edvertise

edvertise
barmer



अजमेर,पं.दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी बालिका कौशल विकास शिविर

कौशल और बुद्धि विकसित होने से आगे बढ़ेगी बालिकाएं - प्रो. सांवर लाल जाट

जब घर में बेटी नहीं होगी किस पर लाड लुटाओगे

अजमेर, 12 जून। पं.दीनदयाल जन्म शताब्दी कौशल विकास शिविर के उद्घाटन शिविर में सांसद एवं राज्य किसान आयोग अध्यक्ष प्रो. सांवर लाल जाट ने कहा कौशल और बुद्धि विकसित होने से बालिकाएं तेजी से आगे बढ़ेगी।

नौ दिवसीय निःशुल्क बालिका कौशल शिविर में बालिकाओं को संबोधित करते हुए प्रो. जाट ने कहा कि कौषल सिखना वर्तमान समय की आवश्यकता है। डिजीटल क्रान्ति के पश्चात दुनिया छोटी हो गई है। प्रतियोगिता ने अन्तर्राष्ट्रीय रूवरूप प्राप्त कर लिया है। इस प्रतियोगिता में आगे रहने के लिए बालिकाओं को कौशल और बुद्धि विकसित करनी चाहिए। इससे बालिकाए तेजी से आगे बढ़ेगी। प्रधानमंत्राी श्री नरेन्द्र मोदी बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए तत्पर है। बेटिया प्रत्येक क्षेत्रा की अग्रिम पंक्ति में बैठकर देश को दिशा प्रदान की रही है।

उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि औरांगबाद की पूर्व महापौर श्रीमती विजया राहटकर ने कहा कि बेटियां जग का आधार है। घर में बेटी नहीं होने पर हम किसा पर लाड लुटाएंगे। एक बेटी के होने से घर में जान आ जाती है। कौशल विकास शिविर में 960 बालिकाओं के एक साथ उपस्थित होने से बेटियां चेतन्य प्रदान कर रही है। अजमेर को आगे बढ़ने में केन्द्र एवं राज्य सरकार का पूरा सहयोग है। विकास की चार योजना के माध्यम से आगे बढ़ने वाला वाराणसी के पश्चात अजमेर दूसरा शहर है। प्रधानमंत्राी श्री नरेन्द्र मोदी के प्रयासों से कन्या भ्रुण हत्या रूकी है। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं अभियान से बेटी जन्म उत्सव के रूप में मनाने के लिए वातावरण निर्मित हुआ है। इस अभियान से हरियाणा के साथ-साथ पूरे देश के लिंगानुपात में बढ़ोतरी हुई है।

उन्होंने कहा कि पं. दीनदयाल उपाध्याय की विचार धारा पर केन्द्र व राज्य सरकारे कार्य कर कल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित कर रही है। अन्तिम व्यक्ति का हाथ पकड़कर उसे अपने बराबर लाना अन्त्योदय है। यह कौशल विकास शिविर अन्त्योदय का मूर्त रूप है। शिविर में 12 विधाओं में विशेषज्ञों द्वारा बेटियों को प्रश्क्षिित किया जाएगा। प्रशिक्षण के उपरान्त प्रधानमंत्राी मुद्रा योजना के सहयोग से रोजगार आरम्भ करने के लिए ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा। केन्द्र सरकार की उज्ज्वला योजना से महिलाओं को चल्हे के धुएं से मुक्ति मिली है। प्रधानमंत्राी श्री मोदी द्वारा महिलाओं की आत्म सम्मान की रक्षा के लिए शौचालय को मुद्दा बनाया। देश के विद्यालयों में बालक एवं बालिकाओं के लिए पृथक-पृथक शौचालय बने है। कौशल विकास से महिलाएं होम मेकर की भूमिका से आगे बढ़कर नेशन बिल्डर्स बनेगी। राजस्थान के महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा किए गए नवाचारों को महराष्ट्र सहित अन्य राज्यों में भी लागू किया जाना चाहिए। उन्होंने आह्वान किया कि कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी अपने आसपास के व्यक्तियों को देने से उनके जीवन में भी बदलाव आ सकता है।

