edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर, बालिका षिक्षा को प्रोत्साहित कर समाज का विकास करेः मेघवाल

मेघवाल समाज शैक्षणिक एवं शोध संस्थान बाड़मेर का वार्षिक सम्मेलन आयोजित

विभिन्न परीक्षाओं मंे सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाली समाज की प्रतिभाओं का हुआ सम्मान

बाड़मेर, 25 जून।

आज का युग षिक्षा का युग हैं। आज जो समाज षिक्षा के मामले में पिछड़ गया वह समाज कभी प्रगति नहीं कर सकता। इसलिए विषेष रूप से बालिका षिक्षा पर जोर देकर समाज के विकास की ओर ले जाए। यह बात जिला प्रमुख प्रियंका मेघवाल ने मेघवाल समाज शैक्षणिक एवं शोध संस्थान बाड़मेर का वार्षिक सम्मेलन एवं प्रतिभा सम्मान समारोह में मुख्य अतिथी के रूप में कही।

प्रियंका मेघवाल ने कहा कि पिछले कुछ सालो से समाज की प्रतिभाओं ने अपना लोहा षिक्षा के हर क्षेत्र में मनवाया हैं। अब समाज केा चाहिए कि वह षिक्षित बनने के साथ ही आर्थिक रूप से मजबूत बने और इसके लिए समाज के लोगो को व्यवसाय में कदम रखने होगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए चैहटन विधायक तरूणराय कागा ने कहा कि मेघवाल समाज शैक्षणिक एवं शोध संस्थान की स्थापना से लेकर अब तक सराहनीय कार्य किए हैं जिसकी बदौलत समाज की प्रतिभाएं विभिन्न क्षेत्रों में अपना नाम रोषन कर रही हैं। कागा ने कहा कि वर्तमान हालात समाज के लिहाज से काफी जटिल होते जा रहे हैं। इसलिए समाज को चाहिए कि वह आपसी मतभेदो और टांग खिंचाई को खत्म कर एकजुटता दिखाए ताकि मुष्किलों का डटकर सामना किया जा सके। उन्होने कहा कि कुछ लोग हैं जो नहीं चाहते कि मेघवाल समाज प्रगति की राह पर आगे बढ़े, इसके लिए वह लोग तरह-तरह के कार्य कर समाज के राह में रोड़ा बनकर मुष्किले बढ़ा रहे हैं लेकिन समाज को इससे डरना नहीं हैं बल्कि बाबा साहब के मुल मंत्र षिक्षित बनकर, संगठित रहकर संघर्ष करना होगा।

