4 साल बाद भरष्टाचार की खान बीएल सोनी को फिर बाड़मेर नप में आयुक्त
आयुक्त श्रवण विश्नोई का सीकर ट्रांसफर 


बाड़मेर। वर्ष2012-13 में नगर परिषद बाड़मेर में आयुक्त रहे बीएल सोनी को एक बार फिर बाड़मेर तबादला किया है। सीकर से सोनी को एपीओ कर दिया था। एपीओ होने के सात दिन बार अब वापस ट्रांसफर कर सोनी को बाड़मेर लगाया गया है। वहीं बाड़मेर आयुक्त श्रवण विश्नोई का सीकर ट्रांसफर कर दिया गया है। पिछले पांच साल में सोनी काफी विवादित रहे हैं। सोनी के खिलाफ प्रदेश में अलग-अलग जगह एसीबी में 5 मुकदमे दर्ज है। बाड़मेर में भी प्रशासन शहरों के संग अभियान में सबसे ज्यादा पट्टे वितरण कर रिकार्ड के बाद अनियमितता के आरोप लगे थे। ऐसे में एक बार फिर बाड़मेर में सोनी का ट्रांसफर किया गया है। गुरुवार को स्वायत्त शासन विभाग जयपुर के निदेशक एवं संयुक्त सचिव ने नगर निकायों के 12 प्रशासनिक अधिकारियों के तबादले किए है। आयुक्त श्रवण विश्नोई का सीकर तबादला कर उनकी जगह सीकर एपीओ चल रहे भंवरलाल सोनी को लगाया गया है। भंवरलाल सोनी पूर्व में भी वर्ष 2011-12 में बालोतरा, 2012-13 में बाड़मेर आयुक्त के पद पर रह चुके हैं।

सोनी का परफॉर्मेंस
4 साल में 5 मुकदमे, 1 बार सस्पेंड, 2 बार एपीओ
आयुक्त बीएल सोनी शुरूआत से विवादों में रहे हैं। 2013 में बाड़मेर से धौलपुर ट्रांसफर हो गया था। इसके बाद अगस्त 2014 में धौलपुर नगर परिषद में अनियमितता के मामले में एपीओ कर दिए गए थे। इसके बाद मई 2015 में सीकर आयुक्त लगाया गया। एसीबी में उनके खिलाफ चल रहे पुराने मामलों में अभियोजन स्वीकृति मिलने पर सरकार ने 12 जुलाई 2016 निलंबित कर दिया। नवंबर 2016 में फिर से उन्हें बहाल कर सीकर आयुक्त लगाया गया था। 12 जुलाई 2017 को सोनी को सीकर से एपीओ कर दिया था। अब सात दिन बाद फिर बहाल करते हुए उन्हें चार साल बाद फिर बाड़मेर लगाया गया है। सोनी के खिलाफ एसीबी में 5 मुकदमे दर्ज हैं। हनुमानगढ़ पालिका में एक, सूरतगढ़ पालिका के तीन मामलों में पद का दुरुपयोग करना और सुजानगढ़ में रिश्वत मांगने के मामले दर्ज है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top