सनसनी: फॉरेस्ट गार्ड की बेरहमी से हत्या कर पेड़ पर लटका दी लाश


करसोग (यशपाल): मंडी जिले के करसोग के तहत सेरी कतांडा में एक रौंगटे खड़े कर देने वाली वारदात सामने आई है। बताया जाता है कि यहां 24 वर्षीय फॉरेस्ट गार्ड की बेरहमी से हत्या करने के बाद शव को पेड़ पर उल्टा लटका दिया गया। इस वारदात से इलाके में सनसनी मच गई है। 5 दिनों से लापता वनरक्षक होशियार सिंह का शव जंगल में देवदार के पेड़ पर लटका मिला है। हालांकि करसोग पुलिस ने 3 दिन पहले वनरक्षक की गुमशुदगी का मामला दर्ज किया था लेकिन वनरक्षक का शव मिलने के बाद पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। सोमवार को अंतिम मर्तबा वनरक्षक को सेरी कतांडा में वन विभाग की नर्सरी में देखा गया था तथा इसके बाद उसका कोई सुराग नहीं लग पा रहा था।


टहनियों के बीच फंसे शव को देख उड़े होश
करसोग पुलिस सहित स्थानीय लोगों के अलावा वनरक्षक के गांव से करीब 250 लोग सेरी कतांडा के जंगलों में 2 दिन से वनरक्षक की तलाश कर रहे थे। शुक्रवार सुबह सेरी कतांडा बीट के गरजुग जंगल में बकरियां चरा रहे एक युवक की नजर देवदार के पेड़ पर पड़ी तथा टहनियों के बीच फंसे शव को देखकर उसके होश उड़ गए। उसने इसकी सूचना गांववासियों को दी तथा पुलिस व अन्य ग्रामीण जल्द ही घटनास्थल पर पहुंच गए। गुमशुदगी मामले की जांच कर रहे ए.एस.आई. भौम प्रकाश ने इसकी जानकारी आला अधिकारियों को दी तथा करसोग थाना प्रभारी पुलिस टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंच गए। मौके पर एस.एफ.एल. (फौरैंसिक साइंस लैबोरेटरी) मंडी की टीम को बुलाया गया। शाम करीब साढ़े 7 बजे के बाद एफ.एस.एल. की टीम तथा डी.एस.पी. सुंदरनगर संजीव भाटिया मौके पर पहुंचे। मौके पर टीम ने साक्ष्य जुटाकर कार्रवाई शुरू कर दी।


वन काटुओं पर हत्या के शक की सुई
सराज क्षेत्र निवासी 22 वर्षीय वनरक्षक होशियार सिंह की हत्या के शक की सुई वन काटुओं पर टिकती नजर आ रही है। मौत के आगोश में समाए वनरक्षक की मौत की गुत्थी को सुलझाने के लिए जांच में जुटी पुलिस टीम को कड़ी मशक्कत करनी पड़ सकती है। प्रारंभिक जांच के दौरान बेशक इस हत्या के मामले में वन काटुओं का हाथ होने की संभावना जताई जा रही है लेकिन पुलिस इस मामले में हर पहलू पर बारीकी से जांच करने में जुट गई है।


विधायक ने एस.पी. से ली जानकारी
सराज हलके के विधायक एवं पूर्व मंत्री जयराम ठाकुर ने वनरक्षक की हत्या के मामले में एस.पी. मंडी से फोन पर बात की। उन्होंने इस घटना पर दुख व्यक्त करते हुए एस.पी. मंडी को जल्द मामले का पटाक्षेप करने के अलावा दोषियों को हिरासत में लेने के लिए कड़े कदम उठाने को कहा है। उन्होंने कहा कि वनरक्षक की हत्या में शामिल लोगों को जल्द बेनकाब किया जाए। वहीं हत्या करने के बाद पेड़ पर लटकाए गए वनरक्षक के शव का पोस्टमार्टम मंडी स्थित जोनल अस्पताल में होगा। ए.एस.पी. मंडी कुलभूषण वर्मा ने बताया कि विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम शव का पोस्टमार्टम करेगी तथा पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल पाएगा कि वनरक्षक की हत्या किस तरीके से की गई।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top