कार्यक्रम की विषिष्ट अतिथी जैसलमेर जिला प्रमुख अंजना मेघवाल ने कहा कि मेघवाल समाज के लोग आज ग्रामीण क्षेत्रों मंे बहुतायत संख्या मंे पिछड़े हुए हैं जिन्हे अपनो हको एवं अधिकारों के बारे में ज्ञान तक नहीं हैं। इसलिए लोगो को अपने हक के प्रति सजग रहना होगा। मेघवाल ने कहा कि डेल्टा मेघवाल हत्याकांड का उल्लेख करते हुए कहा कि डेल्टा मेघवाल को आज तक न्याय नहीं मिलना समाज की कमजोरी को दिखाता हैं, इसलिए आज हमे यहां से जाने से पूर्व यह संकल्प लेकर जाना होगा कि जब तक उसे न्याय नहीं मिलता समाज चुप नहीं बठेगा। विषिष्ट अतिथी सेड़वा प्रधान पदमाराम मेघवाल ने कहा कि आज की युवा पीढ़ी नषे की लत में ज्यादा पढ़ती जा रही हैं ओर इस नषे के कारण वह अपने संस्कारों को भूलती जा रही हैं। इसका नतीजा यह हैं कि समाज में अनैतिक घटनाए, हत्याएं एवं शोषण की घटनाएं ज्यादा हो रही हैं। इसलिए अपने मां-पिता का आदर सम्मान करते हुए नशे का त्याग कर परिवार और समाज की भलाई का कार्य करे। गडरारोड़ प्रधान तेजाराम कोडेचा ने बालिका षिक्षा पर जोर देने के साथ ही राजनैतिक क्षेत्र में भी समाज की महिलाओं को आगे आने का आव्हान किया। उन्होने कहा कि अगर समाज की महिलाए स्वयं के बलबुते राजनीति में आगे आती हैं तो समाज की महिलाओं के विकास को कोई नहीं रोक सकता। उन्होने पुरानी रूढ़िवादी परम्पराओं और कुरीतियों का त्याग कर बच्चो की षिक्षा पर ज्यादा से ज्यादा जोर देना होगा तभी समाज विकास की राह पर अग्रसर हो सकेगा। , धनाउ प्रधान सुश्री भगवती मेघवाल ने कहा कि सीमावर्ती क्षेत्र में आज भी बालिका षिक्षा को तवज्जो नहीं दी जाती हैं जिससे प्रतिभाएं होने के बाद भी षिक्षा के अभाव में वह षिक्षा की मुख्य धारा से नहीं जुड़ पाती हैं। इसलिए जिस तरह से मुझे समाज की ओर से मौका दिया गया हैं वैसे ही समाज के अन्य लोग भी इस के लिए काम करे। जवाहर लाल नेहरू विष्वविद्यालय के सहायक प्रोफेसर डाॅ. मूलाराम मेघवाल ने समाज के युवा पीढ़ी को विषेष रूप से जागरूक रहकर, वर्तमान परिपेक्ष में कार्य करने की मांग की। धनाउ विकास अधिकारी राजेन्द्र कुमार मेघवाल ने कहा कि आज हम लोग पढ़ लिख जरूर हो गए हैं लेकिन फिर भी पूरी तरह से षिक्षित नहीं हो पाए हैं। यही कारण हैं कि हम षिक्षा प्राप्त कर समाज के विकास के कार्य करने चाहिए उसके उल्ट समाज के लिए कार्य करने वालों को ही कोस रहे हैं। वहीं बिना पूर्ण ज्ञान के सोषिल मीडिया पर कई तरह की टिप्पणीया कर देते हैं जो समाज के लिए घातक हैं। उन्होने इस सबसे दूर रहकर षिक्षा को ही एक मात्र लक्ष्य बनाकर उसे हासिल करना हैं। कार्यक्रम में षिव के पूर्व प्रधान उदाराम मेघवाल ने समाज के लोगो से नषे से दूर रहने एवं अत्याचार के खिलाफ एकजुट होने का आव्हान किया। उन्होने कहा कि आज जिस तरह से जिले में सामाजिक तानेबाने को नष्ट करने की घटनाएं हो रही हैं, उसको देखते हुए नषे का त्याग करना चाहिए। समारोह मंे हजारों की संख्या में समाज के लोग उपस्थित थे।

प्रतिभाओं का हुआ सम्मानः

मेघवाल समाज शैक्षणिक एवं शोध संस्थान के अध्यक्ष डाॅ. बी.एल. मसूरिया ने बताया कि समारोह में स्व. तनेराम मेघवाल ममोरियल सोसायटी की ओर से नीट, एम्स,जी, आईआईटी, क्लेट, 10 वीं एवं 12 वीं में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाली समाज की प्रतिभाओं को पुरस्कृत किया गया। डाॅ. मसूरिया ने कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए अतिथियों एवं समाज के लोगो का आभार जताया। संस्थान का लेखा जोखा कोषाध्यक्ष हंजारीराम बालवा ने प्रस्तुत किया। संस्थान के महासचिव चूनाराम पूनड़ ने दानदाताओं द्वारा दिए गए सहयोग के बारे में जानकारी दी। कार्यक्रम का संचालन व्याख्याता भगवानदास बारूपाल ने किया।

पंवार होगे संस्थान के नए अध्यक्षः

मेघवाल समाज शैक्षणिक एवं शोध संस्थान के अध्यक्ष डाॅ. बी.एल. मसूरिया ने कार्यक्रम की समाप्ति से पूर्व अपनी जिम्मेदारियों एवं कार्य की अधिकता के कारण संस्थान के अध्यक्ष पद से स्वैच्छिक रूप से हटने का निर्णय लिया एवं संस्थान का नया अध्यक्ष धर्माराम पंवार को मनोनित किया। पंवार छात्रावास में पूर्व में व्यवस्थापक का कार्य देख चुके हैं एवं वर्तमान में वह संस्थान के वरिष्ठ उपाध्यक्ष हैं।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top