edvertise

edvertise
barmer



95 वाॅं अन्तर्राष्ट्रीय सहकारिता दिवस का राज्य स्तरीय समारोह

सरकार किसानों के आर्थिक सम्बलन के लिए कृतसंकल्पित - सहकारिता मंत्राी

किसान ऋण एवं बीमा योजनाओं का लाभ उठायें - प्रो. जाट


अजमेर, एक जुलाई। प्रदेश के सहकारिता एवं गोपालन मंत्राी श्री अजयसिंह किलक ने कहा है कि सरकार ने किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए उनके आर्थिक सम्बलन के लिए अनेक योजनायें बनायी हैं, जिनका वे लाभ उठायें तथा ऋण को समय पर प्राप्त करने के साथ ही उसकी अदायगी का भी पूरा ध्यान दें।

सहकारिता मंत्राी शनिवार को अजमेर के माध्यमिक शिक्षा बोर्ड सभागार में 95 वें अन्तर्राष्ट्रीय सहकारिता दिवस व 23 वे यू एन डे आॅफ को-आॅपरेटिव्ज के अवसर पर नए सदस्य काश्तकारों को ब्याज मुक्त फसली सहकारी ऋण वितरण के राज्य स्तरीय समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। समारोह की अध्यक्षता सांसद एवं राजस्थान किसान आयोग के अध्यक्ष प्रो. सांवर लाल जाट थे। समारोह के विशिष्ट अतिथि प्रदेश के शिक्षा राज्य मंत्राी श्री वासुदेव देवनानी, महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्राी श्रीमती अनिता भदेल, संसदीय सचिव श्री सुरेश सिंह रावत, किशनगढ के विधायक श्री भागीरथ चैधरी, जिला प्रमुख वन्दना नोगिया, बी.पी. सारस्वत एवं अरविन्द यादव थे।

श्री किलक ने सभी को सहकारिता दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि सरकार का सपना है कि किसान सदैव खुश रहें, वे आर्थिक रूप से सम्पन्न हो, इसके लिए अनेक योजनाएं चलाई हैं। उन्होंने बताया कि सहकारिता के कार्यो में भ्रष्टाचार नहीं हो तथा कार्य पारदर्शिता के साथ हों, इसके लिए समस्त शाखाओं को आॅन लाईन कर दिया गया है। इसके अतिरिक्त किसानों को इस वर्ष 15 हजार करोड़ रूपयें के ब्याज मुक्त ऋण उपलब्ध करायें जायेंगे, जो बिना रहन के विश्वास पर दियें जायेंगे। उन्होंने बताया कि गत वर्ष प्रदेश में 13 हजार करोड़ रूपये के ऋण दिये गये थे तथा प्रदेश देश में दूसरे नम्बर पर रहा था।

उन्होंने बताया कि किसानों को अधिक से अधिक सुविधायें प्रदान करने के लिए जरूरी है कि बैंक मजबूत स्थिति में होना जरूरी हैं। बैंकों को नाबार्ड से 55 प्रतिशत सहयोग मिलता है, शेष 45 प्रतिशत बैंक की राशि होती है। ऐसे में बैंक की स्थिति मजबूत करने के लिए किसान समय पर ऋण लें तथा समय पर वापस चुकायें। उन्होंने सहकारी समितियों के प्रबंधकों से भी कहा कि वे किसानों को व्यवस्थित रूप से ऋण का वितरण करें ताकि कोई कठिनाई नहीं आयें। उन्होंने बताया कि इस वर्ष तीन लाख नये किसान सदस्यों को प्राथमिकता से ऋण वितरित किया जायेंगा तथा ऋण के साथ ही उन्हें राज सहकार व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा से भी जोड़ा जायेगा। उन्होंने बताया कि ऋण अदायगी के बाद अब दुर्घटना होने पर किसान को 10 लाख रूपये तक का मुआवजा दिये जाने का प्रयास किया जायेगा । साथ ही किसान के साथ उसकी पत्नी का बीमा भी कराया जायेगा। उन्होंने सभी से आग्रह किया कि दुर्घटना होते ही उसकी पुलिस में एफ आई आर जरूर करायी जायें।

सहकारिता मंत्राी ने कहा कि किसानों को सस्ती दरों पर ऋण उपलब्ध कराने के लिए प्रयास किए गए है। भूमि विकास बैंक द्वारा किसानों को कृषि कार्य के लिए 7 प्रतिशत पर ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। जो वर्ष 2013 से पहले 12 प्रतिशत ब्याज पर मिलता था। इसी प्रकार सैन्ट्रल काॅपरेटिव बैंक द्वारा 9.5 प्रतिशत की दर पर ऋण उपलब्ध कराए जा रहे है। किसानों को फसलों की सही कीमत मिले इसके लिए प्लेज लोन के तहत भी कार्य किया जाएगा। अजमेर जिले में हिंगोनिया एवं पीसांगन में 2 सहकारी समितियों द्वारा वर्तमान में यह कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कर्मचारियों से भी कहा कि वह किसानों के मामलों को संवेदनशील होकर निपटाए किसी किसान को कोई कठिनाई ना हो।

