जब इस लेडी दारोगा ने ऐसे छुपाया मुंह, बोली- प्लीज मेरी फोटो मत खींचो


मेरठ. एंटी करप्शन की टीम ने मंगलवार को एक लेडी एसआई को 20 हजार रुपए र‍िश्वत लेते ग‍िरफ्तार क‍िया। कैमरामैन को देख वो बोलने लगी, प्लीज मेरी फोटो मत खींचो और चुनरी में मुंह छुपाने लगी। आरोप है क‍ि एक केस में रेप की धारा हटाने के नाम पर इन्होंने एक लाख की र‍िश्वत मांगी थी। आगे पढ़‍िए कैसे चढ़ी पुल‍िस के हत्थे...

जब इस लेडी दारोगा ने ऐसे छुपाया मुंह, बोली- प्लीज मेरी फोटो मत खींचो


- लेडी एसआई का नाम अमृता यादव है। वर्तमान में वह मेरठ शहर कोतवाली में तैनात थी। जानकारी के अनुसार, अना मजहर नाम की एक महिला ने अपने पति और उसके परिजनों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न का केस दर्ज कराया था। इस केस में धारा 377 और 376 भी लगाई गई थी।

- इसकी जांच एसआई अमृता यादव कर रही थी। आरोप है कि उसने महिला के पति समीर से धारा 377 और 376 हटाने के नाम पर एक लाख रुपए की डिमांड की थी।

- समीर ने इसकी शिकायत एंटी करप्शन के सीओ सुरेश कुमार से की। जांच-पड़ताल के बाद एंटी करप्शन की टीम ने रिश्वत मांगने वाली सब इंस्पेक्टर को रंगे हाथों पकड़ने की योजना बनाई। टीम में इंस्पेक्टर रणवीर सिंह खोखर, उदयवीर सिंह, जेके तोमर आदि को शामिल किया गया।

- इसके बाद शिकायतकर्ता केमिकल से रंगे 2 हजार के 10 नोट एंटी करप्शन टीम से लेकर बुढ़ाना गेट पुलिस चौकी पर पहुंचा। वहां पहुंचीअमृता यादव ने जैसे ही 20 हजार रुपए की रिश्वत समीर से ली, एंटी करप्शन की टीम ने अरेस्ट कर ल‍िया।

क्या कहते हैं पुल‍िस अध‍िकारी

-एंटी करप्शन के इंस्पेक्टर उदयवीर सिंह ने बताया, केस दर्ज होने के बाद आरोपी एसआई को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

-बताया जाता है कि अमृता यादव पहले भी र‍िश्वत लेने के मामले में चर्चाओं में रही है। करीब 2 महीने पहले ही उसकी तैनाती महिला थाने से कोतवाली में हुई थी।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top