edvertise

edvertise
barmer



जैसलमेर जिला कलक्टर ने जिला स्तरीय जन सुनवाई में सुनी लोगों की परिवेदनाएं

आमजन की समस्याओं को प्राथमिकता से निस्तारण करें अधिकारी - जिला कलक्टर मीना


राजस्थान सम्पर्क पोर्टल के प्रकरण गम्भीरता से निस्तारित कर शून्य की स्थिति में लाने के दिये निर्देष

जैसलमेर, 08 जून। जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना ने गुरूवार को कलेक्टर सभागार में आयोजित जिला स्तरीय जन सुनवाई के दौरान लोगों की परिवेदनाएं धैर्य के साथ सुनी एवं उनके निस्तारण का विष्वास दिलाया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देष दिये कि जन सुनवाई के दौरान जो भी समस्याएं लोगों द्वारा प्रस्तुत की जाती है उनको प्राथमिकता से लेते हुए कम से कम समय में निस्तारित कर परिवादी को राहत पहुँचावें। उन्होंनंें विषेष रूप से पानी, बिजली के साथ ही आमजन से जुडें विभाग की जो समस्या इसमें आती है उसको तत्काल ही निस्तारण करने की कार्यवाही करें। उन्हांेनें कहा कि अगली जनसुनवाई के दौरान पूर्व में पेष प्रकरणांे पर भी हुई कार्यवाही के संबंध में समीक्षा की जाएगी इसलिए अधिकारी जनसुनवाई को गंभीरता से लें।

6 माह से अधिक का एक भी प्रकरण पोर्टल पर बकाया नहीं रहें

उन्होंने अधिकारियो को निर्देष दिये कि वे राजस्थान सम्पर्क पोर्टल में दर्ज पकरणों को गम्भीरता से लेते हुए कम से कम समय में निस्तारित करें। उन्होंनें यह भी हिदायत दी कि 6 माह से अधिक का एक भी प्रकरण बकाया नहीं रहें एवं उसे कल ही निस्तारण करने की कार्यवाही कर दें। उन्होंनें उपायुक्त उपनिवेषन को निर्देष दिए कि वे उप निवेषन विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर उनको पोर्टल में दर्ज प्रकरणों को अतिषीघ्र गंभीरता से निस्तारण करने के लिए पाबंद कर दें। उन्होंने एडोप्टर्स को भी निर्देष दिये कि वे पोर्टल में दर्ज जो समस्या निस्तारित हो गई हैं उसका मौके पर सत्यापन कर उसको भी पोर्टल पर अपडेट करें। उन्होंनंे सभी अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे प्रतिदिन पोर्टल खोलकर उसमें दर्ज प्रकरणों को देखें एवं सही जवाब पेष करें।

जनसुनवाई के दौरान जिला प्रमुख श्रीमती अंजना मेघवाल, पुलिस अधीक्षक गौरव यादव, अतिरिक्त जिला कलक्टर के.एल.स्वामी, मुख्य कार्यकारी अधिकारी नारायणसिंह चारण, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी दाताराम, सचिव नगर विकास न्यास बी.एल.रमण, उपायुक्त उप निवेषन मोहनदान रतनू के साथ ही जिलास्तरीय अधिकारी एवं परिवादी उपस्थित थें।

जन सुनवाई के दौरान कमलकिषोर उत्तरी छत्रैल ने घर के आगे अवैध कब्जा हटानें के संबंध में प्रार्थना पत्र दिया। इस संबंध में जिला कलक्टर ने विकास अधिकारी जैसलमेर को इसकी जांच कर अतिक्रमण हटानें के निर्देष दिए। इसी प्रकार अमृतराम व कपिल कुुमार खुईयाला ने प्रार्थना पत्र पेष किया कि उन्हें किसी प्रकार की सुविधा का लाभ नहीं मिला है इस संबंध में जिला कलक्टर ने विकास अधिकारी को इसकी जांच कर शौचालय या अन्य सुविधा का लाभ प्रदान करने के निर्देष दिए। इसके साथ ही कपूरिया निवासियों ने कार्यो में फर्जीवाडे के संबंध में प्रार्थना पत्र दिया इस संबंध में विकास अधिकारी सम को इसकी जांच कर 7 दिवस में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देष दिए।