उन्होंने कहा कि डेयरी द्वारा लोगों को अधिकाधिक रोजगार उपलब्ध कराने के लिए 5 हजार नए बूथ लगाए जाएंगे। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि अरबन काॅपरेटिव सोसायटी द्वारा जिनकी पुरानी राशि जमा थी उन्हें एक-एक लाख रूपए के चैक वितरित किए जा रहे है।

समारोह में अध्यक्षता कर रहे सांसद एवं किसान आयोग के अध्यक्ष प्रो. सांवर लाल जाट ने कहा कि किसानों की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ हो इसके लिए विभाग ने अनेक ऋण एवं बीमा योजनाएं चलायी है। जिनका किसान लाभ उठाएं। सहकारिता के माध्यम से किसानों को समय पर खाद, बीज उपलब्ध कराया जा रहा है। नए सदस्यों को ऋण उपलब्ध कराने तथा एटीएम की सुविधाएं बढ़ाने का भी प्रयास किया गया है। उन्होंने सोसायटी के अध्यक्षों पर प्रभावी अंकुश लगाने तथा ऋण सीमा बढ़वाने की भी जरूरत बतायी। उन्होंने कहा कि सरकार नदियों को आपस में जोड़ने के लिए संकल्पित है। जिस पर तेजी से कार्य किया जा रहा है। उन्होंने फसल बीमा कराने तथा उसका पूरा लाभ उठाने का भी सभी से आग्रह किया है। साथ ही बालिकाओं को पढ़ाने तथा उन्हें आगे बढ़ाने के लिए भी सभी किसानों का आह्वान किया।

समारोह में शिक्षा राज्यमंत्राी श्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि सभी किसान ऋण लेने के साथ ही उसे चुकाने का भी पूरा ध्यान रखें। सरकार किसान को समृद्ध देखना चाहती है। किसान समृद्ध होगा तो देश समृद्ध होगा। उन्होंने कहा कि सभी किसान अपने बच्चों को शिक्षित करें। सरकार ने गांव-गांव में विद्यालय खोले है जिनका वह लाभ उठावें। बालिकाओं के लिए राजश्री योजना भी चलायी है। जिसमें बालिका को 50 हजार रूपए तक की सहायता मिलती है। उन्होंने बताया कि विद्यालयों में अब शिक्षकों की कोई कमी नहीं होगी। सभी जगह डीपीसी द्वारा पद भर दिए जाएंगे।

समारोह में महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्राी श्रीमती अनिता भदेल ने कहा कि सरकार द्वारा 30 लाख किसानों को लगभग 15 हजार करोड़ रूपए के बिना ब्याज ऋण उपलब्ध कराना सरकार का एक महत्वपूर्ण कार्य है। इसके साथ ही किसानों की अनेक हितकारी योजनाए भी सरकार ने चलायी है। ताकि किसान की आमदानी भी बढ़े। उन्होंने बताया कि किसानों को पेयजल एवं सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान चलाया गया। जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में किसानों को काफी राहत मिली है। उन्होंने किसानों से आग्रह किसा कि वे कृषि के क्षेत्रा में हो रहे नवाचारों को अपनाए तथा सहकारिता के माध्यम से आर्थिक स्थिति सुदृढ़ करें।

समारोह में संसदीय सचिव सुरेश सिंह रावत ने बताया कि सरकार ने किसानों के लिए जो योजनाए चलायी है, उनका वे लाभ उठावें। सरकार भी ग्रामीण क्षेत्रों के विकास पर पूर्ण ध्यान दे रही है। हाल ही 118 गांव जो एडीए में आ रहे थे। उनका आबादी विस्तार हुआ है। साथ ही गांव-गांव में गौरव पथ बने है। इस मौके पर किशनगढ़ विधायक श्री भागीरथ चैधरी ने किसानों को श्रमिक कार्ड बनवाने पर जोर दिया तथा कहा कि अरांई में सहकारिता के भण्डारण भवन के लिए वे विधायक मद से 10 लाख रूपए की अनुशंसा करेंगे। उन्होंने किसानों को दिए जाने वाले ऋण राशि को बढ़ाने की भी जरूरत बतायी।

प्रारम्भ में अजमेर सैन्ट्रल काॅपरेटिव बैंक लिमिटेड के अध्यक्ष श्री मदन गोपाल चैधरी ने सभी का स्वागत किया तथा बताया कि गत् 8 वर्षों से बैंक लाभ की स्थिति में है। उन्होंने उपलब्ध कराए जा रहे फसली ऋण, किसान कल्याण योजना, प्रधानमंत्राी डिजीटल योजना तथा बैंक द्वारा किए जा रहे कार्यों की विस्तार से जानकारी दी। प्रारम्भ में बैंक के रजिस्ट्रार श्री राम निवास ने सहकारिता दिवस पर मुख्यमंत्राी द्वारा दिए गए संदेश का पठन किया।

