edvertise

edvertise
barmer



सीकर आनंदपाल एनकाउंटर : सीकर में भड़का गुस्सा, तहसीलदार की गाड़ी में तोडफ़ोड़ के बाद लगाई आग

दूजोद में आनंदपाल एनकाउंटर से गुस्साए उनके समर्थकों ने गुरुवार को तहसीलदार की गाड़ी में आग लगा दी। इसके बाद लोगों ने वहां जाम लगा दिया। जाम की सूचना पर पहुंची पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को खदेड़ दिया। आनंदपाल एनकाउंटर मामले में सीबीआई की जांच की मांग कर रहे राजपूत समाज के लोगों ने दूजोद में जमकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के बाद लोगों में गुस्सा इस कदर बढ़ गया कि उन्होंने तोडफ़ोड़ करनी शुरू कर दी। इसके बाद समाज के लोगों ने आनंदपाल के समर्थन में सड़क पर जाम लगा दिया। जाम की सूचना पर धोद तहसीलदार अशोक रणवां मौके पर पहुंचे। उन्होंने प्रदर्शनकारियों को काफी समझाने की कोशिश की लेकिन वह नहीं माने। उल्टा उन्होंने तहसीलदार की गाड़ी में तोडफ़ोड़ करनी शुरू कर दी। जब बात तोडफ़ोड़ से भी नहीं बनी तो उन्होंने तहसीलदार की गाड़ी आग के हवाले कर दी।


गाड़ी में आग लगने से गाड़ी धू-धूकर जल उठी। आसपास के लोगों में अफरा-तफरी मच गई। दूजोद में जाम और तहसीलदार की गाड़ी में आग की सूचना पर जिला मुख्यालय से भारी मात्रा में पुलिस बल रवाना हो गया। पुलिस ने दूजोद में प्रदर्शन कर रहे लोगों को जमकर खदेड़ा। किसी अनहोनी के मद्देनजर सीकर से एंबुलेंस और फायर ब्रिगेड की दो गाडिय़ां भी रवाना कर दी गई हैं। बता दें कि 24 जून की रात को राजस्थान के गैंगस्टर आनंदपाल का एनकाउंटर कर दिया गया था। जिसके बाद आनंदपाल के परिजन और उनके समर्थक सड़क पर उतर आए। उन्होंने सरकार पर कई तरह के आरोप भी लगाए थे। उनका कहना है कि आनंदपाल का एनकाउंटर फर्जी है। उसे साजिश के तहत मारा गया है। इसी को लेकर आनंदपाल के परिजनों और राजपूत समाज के लोगों ने सीबीआई से जांच की मांग कर रहे हैं।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top