्होने स्वंयसेवको से आह्वान किया िकवे अपने अपने क्षेत्र में जाकर लोगो को कृषि विज्ञान केन्द्र के कार्यो के बारे में अवगत कराये ताकि वे इसका अधिक से अधिक फायदा उठा सके।

इस अवसर पर स्वंय सेवको को मृदा स्वास्य योजना, बाजरा की नई तकनीक,अनार की खेती,खाद डालने का तरीका,खर पतवार नष्ट करने के तरीके, पौघो में दवाई छिड़कने के तरीके आदि के बारे में विस्तार से युवाओ को जानकारी दी । इस अवसर पर स्वंय सेवको ने कृषि ,पशुपालन,व बागवानी के बारे में कई प्रश्न पूछ कर जानकारी हासिल की। पर्वत जवड़ा, भोमराज सैन, जितेन्द्र, रविन्द्र सिंह चारण, माधव सारण,महावीर, अनिरूद्व, सुमन चोधरी, मनोज, जीतारा, पीराराम, डुगर राम,दिलीप कमलेश, आदि ने विषय से संबंधित जानकारी प्राप्त कर अपनी शंकाओ का समाधान किया।

भ्रमण के दौरान स्वंय सेवको को कृषि विज्ञान केन्द्र के प्रशिक्षण समन्वयक सुनिल राखेचा ने अनार की खेती के बारे में जानकारी प्रदान की तथा स्वंय सेवको को वर्मी कम्पोस्ट खाद को तैयार कराने की विधि से भी अवगत कराया गया। नेहरू युवा केन्द्र के राजेन्द्र पुरोहित ने नेहरू युवा केन्द्र संगठन की ओर से कृषि विज्ञान केन्द्र का आभार ज्ञापन किया।

शैक्षिक सत्र में नेहरू युवा केन्द्र के जिला युवा समन्वयक ओमप्रकाश जोशी ने स्वंय सेवको को ग्रामीण समुदुाय की आवश्यकताओ और उनकी समस्याओ पर विस्तार से चर्चा के साथ नेतृत्व के गुणो पर प्रकाश डाला । प्रारंभ में युवाओ ने योगाभ्यास व चेतना गीतो का अभ्यास किया तथा सांयकालीन सत्र में आपस में बालीबाल मैत्री मैच का आयोेजन किया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top