edvertise

edvertise
barmer



अजमेर,जल स्वावलम्बन सप्ताह के तहत होंगे अनेक कार्यक्रम

आमजन करेंगे श्रमदान, पूर्ण कार्यों का होगा लोकार्पण


अजमेर, 06 जून। मुख्यमंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान अन्तर्गत द्वितीय चरण में चयनित गांवों में आगामी 9 जून तक जल स्वावलम्बन सप्ताह मनाया जाएगा। सप्ताह के दौरान अनेक कार्यक्रमों का आयोजन होगा।

जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल ने बताया कि जल स्वावलम्बन सप्ताह में अभियान के तहत अब तक हुए कार्यों की प्रगति से ग्रामवासियों को अवगत कराया जाएगा। वहीं कार्यों का निरीक्षण, ग्रामवासियों के साथ श्रमदान करने तथा पूर्ण हो चुके कार्यांे का लोकार्पण भी होगा। सप्ताह के दौरान ग्रामवासियों को जल स्वावलम्बन अभियान की प्रतिज्ञा दिलवायी जाएगी। साथ ही प्रत्येक गांव में ग्रामवासियों, महिलाओं, विघर्थियों एवं युवकों की सामूहिक रैली निकालकर दानदाताओं एवं संगठनों द्वारा सहयोग प्राप्त करने का प्रयास किया जाएगा। अभियान के दौरान विभिन्न दानदाताओं को सहयोग देने के लिए प्रशिस्ति पत्रा प्रदान कर सम्मानित किया जाएगा।

जिला परिषद के मुख्यकार्यकारी अधिकारी श्री निकया गोहाएन ने जिले के समस्त कार्यकारी विभागों को निर्देशित किया है कि व सप्ताह के दौरान आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में जिले के समस्त जनप्रतिनिधियों के साथ-साथ धार्मिक ट्रस्टों एवं सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों को भी आमंत्रित करें। उन्होंने कहा कि समस्त कार्यकारी विभाग अपने-अपने कार्यों पर ग्रामवासियों को श्रमदान के लिए प्रेरित करेंगे तथा स्वयं भी श्रमदान करेंगे। संबंधित विभाग अपने पूर्ण हो चुके कार्यों का लोकार्पण सप्ताह के दौरान ही जिले के जनप्रतिनिधियों के हाथो से करावंे तथा चल रहे कार्यों का निरीक्षण भी आवश्यक रूप से किया जाना सुनिश्चित करें।

जिला स्तरीय कार्यशाला 9 को होगी

मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान में नकद, सामग्री एवं मशीन के रूप में दिए जाने वाले दानदाताओं का 9 जून को जिला स्तर पर प्रातः 11 बजे पं. दीनदयाल उपाध्याय सभागार जिला परिषद अजमेर में आयोजित जिला स्तरीय कार्यशाला में सम्मानित किया जाएगा।

बुधवार को होगा जिले भर में श्रमदान
मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान के अन्तर्गत बुधवार 7 जून को प्रातः 9 बजे से जिले भर में श्रमदान का कार्यक्रम होगा। इसमें अराई पंचायत समिति के ग्राम कटसूरा में चारागाह में नाड़ी निर्माण कार्य पर श्रमदान होगा। इसी प्रकार भिनाय पंचायत समिति में छछुन्दरा में उसरी पीटी रिनोर्वेशन कार्य, जवाजा पंचायत समिति के माथुवाड़ा में एनीकट डीसिटिंग माधुवाड़ा लास्ट बार्डर कार्य, केकड़ी पंचायत समिति के साकरिया में नयातालाब में गिट्टी कार्य, किशनगढ़ पंचायत समिति के रूपनगढ़ पावर हाउस के पास नई नाड़ी खुदाई कार्य, मसूदा पंचायत समिति के हनुतिया में आव खुदाई का कार्य, पीसांगन पंचायत समिति के बुधवाड़ा में कालू बाबा नाडा की आव खुदाई कार्य, सरवाड़ पंचायत समिति के फतेहगढ़ धोबीगट्टा वाली बहाली पर नाडी निर्माण कार्य एवं श्रीनगर पंचायत समिति के बीर गांव में पटपडा में एनपीटी निर्माण कार्य पर श्रमदान किया जाएगा।