महिला एवं बाल विकास मंत्राी एवं शिविर के आयोजक श्रीमती अनिता भदेल ने कहा कि कौशल विकास शिविर में एक हजार 21 बालिकाओं ने पंजीकरण करवाया था। इनमें से 960 बालिकाओं ने प्रशिक्षण प्राप्त करना आरम्भ किया। शिविर में विशेषज्ञों द्वारा बालिकाओं को 12 कोर्सेस में प्रशिक्षित किया जा रहा है। फुटवेयर डिजाइन संस्थान जोधपुर के जाने माने फैकल्टि श्री मनोज वर्मा, राहुल यादव, संजीव कुमार, सुनिल चैहान, फैशन डिजाइन में मोनिका चैधरी एवं वर्षा मोनिका सैम्यूल, मेहन्दी में किरण, कढ़ाई में पुष्पा, नृत्य में नीरज, क्ले आर्ट में बनवारी जैसे प्रशिक्षक बालिकाओं को हुनर सिखांएगे। स्वयं सहायता समूह के माध्यम से ज्वेलरी का निर्माण कर उन्हें विश्व स्तर तक उपलब्ध करवाने वाली शान्तिजी ज्वेलरी मैकिंग श्रीमती नीलोफर जैसी प्रसिद्ध ब्यूटिशियन महिलाओं को ब्यूटी पार्लर का प्रशिक्षण प्रदान कर रही है। बालिकाओं में कौशल विकसित होने से अजमेर की बेटी होने पर गर्व महसूस होगा। यह बेटियां अपने साथ-साथ परिवार एवं शहर का नाम रोशन करेगी। बालिकाओं को प्रतिदिन अलग-अलग योजनाओं की जानकारी प्रदान की जाएगी।

अजमेर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री शिव शंकर हेड़ा ने कहा कि विशेषज्ञों द्वारा कौशल विकास का प्रशिक्षण दिए जाने से बालिकाओं को नए गुर सिखने को मिलेंगे। एक ही स्थान पर 12 विधाओं का प्रशिक्षण मिलने से बालिकाओं का भविष्य सकारात्मक होगा।

पूजा कपिल मिश्रा ने कहा कि प्रधानमंत्राी की कौशल विकास योजना को आगे बढ़ाने का कार्य पं.दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी बालिका कौशल विकास शिविर कर रहा है। मनुष्य प्रतिपल सिखता रहता है। विभिन्न कौशल प्राप्त करने से बालिकाएं वर्तमान शिविर की मांग के अनुसार मल्टिटास्कर बन पाएगी। इससे परिवार देश और समाज को आगे बढ़ने में पूर्ण योगदान मिलेगा।

मधु शर्मा ने कहा कि महिलाएं स्वयं का रोजगार स्थापित कर आत्म निर्भर बनने से उपाध्याय जी का सपना साकार होगा।

श्री अरविंद यादव ने कहा कि भारतीय संस्कृति में नवरात्रा में 9 दिन तक कन्याओं का पूजन किया जाता है। इसी प्रकार यह 9 दिवसीय शिविर बालिकाओं में स्वाभिमान का संचार करेगा। यह बेटियां घरों में उजाला लेकर आएगी।

इस अवसर पर पूर्व सांसद श्री रासा सिंह रावत, पूर्व विधायक एवं शिविर प्रभारी श्री हरिश झामनानी, बी.पी.सारस्वत, नगर निगम के उप महापौर एवं सह शिविर प्रभारी संपत सांखला, सीमा गोस्वामी एवं स्थानीय जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।



किसानों की समस्याओं पर हुई चर्चा

अजमेर, 12 जून। अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री किशोर कुमार की अध्यक्षता में सोमवार को कलैक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में भारतीय किसान संघ के पदाधिकारियों के साथ किसानों की समस्याओं एवं उनके समाधान पर चर्चा हुई।

