edvertise

edvertise
barmer

दिल्ली-NCR में 4 घंटे में भूकंप का दूसरा झटका, रिक्टर पैमाने पर 3.2 तीव्रता

दिल्ली-NCR में 4 घंटे में भूकंप का दूसरा झटका, रिक्टर पैमाने पर 3.2 तीव्रता
नई दिल्ली.दिल्ली-एनसीआर में शुक्रवार को 4 घंटे में भूकंप के 2 झटके आए। पहली बार तड़के 4.25 पर और दूसरी बार सुबह 8.13 बजे। पहले झटके की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 5.0 रिकॉर्ड की गई। जिस वक्त भूकंप आया, वह सुबह की नमाज का वक्त था। कई नमाजियों ने 5 से 7 सेकंड तक झटके महसूस किए। दूसरे झटके की तीव्रता 3.2 रिकॉर्ड की गई।

फिलहाल किसी तरह के नुकसान की खबर नहीं है। कहां-कहां महसूस किए गए झटके...

- रिपोर्ट्स के मुताबिक दोनों ही बार भूकंप का केंद्र हरियाणा में रोहतक के पास जमीन से 22 km नीचे था।

- दिल्ली समेत उत्तर भारत में कई अन्य जगहों पर भी भूकंप के झटके महसूस किए गए।

खतरनाक जोन में है दिल्ली, 6 से ज्यादा तीव्रता वाला भूकंप मचा सकता है तबाही

- भू-वैज्ञानिकों ने भूकंप के खतरे को देखते हुए देश के हिस्सों को सीस्मिक जोन में बांटा है।

- सबसे कम खतरा जोन 2 में है और सबसे ज्यादा जोन 5 में है।

- दिल्ली जोन 4 में है। यहां रिक्टर पैमाने पर 6 से ज्यादा तीव्रता वाला भूकंप भारी तबाही मचा सकता है।

- जोन 4 में मुंबई और दिल्ली जैसे शहर हैं। इनके अलावा जम्मू-कश्मीर, हिमाचल, पश्चिमी गुजरात, उत्तर प्रदेश के पहाड़ी इलाके और बिहार-नेपाल सीमा के इलाके इसमें शामिल हैं। यहां भूकंप का खतरा लगातार बना रहता है।

क्यों आता है भूकंप?




- पृथ्वी के अंदर सात प्लेट्स हैं, जो लगातार घूम रही हैं। जहां ये प्लेट्स ज्यादा टकराती हैं, वह जोन फॉल्ट लाइन कहलाता है।

- बार-बार टकराने से प्लेट्स के कोने मुड़ते हैं। जब ज्यादा दबाव बनता है तो प्लेट्स टूटने लगती हैं।

- नीचे की एनर्जी बाहर आने का रास्ता खोजती है। डिस्टर्बेंस के बाद भूकंप आता है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top