edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर, विशेष योग्यजन शिविर संबंधित वीडियो कांफ्रेसिंग आज
-जिला मुख्यालय एवं ब्लाक स्तर पर अटल सेवा केन्द्रांे मंे उपस्थित रहेंगे अधिकारी एवं जन प्रतिनिधि।

बाड़मेर, 04 जून। विशेष योग्यजन शिविरांे के संबंध मंे सोमवार को प्रातः 10 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए जिला मुख्यालय एवं ब्लाक स्तर पर अटल सेवा केन्द्रांे मंे आमुखीकरण प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसमंे जन प्रतिनिधियांे के साथ विभागीय अधिकारियांे को उपस्थित रहने का अनुरोध किया गया है।

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक सुरेन्द्रसिंह पूनिया ने बताया कि केन्द्र सरकार ने दिव्यांग जन अधिकार अधिनियम 2016 के तहत निःषक्तता की श्रेणियों बढाकर 21 कर दिया है। उनके मुताबिक मुख्यमंत्री के निर्देषानुसार सम्पूर्ण राज्य में विषेष योग्यजनो के सषक्तिकरण एवं कल्याण के लिए उनको चिन्हित करने का विशेष अभियान चलाकर उन्हे लाभान्वित किया जाना है। इसके लिए विषेष योग्यजन षिविर आयोजित किये जाने है। उन्हांेने बताया कि पंडित दीन दयाल उपाध्याय विशेष योग्यजन षिविर तीन चरणों मंे चिन्हीकरण, पंजीयन एवं प्रमाणीकरण एवं अंग, उपकरण वितरण में संपादित होंगे। प्रथम चरण चिन्हीकरण एवं पंजीयन 01 जून से प्रारंभ हो चुका है। इसके तहत 24 सितंबर 2017 तक ई-मित्रांे एवं अटल सेवा केन्द्र के माध्यम से विशेष योग्यजनोें का पंजीयन किया जाएगा। सहायक निदेषक पूनिया ने बताया कि 5 जून 2017 को प्रातः 10 बजे से 1ः30 तक वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए जिला मुख्यालय एवं ब्लॉक स्तर पर अटल सेवा केन्द्र में आमुखीकरण प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इसमंे जिले के विभागीय अधिकारियांे के साथ जन प्रतिनिधियांे जिला प्रमुख, विधायक, प्रधान, जिला परिषद सदस्य,पंचायत समिति सदस्यांे से संबंधित अटल सेवा केन्द्र मंे वीडियो कांफ्रेसिंग के दौरान उपस्थित होने का अनुरोध किया गया है।

आज से 9 जून तक मनाया जाएगा जल स्वावलम्बन सप्ताह
बाड़मेर, 04 जून। मुख्यमंत्री जल स्वालम्बन अभियान के दूसरे चरण के तहत चयनित गांवों में 5 से 9 जून तक जल स्वावलम्बन सप्ताह मनाया जाएगा।

जिला परिषद एम.एल.नेहरा ने बताया कि जल स्वावलंबन सप्ताह के तहत जल संरक्षण के प्रति आमजन को जागरूक करने और भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इस संबंध में जिले के समस्त विकास अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। उनके मुताबिक जल स्वावलम्बन सप्ताह में प्रत्येक ग्राम में एक जल स्वालम्बन सामूहिक रैली का आयोजन किया जाएगा। रैली में बैनर, नारा उद्घोष, तख्तियांे के जरिए जल संरक्षण नारांे को प्रदर्षित करवाया जाएगा। साथ ही ग्रामवासियों के साथ बैठक कर अभियान के तहत अभी तक करवाए गए कार्यों की प्रगति की समीक्षा की जाएगी। अभियान के तहत चल रहे कार्यों का निरीक्षण, श्रमदान, पूर्ण हो चुके कार्यों का लोकार्पण, ग्रामवासियों दानदाताओं व संगठनों द्वारा सहयोग की समीक्षा और सहयोग करने के प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि अभियान में दानदाताओं को उनके सहयोग के लिए सम्मान स्वरूप प्रशस्ति पत्र दिए जाएंगे। साथ ही कार्यशाला, जल स्वावलम्बन रथ, रैली, नुक्कड़ नाटक आदि आयोजित किए जाएंगे। जल स्वालम्बन सप्ताह में जिला स्तर पर भी कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा। इसमें मुख्यमंत्री जल स्वालम्बन अभियान में 10 हजार रूपए से अधिक का योगदान देने वाले दानदाताओं को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top