edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर, प्रभारी मंत्री गोयल कल करेंगे विकास योजनाआंे की समीक्षा

बाड़मेर, 06 जून। प्रभारी मंत्री एवं जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी एवं भू जल विभाग मंत्री सुरेन्द्र गोयल गुरूवार 08 जून को जिला मुख्यालय पर जिले मंे संचालित विकास योजनाआंे, विभागीय गतिविधियांे एवं कार्यक्रमांे की समीक्षा करेंगे।

जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने बताया कि जिला मुख्यालय पर गुरूवार को कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल मंे दोपहर 12.30 बजे आयोजित होने वाली बैठक के दौरान प्रभारी मंत्री सुरेन्द्र गोयल विकास योजनाआंे की समीक्षा करेंगे। उन्हांेने बताया कि समस्त विभागीय अधिकारियांे को आवश्यक सूचनाआंे के साथ उपस्थित होने के निर्देश दिए गए है। समीक्षा बैठक मंे प्रत्येक विभाग के जिला स्तरीय अधिकारी को स्वयं बैठक मंे भाग लेना अनिवार्य होगा।

कार्यशाला गुरू कोः मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत 10 हजार से अधिक का सहयोग मशीन, नकद एवं सामग्री के रूप मंे करने वाले भामाशाहांे को 8 जून को कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल मंे आयोजित कार्यशाला के दौरान सम्मानित किया जाएगा।

तिरसिगड़ी सोढ़ा मंे श्रमदान कल

बाड़मेर, 06 जून। मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत कल्याणपुर पंचायत समिति की नेवरी ग्राम पंचायत के राजस्व गांव तिरसिगड़ी सोढ़ा मंे गुरूवार को मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत श्रमदान का आयोजन होगा।

जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते ने बताया कि माडल तालाब निर्माण कार्य मोलप तालाब मंे होने वाले श्रमदान मंे जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री सुरेन्द्र गोयल के अलावा विभिन्न जन प्रतिनिधि, विभागीय अधिकारी एवं आमजन शामिल होंगे। उन्हांेने अधिकाधिक लोगांे से श्रमदान मंे शामिल होने की अपील की है।

जिला कलक्टर की रात्रि चौपाल का संशोधित कार्यक्रम जारी

बाड़मेर, 06 जून। जिला कलक्टर की माह जून मंे आयोजित होने वाली रात्रि चौपालांे का संशोधित कार्यक्रम जारी किया गया है।

जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते ने बताया कि 9 जून को सनाउ ग्राम पंचायत मंे जन सुनवाई एवं आंटिया ग्राम पंचायत मंे रात्रि चौपाल आयोजित होगी। इसी तरह 23 जून को भलीसर मंे जन सुनवाई एवं राणासर कला मंे रात्रि चौपाल का आयोजन होगा। उन्हांेने बताया कि रात्रि चौपाल मंे प्रत्येक ग्रामवार समस्याआंे पर चर्चा की जाएगी। चौपाल की समाप्ति पर खुली चौपाल मंे जन सुनवाई का आयोजन होगा। इसयें किसी भी प्रकार की मौसमी बीमारी, पशुआंे मंे बीमारी होने पर उसके उपचार, पेयजल एवं विद्युत व्यवस्था की स्थिति, राशन एवं पोषाहार वितरण के संबंध मंे समस्या होने पर जन सुनवाई की जाएगी।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top