edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर आम जनता मेें बढाये ‘सांख्यिकी‘ की पहचान-प्रिंयका मेघवाल
बाड़मेर,29 जून। प्रो पी.सी. महालनोबिस के जन्म दिवस 29 जून को सांख्यिकी विभाग द्वारा ‘‘सांख्यिकी दिवस‘‘ के रूप में मनाया गया, कार्यक्रम के अवसर पर ‘‘प्रशासनिक सांख्यिकी‘‘ विषयक एक कार्यशाला का भी आयोजन भी किया गया। जिला परिषद् बाड़मेर स्थित अटल सेवा केन्द्र में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य कार्यकारी अधिकारी, जिला परिषद् एम. एल. नेहरा एवं अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी, जिला परिषद गुंजन सोनी ने प्रो. पी.सी.महालनोबिस के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलन एवं माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया।

इस दौरान जिला प्रमुख श्रीमती प्रियंका मेघवाल ने सभी जिले वासियों को सांख्यिकी दिवस की बधाई देतेे हुए उपस्थित सभी प्रतिभागियों से सांख्यिकी की पहचान आम जनता में बनाने पर बल दिया। मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री नेहरा ने कहा कि डाटा बहुत महत्वपूर्ण है जिसको विभिन्न सरकारी एवं गैर सरकारी एजेन्सियों द्वारा विभिन्न प्रयोजनों से उपयोग किया जाता है, डाटा का संकलन जितना सटीक होगा योजनाओं का निर्माण एवं उनका क्रियान्वयन उतना ही सही होगा अतः डाटा संग्रहण सावधानी पूर्वक किया जावे। अति मुख्य कार्यकारी अधिकारी गुंजन सोनी ने कहा कि वे भी सांख्यिकी विषय को पढाया है इस अवसर पर उन्होनें अपने अनुभव बताये। आर्थिक एवं सांख्यिकी निदेशालय, जयपुर से बतौर विभागीय प्रतिनिधि सहायक सांख्यिकी अधिकारी राजीव भार्गव ने भी कार्यशाला के उद्धेश्यों पर प्रकाश डाला। सांख्यिकी दिवस पर प्रो पी.सी. महालनोबिस का जीवन परिचय, सांख्यिकी विभाग द्वारा चलाये जा रहे कार्यों, भामाशाह योजना आदि पर को पीपीटी के माध्यम से हीरालाल मालू सहायक निदेशक, आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग, रामप्रकाश ब्लॉक सांख्यिकी अधिकारी धोरीमना, जसवंतकुमार गौड़ ब्लॉक सांख्यिकी अधिकारी, बाड़मेर द्वारा जानकारियां उपलब्ध करवाई गई। कार्यशाला में जिले में कार्यरत युवा विकास प्रेरक गिरीश गौतम, कपिल देव, मनोज सिंह द्वारा अपने द्वारा जिले में किये जा रहे अपने विभिन्न कार्यो का प्रजेंटेशन दिया गया गिरीश गौतम ने प्रशासन में सांख्यिकी के महत्व को बताया। कार्यशाला में सम्पूर्ण जिले में सांख्यिकी विभाग में कार्यरत अधिकारी कर्मचारियों एवं सेवानिवृत अधिकारी कर्मचारियों ने भाग लिया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top