इसी प्रकार जनसुनवाई के दौरान धमेन्द्र चारण ने डांगरी सरपंच के कार्यो की जांच कराने, रामूराम प्रजापत ने आवासी पट्टे देने, भावेष दान चारण ने प्रधानमंत्री आवासी योजना में नाम जुडवाने के संबंध में प्रार्थना पत्र दिया। इस संबंध में जिला कलक्टर ने विकास अधिकारी सम को आवष्यक कार्यवाही करने के निर्देष दिये। इसी प्रकार प्रेमाराम सलखा ने आवासीय पट्टा देने के संबंध में प्रार्थना पत्र दिया इस संबंध में विकास अधिकारी को जांच कर आवासीय पट्टा देने के निर्देष दिये। रमणलाल बडाबाग ने पानी की आपूर्ति कराने के संबंध में, गंभीरसिंह, षिवनाथसिंह सुल्ताना ने टीसी पुख्ता कराने के साथ ही उप निवेषन विभाग से संबंधित जो भी प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए उस संबंध में उपायुक्त उपनिवेषन को निर्देष दिये कि वे उप निवेषन मामलों में जांच कर परिवादियों को राहत पंहुचावें।

जिला कलक्टर के समक्ष जन सुनवाई के दौरान मुन्नाराम भील ने भीखाराम भील की ढाणी में पानी की समस्या से निजात दिलाने के लिए जीएलआर बनाने एवं टैंकर से पानी आपूर्ति कराने के संबंध में प्रार्थना पत्र दिया। इस संबंध में उन्होंनें अधीक्षण अभियंता को निर्देष दिये कि वे कल ही टैंकर से पेयजल आपूर्ति कर लोगों को पीने का पानी उपलब्ध करावें वहीं जीएलआर का प्रस्ताव लेवें। इसी प्रकार ओमसिंह निवासी पाबनासर ने आईडब्ल्यूएमपी में हुए कार्यो की जांच कराने के संबंध मंे प्रार्थना पत्र दिया इस संबंध में जिला कलक्टर ने डीपीएम आईडब्ल्यूएमपी को इसकी जांच करने के निदेष दिये। इसी प्रकार 11,12,13,17 व 18 एमजीडी के काष्तकारों ने ढाणियों को पण्डित दीनदयाल उपाध्याय योजना में विद्युतीकरण कराने के संबंध में प्रार्थना पत्र दिया। इस संबंध में अधीक्षण अभियंता विद्युत को निर्देष दिये कि वे इसकी जांच कर विद्युत कनेक्ष करने की कार्यवाही करें। इसी प्रकार मेहराबखां ने तिब्बनसर में पानी की समस्या से अवगत कराया तो इस संबंध में अधिषाषी अंिभयंता को निर्देष दिये कि वे मौके की जांच कर पानी की आपूर्ति करावें।

जिला प्रमुख श्रीमती अंजना मेघवाल ने कहा कि जनसुनवाई में समस्या निराकरण होने से आज अधिक से अधिक लोग जनसुनावई में आए है यह एक सकारात्मक संदेष है एवं लोगों को विष्वास है कि जिला स्तरीय जनसुनवाई में प्रस्तुत समस्या का समाधान होता है।

कोषाधिकारी एवं नोडल अधिकारी सम्पर्क पोर्टल जसराज चैहान ने राजस्थान सम्पर्क पोर्टल में दर्ज प्रकरणों, निस्तारित प्रकरणों, बकाया प्रकरणों के साथ ही एडोप्टर्स द्वारा निस्तारित किए गए प्रकरणों व बकाया प्रकरणों के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की।