समारोह में दो किसानों को सहकार दुर्घटना बीमा योजना के तहत 10 लाख रूपए 3 किसानों को किसान कल्याण योजना के तहत 16.50 लाख रूपए, 2 किसानों को सहकार सुगम कार्ड के तहत 50 हजार रूपए के चैक भी वितरित किए गए। समारोह में विभिन्न समितियों ने अपने लाभांश की राशि के चैक राज्य सरकार को देने के लिए भी भेंट किए।

सहकारिता मंत्राी ने समारोह के पश्चात पंचायत समिति श्रीनगर के गांव नरवर में नव गठित ग्राम सेवा सहकारी समिति का शुभारम्भ एवं नवनिर्मित गोदाम का लोकार्पण किया। यहां नए सदस्यों को फसली ऋण वितरण भी किया। इसके पश्चात श्री किलक ने पंचायत समिति सिलोरा के डींडवाड़ा में नवनिर्मित गोदाम का लोकार्पण एवं नए सदस्यों को फसली ऋण वितरण कार्यक्रम में भाग लिया।

समारोह में राजफैड की प्रबंध निदेशक वीना प्रधान, शीर्ष बैंक के प्रबंध निदेशक विद्याधर गोदारा, सैन्ट्रल काॅपरेटिव बैंक के प्रबंध निदेशक श्री ब्रिजेन्द्र शर्मा सहित समस्त ग्राम सेवा सहकारी समिति के अध्यक्ष एवं सहकारिता विभाग से जुड़े अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

फोटोग्राफर माथुर सम्मानित

सहकारिता विभाग के जन सम्पर्क प्रकोष्ठ में कार्यरत फोटोग्राफर श्री अशोक माथुर की उल्लेखनीय सेवाओं के लिए सहकारिता मंत्राी श्री अजय सिंह किलक ने सम्मानित किया। श्री माथुर आगामी माह में सेवा निवृत होने वाले है। उन्हें 37 वर्षीय सेवाओं के लिए सहकारिता दिवस पर सम्मानित किया गया।



पेयजल के क्षेत्रा में अजमेर बढ़ेगा आगे- श्री देवनानी

3 करोड़ की लागत से डाली जाएगी 13.5 किमी लम्बी पानी की लाइन

माकड़वाली में शीघ्र शुरू होगा पेयजल परियोजना का काम


अजमेर 01 जुलाई। शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्राी श्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि पेयजल के क्षेत्रा में अजमेर और तरक्की करने जा रहा है। राज्य सरकार के विशेष चयन के तहत शहर को स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने के लिए पेयजल परियोजना सशक्तिकरण पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। शहर के साथ ही आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में भी पानी की योजनाओं को प्राथमिकता के आधार पर लागू किया जा रहा है। हाथीखेड़ा, खरेकड़ी, अजयसर और लोहागल के बाद अब माकड़वाली गांव के लिए 2.50 करोड़ की परियोजना स्वीकृत की गई है। इसका काम भी शीघ्र शुरू हो जाएगा।

शिक्षा राज्यमंत्राी श्री देवनानी ने आज रामनगर चैराहा मालियान हथायी के पास अजमेर उत्तर विधानसभा क्षेत्रा में 3 करोड़ की लागत से 13.5 किमी लम्बाई में डाली जाने वाली पाइप लाइन के कार्य का शुभारम्भ किया। उन्होंने कहा कि अजमेर को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए आवश्यक बिन्दुओं में पेयजल सशक्तिकरण भी शामिल है। राज्य सरकार इस दिशा में विशेष ध्यान दे रही है। पिछले तीन सालों में करोड़ों रूपए की नई पाइप लाइने डाली गई है। इससे विभिन्न क्षेत्रों की पेयजल सप्लाई में गुणात्मक सुधार हुआ है।

उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्रा के साथ ही राज्य सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में भी पेयजल परियोजनाओं को मजबूत कर रही है। हाथीखेड़ा, खरेकड़ी एवं अजयसर ऐसे गांव है जहां आजादी के बाद पहली बार बीसलपुर परियोजना से पेयजल सप्लाई की जा रही है। इन गांवों में 8.9 करोड़ की लागत से पेयजल परियोजना शुरू की गई है। इसी तरह लोहागल में भी 3.50 करोड़ रूपए मंजूर किए गए।

श्री देवनानी ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रांे में पेयजल परियोजनाओं को मंजूरी की कड़ी में नया नाम है माकड़वाली गांव का। आजादी के बाद से यहां लोगों को पानी के लिए सार्वजनिक पेयजल स्त्रोतों पर निर्भर रहना पड़ रहा था। ग्रामीणों की मांग को गंभीरता से लेते हुए राज्य सरकार ने माकड़वाली पेयजल परियोजना के लिए 2.50 करोड़ रूपए की मंजूरी दी है। पेयजल परियोजना का काम शीघ्र शुरू करवाकर कनेक्शन दिए जाएंगे।

इस अवसर पर महापौर श्री धर्मेन्द्र गहलोत, पार्षद श्री ज्ञान सारस्वत, श्री अनिश मोयल एवं श्री सीताराम शर्मा सहित स्थानीय निवासी, जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी उपस्थित थे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top