edvertise

edvertise
barmer

अतिरिक्त जिला कलक्टर स्वामी ने जिले में पेयजल एवं
विद्युत व्यवस्था को बेहतरीन ढंग से नियमित और सुचारु बनाए रखने के दिए निर्देष


जैसलमेर, 10 जुलाई। अतिरिक्त जिला कलक्टर के.एल.स्वामी ने जिले के नगरीय एवं ग्रामीणॉंचलों में हुई प्रभावित पेयजल एवं विद्युत व्यवस्था को बेहतर ढंग से नियमित और सुव्यवस्थित सुचारु बनाए रखने के लिए जलप्रदाय व वि़द्युत विभाग के अभियंताओं को सख्त निर्देष दिए। उन्होंने कहा कि जिले में जहां कहीं भी जी.एल.आर तथा हैण्डपंप खराब होने की स्थिति में वहां पर उसे तत्काल ठीक करवाने के साथ ही जलापूर्ति की सुचारु व्यवस्था करना सुनिष्चित करावें। उन्होनंे बिजली विभाग के अधिकारी को बरसात के मौसम में पर्याप्त विद्युत आपूर्ति नियमित रुप से करवाने के निर्देष प्रदान किए। उन्होंने बैठक में फरियादी की मंागनुरुप जेठवाई में गुल्लू खां की ढांणी में अतिषीघ्र विद्युत कनेक्षन करवाने बाबत विद्युत विभाग के अभियंता को निर्देष दिए। इसी प्रकार नगरपालिका क्षेत्र में बाईपास स्थित सांवल कॉलौनी वांषिदों की ओर प्रस्तुत किए गए प्रार्थना-पत्र के आधार पर उन्होंने विद्युत विभाग /नगरपरिषद को शीघ्र ट्रांसफोर्मर स्थापित करवाए जाकर लोगों को विद्युत कनेक्षन दिलाने के निर्देष दिए।
अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री स्वामी सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में पेयजल,विद्युत एवं मौसमी बीमारियों की रोकथाम के संबंध में आयोजित साप्ताहिक समीक्षा बैठक के अवसर पर उपस्थित विभिन्न विभागों के अधिकारियों को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एन.आर.नायक के साथ ही जलप्रदाय , विद्युत विभाग के साथ ही लोक निर्माण विभाग के अभियंतागण उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि लोगों को उनकी मूलभूत सुविधाओं जैसे पानी/ बिजली चिकित्सा सुविधा को प्रदान करवाने के प्रति संबंधित अधिकारीगण द्वारा बरती गई कोताही और षिथिलता को कतई बर्दाष्त नहीं किया जाएगा।
बैठक के दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर ने जिले में मौसमी बीमारियों के संबंध में विस्तारपूर्वक समीक्षा की एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं को सुदृढ बनाने पर विषेष जोर दिया। उन्होंने जिले में राजश्री योजना और भामाषाह स्वास्थ बीमा योजना और रोगियों को वितरित की जा रही विविध प्रकार की दवाईयो की उपलब्धतां के साथ ही वाटर सैम्पलिंग तथा टांकों में टेमो बारे में बिन्दुवार समीक्षा की। उन्होने बकाया डिलीवरी कैसेज के भुगतान को सर्वोच्च प्राथमिकता से समयपूर्वक करने के निर्देष दिए। उन्होंने वर्तमान में जिले के प्रमुख पर्यटन स्थल खुहड़ी में एक भी डॉक्टर नहीं है इसे अत्यंत गंभीरता से लेते हुए वहां पर तत्काल चिकित्सक लगाने क सीएमएचओ को सख्त निर्देष दिए। इसके साथ ही आयुर्वेद विभाग के चिकित्सा अधिकारी को औषधालयों में पर्याप्त मात्रा में आयुर्वेदिक दवाईयॉं रखने को कहा।
अतिरिक्त जिला कलक्टर ने दांतल में आर.ओ. प्लान्ट स्थापित करने के लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों को शीघ्र कार्यवाही करने को कहा। उन्होनंे जलप्रदाय विभाग को संपूर्ण जिले में औसतन कुल कितने गैलन पेयजल की जलापूर्ति नियमित रुप से हो रही है इस संबंध में एक रजिस्टर संधारण किए जाने की आवष्यकता प्रतिपादित की। उन्होने बैठक में विद्युत विभाग के अभियंता को भिखेरी और अन्यंत्र गांवों तथा अन्य क्षेत्रों में खराब पड़े ट्रांसफोर्मर को तत्काल बदल कर उसके स्थान पर नए उच्च क्षमता के नए ट्रांसफोर्मर लगाने के निर्देष प्रदान किए ताकि बाधित विद्युत आपूर्ति सुचारु हो सकें।
उन्होंने कहा कि मरुस्थलीय जैसलमेर जिला पषु बाहुल्य है इसलिए पषुपालन की दृष्टि से पषुपालन विभाग की जिम्मेदारी ओर बढ जाती है। अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री स्वामी ने पषुपालन विभाग के अधिकारी को वर्तमान में गांव-गांव तथा ढांणी-ढांणी जाकर पषुओं में फैली बीमारी/टीकाकरण इत्यादि की सघन भ्रमण कर जांच कार्य करें तथा उनका आवष्यक उपचार कर ग्रामीणजनों को राहत पहुंचाए।
बैठक के दौरान श्री स्वामी ने लोक निर्माण विभाग के अभियंता से गौरवपथ निर्माण के बारे में विस्तार से समीक्षा करते हुए उन्हें बड़ाबाग, अमरसागर और पोकरण इत्यादि यह कार्य निर्धारित समय सीमा में पूर्ण कर लेने के साथ ही उसकी समुचित साफ-सफाई एवं सीमेंटेड कार्य पर बेहतरीन ढंग से पानी से तराई कार्य कराने के निर्देष दिए।
अतिरिक्त जिला कलक्टर ने बैठक में मौजूद संबंधित अधिकारियों को न्याय आपके द्वार राजस्व अभियान के तहत हुए कार्यो को अत्यंत गंभीरता से लिया एवं कार्यो की प्रगति केे संबंध में तत्काल ऑनलाईन फीडिग कार्य को सरकार की मंषा के अनुरुप करवाने पर विषेष जोर दिया। इसके साथ ही उन्होने संबंधित विभाग के अधिकारियों को जिन्होंने अभी तक सहायता विभाग को चाही गई आर.आई रिपोर्ट तैयार कर नहीं भिजवाई वे तुरंत वांछित सूचना निर्धारित फोरमेट में तैयार कर शीघ्र भिजवाना सुनिष्चित करावें। उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार के द्वारा चाही सूचनाएॅं समयपूर्वक जिला कार्यालय में प्रेषित नहीं करने वाले अधिकारियों के विरुद्ध नियमानुसार कठौर कार्यवाही अमल में लायी जाएगी।

