edvertise

edvertise
barmer



बालोतरा समेत सात स्थानों पर जिला एवं सेशन

न्यायाधीश स्तर के पारिवारिक न्यायालयों का सृजन


बाड़मेर, 05 जून। राज्य सरकार ने पारिवारिक न्यायालय अधिनियम 1984 (1984 का केन्द्रीय अधिनियम संख्या 66) की धारा 3 द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए राजस्थान उच्च न्यायालय के परामर्श के बाद पारिवारिक न्यायालय को प्रदत्त शक्तियों एवं क्षेत्राधिकार का प्रयोग करने के लिए बालोतरा समेत सात स्थानों पर जिला एवं सेशन न्यायाधीश स्तर के पारिवारिक न्यायालयों का सृजन एवं स्थापना की है।

यह पारिवारिक न्यायालय बालोतरा, धौलपुर, जैसलमेर, जालोर, करौली, प्रतापगढ़ और सिरोही जिलों में सृजित किए गए हैं। इनका क्षेत्राधिकार क्रमशः जिला न्यायालय बालोतरा की स्थानीय क्षेत्राधिकार सीमा, जिला न्यायालय धौलपुर की स्थानीय क्षेत्राधिकार सीमा, जिला न्यायालय जैसलमेर की स्थानीय क्षेत्राधिकार सीमा, जिला न्यायालय जालोर की स्थानीय क्षेत्राधिकार सीमा, जिला न्यायालय करौली की स्थानीय क्षेत्राधिकार सीमा, जिला न्यायालय, प्रतापगढ़ की स्थानीय क्षेत्राधिकार सीमा और जिला न्यायालय सिरोही की स्थानीय क्षेत्राधिकार सीमा निर्धारित की गई है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top