-----000-----



मेगा विधिक चेतना एंव लोक कल्याणकारी शिविर 27 जून को फतेहगढ में

जैसलमेर, 08 जून। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण व जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वावधान में 27 जून, को फतेेहगढ मंे मेगा विधिक चेतना एवं लोक कल्याणकारी आयोजित किया जाएगा। जिला एंव सत्र न्यायाधीश मदनलाल भाटी ने शिविर आयोजन के लिए संबंधित प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में सभी विभागों के प्रशासनिक अधिकारियों ने सरकारी योजनाओं का एवं रालसा व नालसा द्वारा चलाई जा रही सभी स्कीमों का अधिकतम लाभ पात्र व्यक्तियों को प्रदान करने का भरोसा दिलाया। शिविर की रूपरेखा तैयार करते हुए अध्यक्ष ने कहा कि सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी देने व पात्र व्यक्तियों को इस शिविर द्वारा विभिन्न योजनाओं का तुरंत लाभ देने के लिए आयोजित किया जा रहा है तथा अधिक से अधिक लोगों को लाभान्वित करने का सम्मिलित प्रयास किया जाएगा।

सभी विभाग के प्रशासनिक अधिकारियों ने बैठक में आश्वस्त किया कि वे अपने अपने विभाग की विभिन्न लाभकारी सरकारी योजनाओं का अधिकतम लाभ पात्र व्यक्तियों को प्रदान करेंगे। बैठक में अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीाश महेश कुमार शर्मा, पूर्णकालिक सचिव डाॅ. महेन्द्र कुमार गोयल, अति0 जिला कलक्टर कन्हैयालाल स्वामी, जिला पुलिस अधीक्षक श्री गौरव यादव, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी श्री नैनाराम नायक, कोषाधिकारी जसराज चैहान, जिला शिक्षा अधिकारी (माध्यमिक) मन्नाराम मीणा, बी.डी.ओ. पंचायत समिति, सम सुखराम विश्नोई उपनिदेशक, महिला एवं बाल विकास, श्रीमती स्नेहलता चैहान, सहायक निदेशक, समाज कल्याण विभाग हिम्मतसिंह कविया, श्रम कल्याण अधिकारी, भवानी प्रताप चारण, उपखण्ड अधिकारी फतेहगढ रणसिंह, जिला संाख्यिकी अधिकारी बृजलाल मीणा, सहायक निदेशक कृषि रणजीत सिंह, सरपंच, फतेहगढ सवाई लाल सैन उपस्थित थे।

-----000-----



सतर्कता समिति में दर्ज प्रकरणों को सर्वोच्च प्राथमिकता से निस्तारित करावें - जिला कलक्टर मीणा

समिति में दर्ज 14 प्रकरणों में से 04 का हुआ निस्तारण, पालना रिपोर्ट समय पर भेजें

जैसलमेर, 11 मई। जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना ने अधिकारियों को निर्देष दिये कि वे जिला जन अभाव अभियोग निराकरण एवं सतर्कता समिति में दर्ज प्रकरणों को सर्वोच्च प्राथमिकता से लेते हुए निस्तारण की कार्यवाही करावें ताकि इस उच्च स्तरीय फोर्म से लोगों को समय पर राहत मिले। उन्होंने समिति में दर्ज प्रकरणों पर विस्तार से समीक्षा की एवं संबंधित अधिकारी को निर्देष दिये की वे इसमें सकारात्मक भाव रखते हुए परिवादी की समस्या को निपटावें। समिति में दर्ज 14 प्रकरणों में से विभागीय अधिकारियों द्वारा आवष्यक कार्यवाही किये जाने के बाद 04 प्रकरणों का निस्तारण समिति स्तर से कर दिया गया।