-----000-----
आदर्ष पीएसी फतेहगढ व चांधन का शुभारम्भ समारोह मंगलवार को जैसलमेर, 10 जुलाई। आदर्ष प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र फतेहगढ का शुभारम्भ समारोह 11 जुलाई मंगलवार को दोपहर 1 बजे तथा आदर्ष प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चांधन का विविवत शुभारम्भ समारोह सांय 4 बजे किया जाएगा। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य केन्द्र डॉ. एन.आर.नायक ने दी।
-----000----
भारत-पाक सीमा से लगती हुई पांच कि0मी0 में रहने वाले
निवासियों की सुविधा के लिए
रात्रि में प्रवेश तथा विचरण पर प्रतिबंध
जैसलमेर, 10 जुलाई। जिले से लगने वाली भारत-पाक सीमा पर तस्करी ,घुसपैठियों तथा असामाजिक तत्वों के अवैध प्रवेश एवं अन्य अवांछनीय गतिविधियों की आशंका को दृष्टिगत रखते हुए एवं जिले में रहने वाले निवासियों के जन-जीवन एवं लोकशांति के विक्षब्ुद्ध होने की अंदेशा को देखते हुए जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्टेªेट कैलाष चन्द मीना ने दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अन्तर्गत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए जिले में भारत-पाक सीमा के पास लगती हुई पांच किलोमीटर में रहने वाले निवासियों एवं उस क्षेत्र में विगत 07 जुलाई 2017 से आगामी 06 सितम्बर, 2017 तक की अवधि के लिए प्रवेश एवं विचरण के लिये सायं 6ः00 बजेः से प्रातः 7ः00 बजेः तक सक्षम अधिकारी की अनुमति के बिना प्रतिबंध रहेगा।
जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्टेªट मीना द्वारा जारी किये गये आदेश के अनुसार जैसलमेर एवं पोकरण तहसील के ग्राम किशनगढ़ ,तनोट ,साधेवाला ,घोटारू ,लौंगेवाला ,गणेशिया ,लंगतला ,रतड़ाऊ ,लीलोई ,कारटा ,खारीया , शेखर ,कोठ ,जामराऊ ,खुईयाला उर्फ खुडजनवाली ,जाजीया ,खारा ,मंूंगर ,सोम ,रोहिड़ेावाला ,लौहार ,आसूदा ,धौरोई ,बिछड़ा ,मीठड़ाऊ ,किरड़वाली ,जीयाऊ ,केरला ,बगनाऊ , बसना , बिरयारी ,मीठीखुई ,भुग ,मूरार ,धनाना ,लूणार, पोछीना ,करड़ा ,गोधूवाला ,अकनवाली ,दातावानी ,झालरिया ,नीचूवाली ,बुईली (सरकारी) ,बाहला ,भारेवाला ,दादुड़ावाला ,मोहरोवाला ,मालासर ,म्याजलार ,रायचन्दवाला तथा कुरीया बैरी सम्मिलित है। जहां सायं 6ः00 बजेः से प्रातः 7ः00 बजेः तक 07 जुलाई 2017 से आगामी 06 सितम्बर, 2017 तक की अवधि में बिना वैद्य अनुमति-पत्र (जो परमावश्यक कार्य हेतु समीप स्थित सीमा सुरक्षा बल चौकी से प्राप्त किया जा सकता है) के इस क्षेत्रा में जाने के लिए तथा अन्य गतिविधियों के लिये पूर्ण रूप से प्रतिबंधित रहेगा।
आदेश के अनुसार जिले में भारत-पाक सीमा के पास लगती हुई 5 कि0मी0 क्षेत्र की सीमा में रहने वाले निवासियों एवं उस क्षेत्र में प्रवेश तथा विचरण करने वाले समस्त व्यक्तियों को सख्त चेतावनी एवं आदेशित किया जाता है कि वे इस प्रतिबंधित क्षेत्र में सायं 6ः00 बजेः से प्रातः 7ः00 बजेः तक सक्षम अधिकारी की अनुमति के बिना गमनागमन एवं विचरण नहीं कर सकेगें। इस आदेश के प्रभावशील होने पर उक्त क्षेत्र मंें कोई भी सक्षम अधिकारी इस आदेश की पालना हेतु कार्यवाही कर सकेगा तथा आदेश का उल्लघंन करने पर कार्यवाही की जाएगी। यह आदेष आगामी दो माह तक अवधि के लिए प्रभावी रहेगा।
-----00000-----

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top