edvertise

edvertise
barmer

बाड़मेर । जेल में भिड़े कैदी , कैदी ने कोर्ट में खोला जेल में चल रहे हफ्ता वसूली राज , जेलर सहित कई पुलिसकर्मियों पर लगाया मारपीट करने आरोप 



बाड़मेर । जिला कारागृह में सोमवार देर रात को जेल में बंद दो कैदी आपस में भिड़ गए। दोनों में जमकर मारपीट हुई। ऐसा नही है कि बाड़मेर जिला कारागृह में मारपीट की घटना पहली बार सामने आई है इससे पूर्व भी कई बार जेल में मारपीट व लहूलुहान होने तक की घटनाएं सामने आ चुकी है. छोटे-मोटी मारपीट के मामले तो ही ऐसे ही दबा दिए जाते है। आज कोर्ट में पेशी के दौरान मारपीट के शिकार हुये कैदी ने आप बीती बताई और साथ ही जेल के भीतर चल रहे माफिया राज का बड़ा खुलासा किया। पीड़ित कैदी ने मीडिया के सामने जेल प्रशासन पर कई आरोप लगाए. कैदी का कहना है कि जेल में बंद कैदियों से जेलर और अन्य स्टाफ हफ्ता वसूली करते है और पैसे लेकर मोबाइल और नशीली वस्तुए उपलब्ध करवाते हैं। कैदी ने आरोप लगाते हुए कहा कि जेल में बंद कैदियों से जेल प्रशासन की मिली-भक्त से कैदी नए कैदियों से हफ्ता वसूली वसूली करते हैं और महाराष्ट्र के एक कैदी के साथ भी 7000 रूपये की वसूली के प्रयास किए गए| इस दौरान जब उसने जेल में हफ्ता वसूली का विरोध किया तो जेलर और अन्य स्टाफ ने मारपीट कर दी।

कोर्ट में मजिस्ट्रेट के सामने भावुक हुआ पीड़ित कैदी पीड़ित कैदी जबर दान पुत्र केसू दान निवासी साता एसी एसटी केस में बाड़मेर जिला कारागाह में बंदी है।विशिष्ट न्यायाधीश अनुसूचित जाति और जनजाति के सामने पेशी के दौरान कोर्ट में भावुक होकर मजिस्ट्रेट सुरेंद्र खरे के सामने कैदी ने कपड़े उतार कर अपनी चोटे दिखाते हुए बताया कि जेल स्टाफ और कुछ कैदियों ने उसे बुरी तरीके से मारा और पीटा। पीड़ित कैदी ने जेल में चल रहे अनैतिक कार्यो के बारे में मजिस्ट्रेट को बताया  



0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top