बैठक में पुलिस अधीक्षक गौरव यादव, जिला प्रमुख श्रीमती अंजना मेघवाल, अतिरिक्त जिला कलक्टर के.एल. स्वामी, मुख्य कार्यकारी अधिकारी नारायणसिंह चारण, समिति सदस्य कमल ओझा, कुलदीपसिंह के साथ ही संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में परिवादी जिला कलक्टर ने प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री कार्यालय से प्राप्त परिवेदनाओं को सर्वोच्च प्राथमिकता से निस्तारण करने के निर्देष दिये। उन्होंनें समिति सदस्य कमल ओझा द्वारा नगर परिषद एवं यूआईटी की भूमि पर अतिक्रमणियों द्वारा किए जा रहें अतिक्रमण के बारे मेें अवगत कराया तो जिला कलक्टर ने इसको गंभीरता से लिया एवं सचिव नगर विकास न्यास एवं आयुक्त नगर परिषद को निर्देष दिये कि वे अतिक्रमण को शीघ्र हटाने की कार्यवाही करें वहीं उनकी भूमि का एक सप्ताह में लैण्ड बैंक नक्षा तैयार कर प्रस्तुत करें।

परिवादी अहमद खां के मामलें में शौचालय निर्माण का भुगतान करने पर समिति स्तर से प्रकरण निस्तारित कर दिया गया। इसी प्रकार रमणसिंह के मामलें में न्यायालय में प्रकरण विचाराधीन होने से समिति स्तर से यह प्रकरण निस्तारित कर दिया गया। इस संबंध में आयुक्त नगर परिषद को निर्देष दिये कि वे मौके पर जाकर आवष्यक कार्यवाही करें। परिवादी सुषील कुमार पुरोहित के मामलें में षिक्षा विभाग द्वारा बकाया यात्रा बिल का भुगतान करने पर तथा षिवप्रसाद को भी बकाया वेतन का भुगतान करने पर यह मामला समिति स्तर से निस्तारित कर दिया गया।

बैठक में जिला कलक्टर ने परिवादी अकबर खां के मामलें में विकास अधिकारी जैसलमेर को निर्देष दिये कि वे राजकीय भूमि पर किए जा रहे धोरा निर्माण कार्य को बंद करवा दें एवं तहसीलदार से इस भूमि की सही स्थिति की रिपोर्ट लेवें। इसी प्रकार परिवादी धामलराम पारेवर के मामलें में शौचालय निर्माण के भुगतान करवानें के निर्देष दिये। इसी प्रकार आयुक्त नगर परिषद को परिवादी श्रीमती अकलांे देवी, श्रीमती सन्तोष, श्रीमती मोहनी देवी के मामलें में नगर परिषद की कार्यपालक समिति की बैठक आयोजित करवाकर इन प्रकरणों का निस्तारण अगले माह तक करने के निर्देष दिये। बैठक में परिवादी रूपाराम के कटाण मार्ग के संबंध में पालना रिपोर्ट नहीं प्राप्त होने पर नाराजगी व्यक्त की एवं सभी अधिकारियांे को निर्देष दिये कि वे समय पर पालना रिपोर्ट पेष करें। परिवादी रमणलाल भील के मामलें में सहायक वन संरक्षक को निर्देष दिये कि वे इसकी विस्तृत जांच कर अगली बैठक से पूर्व रिपोर्ट पेष करें।

पुलिस अधीक्षक गौरव यादव ने जिले की कानून व्यवस्था पर प्रकाष डाला वहीं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को कहा कि वे खाद्य सामग्री की सेम्पल जांच प्रभावी ढंग से करवाना सुनिष्चित करें।

अतिरिक्त जिला कलक्टर स्वामी ने बैठक में एक-एक प्रकरण को विस्तार से रखा वहीं विभागों द्वारा उन प्रकरणों मेें की गई कार्यवाही से अवगत कराया। जिला रसद अधिकारी औंकारसिंह कविया ने खाद्य वितरण प्रणाली पर प्रकाष डाला।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top