सरकार के साथ हुई वार्ता के बाद जाट आरक्षण आंदोलन समाप्त जनजीबन होने लगा सामान्य
भरतपुर 24 जून। राजस्थान में भरतपुर-धौलपुर जिलो के जाट समुदाय को ओबीसी में आरक्षण की मांग को लेकर पिछले दो दिनों से चल रहे जाट आंदोलन को सरकार के साथ हुई वार्ता के बाद समाप्त किये जाने की घोषणा की गई है। सरकार ने जाट नेताओं को वायदा किया है कि शीघ्र ही ओबीसी आयोग की सर्वे रिपोर्ट पर सरकार अध्यन कर आगामी विधानसभा की बैठक में आरक्षण के लिए प्रस्ताव पारित कर आरक्षण की प्रक्रिया को पूरा करेगी। भरतपुर के रेंज आईजी कार्यालय में आयोजित इस समझौता वार्ता के बाद भरतपुर-धौलपुर जाट आरक्षण संघर्ष समिति के संरक्षक एवम डीग-कुम्हेर से कांग्रेस बिधायक विश्वेन्द्र सिंह ने कहा कि सरकार के प्रतिनिधि बरिष्ठ अधिका रियों के साथ वार्ता सकारात्मक रही जिसमे जाट समुदाय की जीत हुई है। उन्होंने कहा कि सरकार ने उनकी मांग मान ली हैं। इसी के साथ उन्होंने सड़क व रेल ट्रेक पर बैठे लोगों से रास्ता खोलने की अपील की और घर लौटने के लिए कहा है। बैठक में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सचिब बीएल जाटावत, निदेेशक डॉ. समित शर्मा, संभागीय आयुक्त सबीर कुमार, आईजी आलोक त्रिपाठी, कलक्टर डॉ.आर. एन. गुप्ता, पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार टांक सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। आंदोलन के समाप्त कर दिए जाने की घोषणा के बाद भरतपुर जिले में जगह जगह लगे जाम हटा लिए गए तथा सड़क ब रेल यातायात को बहाल कर दिया गया। जाट आंदोलन के खत्म हो जाने के बाद लोगो ने राहत की सांस ली है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top