श्री किशोर कुमार ने कहा कि जिले के किसानों को किसी प्रकार की असुविधा नहीं होगी। भारतीय किसान संघ के द्वारा 15 जून को संभागीय आयुक्त को किसानों की विभिन्न मांगों के संबंध में ज्ञापन दिया जाएगा। इस दौरान विभिन्न व्यवस्थाओं पर चर्चा की गई। इस दिन आजाद पार्क में संघ द्वारा किसानों की बैठक होगी। इसमें किसानों के हितों के शान्तिपूर्वक समाधान के लिए विचार विमर्श किया जाएगा। इस बैठक में अजमेर एवं भीलवाड़ा जिले के किसान भाग लेंगे।

उन्होंने कहा कि भारतीय किसान संघ के प्रतिनिधियों द्वारा किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए विधानसभा स्तर पर कार्यवाही करने के लिए चर्चा की। राज्य की विद्युत निति को किसान के हित में लागू करने की वकालात की गई। जैनेटिकली मोडिफाइड बीजो पर प्रतिबंध पर चर्चा की। हर खेत को सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी उपलब्ध करवाने तथा दूध उत्पादन पर बोनस देने की बात कही। किसानों को समर्थन मूल्य पर खरीद की सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए भी कहा गया।

इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री अबु सूफियान चैहान, अरविंद कुमार सेंगवा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री भोलाराम, जिला आबकारी अधिकारी श्री एन.एल.राठी, कृषि विभाग के उप निदेशक श्री वी.के.शर्मा सहित पुलिस, प्रशासन एवं विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।




तीन ‘अ’ के आधार पर करें मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य का उन्नयन

अजमेर, 12 जून। अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री किशोर कुमार की अध्यक्षता में सोमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित विभिन्न विभागो ंकी साप्ताहिक समीक्षा बैठक में कहा कि तीन ‘अ’ के माध्यम से जिले में मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य का उन्नयन किया जाना चाहिए।

श्री किशोर कुमार ने कहा कि झालावाड़ जिले के द्वारा विकसित माॅडल के आधार पर जिले में मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य में अभिवृद्धि के लिए तीन ‘अ’ पर ध्यान केन्द्रीत किया जाएगा। आंगनबाड़ी केन्द्रों, एएनएम एवं आशा सहयोगिनी के साथ मिलकर मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य पर मिशन मोड में कार्य किया जाएगा। आंगनबाड़ी केन्दों के पोषाहार के संबंध में स्थानीय उपखण्ड अधिकारी को अधिकृत किया गया है। एसडीएम द्वारा आंगनबाड़ी केन्द्रो पर पोषाहार के निरीक्षण एवं भौतिक सत्यापन किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि राजस्थान सम्पर्क पोर्टल पर दर्ज प्रकरणों को प्राथमिकता के साथ निस्तारित किया जाए। जिले में निर्मित समस्त भवनों का थर्ड पार्टी निरीक्षण किया जाएगा। जिले के समस्त चिकित्सा संस्थानों के लेबर रूम की साफ सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। जिले के समस्त शहरी क्षेत्रों को 15 जुलाई तक खुले में शौच से मुक्त किया जाएगा। नगर निगम में सफाई की रात्रि पारी आरम्भ करने के साथ ही छुटियांे के लिए भी रोस्टर पद्धति अपनायी जाएगी।

इस अवसर पर जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री निकया गोहाएन, अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री अबु सूफियान चैहान, जिला रसद अधिकारी श्रीमती दीप्ती शर्मा, डीओआईटी के एसीपी श्री भगवती प्रसाद सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।




पट्टा आवंटन अभियान में 771 पट्टे जारी

अजमेर, 12 जून। पट्टा आंवटन अभियान के अन्तर्गत सोमवार को जिले में 771 पट्टे जारी कर ग्रामीणों को राहत प्रदान की गई।

जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री निकया गोहाएन ने बताया कि पंचायत समिति अरांई में 175, जवाजा में 160, मसूदा में 91, केकड़ी में 203, किशनगढ़ में 142 पट्टे जारी किए गए।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top