बुधवार को होगा कार्यों का लोकार्पण

मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान के तहत बुधवार 7 जून को अनेक कार्यों का लोकार्पण होगा। उन्होंने बताया कि अरांई पंचायत समिति के बिंजरवाड़ा गांव में रूफटाप डब्ल्यूएचएस राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय कालानाडा एवं राजकीय माध्यमिक प्राथमिक विद्यालय कालानाडा, रूफटाप डब्ल्यूएचएस राजकीय शिक्षाकर्मी प्राथमिक विद्यालय पछीपाला कालानाडा कार्यों का लोकार्पण होगा। इसी प्रकार भिनाय पंचायत समिति के कुम्हारिया में रूफटाप डब्ल्यूएचएस अटल सेवा केन्द्र का एवं जवाजा पंचायत समिति के टाटगढ़ में रूफटाप डब्ल्यूएचएस तहसील कार्यालय टाटगढ़, रूफटाप डब्ल्यूएचएस वेटनरी अस्पताल टाटगढ़, रूफटाप डब्ल्यूएचएस राजकीय बालिका विद्यालय तेजा चैकी टाटगढ़ एवं रूफटाप डब्ल्यूएचएस पुलिस स्टेशन टाटगढ़ में कार्यों का लोकार्पण किया जाएगा।




राज्य स्तरीय जैव विविधता एवं पर्यावरण संरक्षण संगोष्ठी

अजमेर जिले के 20 संभागियों ने लिया भाग


अजमेर, 6 जून। पर्यावरण संरक्षण मात्रा सरकार का दायित्व नहीं है वरण यह आमजन की जिम्मेदारी भी है। यह विचार सम्राट पृथ्वीराज चैहान महाविद्यालय के प्राणीशास्त्रा विभाग की व्याख्याता डाॅ. भारती प्रकाश ने सोमवार को झालावाड़ में जिला प्रशासन एवं वन विभाग द्वारा पर्यावरण दिवस के अवसर पर आयोजित दो दिवसीय राज्य स्तरीय जैव विविधता एवं पर्यावरण संगोष्ठी में व्यक्त किए।

दो दिवसीय इस संगोष्ठी में अजमेर जिले के विभिन्न महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालय के 20 संभागियों ने भाग लिया। डाॅ. भारती प्रकाश ने कहा कि पर्यावरण व जैव विविधता का सम्मान व्यक्तिगत व सामूहिक दोनों स्तर पर किया जाना चाहिए। जिससे किसी एक पक्ष के शिथिल होने पर दूसरे पक्ष की क्षमता पर नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़े। उन्होंने वृक्षारोपण के समानान्तर वृक्ष संरक्षण कार्यक्रम को भी पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाए जाने पर जोर दिया।

इस मौके पर व्याख्याता डाॅ. रीना व्यास ने खाद्य पदार्थों को कृत्रिम रूप से पचाए जाने व उनसे होने वाले घातक प्रभावों पर प्रकाश डाला जबकि व्याख्याता उमेश दत्त ने अजमेर क्षेत्रा में पक्षियों से संबंधित जैव विविधता की दृष्टि से आनासागर झील को एक समृद्ध झील बताया और इसे ईको ट्यूरिज्म की दृष्टि से विकसित किए जाने की संभावनाओं पर प्रकाश डाला।

संगोष्ठी में प्राणीशास्त्रा के शोधार्थी दीपिका सिंह, सुश्री रश्मि शर्मा एवं सेवाराम देवासी ने भी अपने विभिन्न पत्रा प्रस्तुत किए। संगोष्ठी में आयोजित चित्रा प्रदर्शनी में राजकीय महाविद्यालय ब्यावर के व्याख्याता श्री विकास सक्सेना तथा अजमेर के डाॅ. विवेक शर्मा ने भी अपने चित्रों को प्रदर्शित किया।



विकास कार्यों की समीक्षा बैठक स्थगित
अजमेर, 6 जून। राज्य किसान आयोग के अध्यक्ष श्री सांवर लाल जाट की अध्यक्षता में 7 जून बुधवार को दोपहर 12.30 बजे कलेक्ट्रेट सभागार में होने वाली विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा बैठक अपरिहार्य कारणों से स्थगित कर दी गई है। अतिरिक्त जिला कलक्टर ने यह जानकारी दी।

जिला लोक शिकायत एवं सतर्कता समिति की बैठक 8 को

अजमेर, 6 जून। जिला लोक शिकायत एवं सतर्कता समिति की तहसील, उपखण्ड एवं जिला स्तर के प्रकरणों में द्वितीय अपील प्राधिकारी के रूप में प्रकरणों पर सुनवाई करने के लिए 8 जून को प्रातः 11 बजे कलेक्ट्रेट स्थित अटल सेवा केन्द्र पर बैठक आयोजित की जाएगी।




राजस्व लोक अदालत अभियान: न्याय आपके द्वार 2017

बुधवार को 4 ग्राम पंचायतों में लगेगा शिविर

अजमेर, 6 जून। राज्य सरकार के निर्देशानुसार आयोजित किए जाने वाले राजस्व लोक अदालत अभियान - न्याय आपके द्वार 2017 के तहत बुधवार 7 जून को 4 ग्राम पंचायतों में शिविर का आयोजन किया जाएगा।

जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल ने बताया कि 7 जून बुधवार को राजगढ़, पगारा, बरल द्वितीय एवं करांटी में राजस्व लोक अदालत अभियान शिविर आयोजित होगा।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top