edvertise

edvertise
barmer



जैसलमेर, जिला कलक्टर मीना जून माह में 8 ग्राम पंचायतों में करेगें रात्रि चैपाल

सुनेगें ग्रामीणों की परिवेदनाएं एवं करेगें समाधान

जैसलमेर, 02 जून। जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में जन समस्याओं के ग्राम पंचायत स्तर पर निराकरण करने के लिए जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना जून माह में 9 ग्राम पंचायतों में रात्रि चैपाल का आयोजन करेगें एवं उन पंचायतों में ग्रामीणों की समस्याएं सुनकर उनका समाधान मौके पर ही करेगें।

रात्रि चैपाल के लिए जारी किए गए कार्यक्रम के अनुसार जिला कलक्टर मीना 6 जून को ग्राम पंचायत झाबरा में रात्रि चैपाल करेगें इसी प्रकार 9 जून को ग्राम पंचायत लूणार में, 13 जून को ग्राम पंचायत शाहगढ में, 16 जून को ग्राम पंचायत खुहडी में, 20 जून को ग्राम पंचायत सुल्ताना में, 23 जून को ग्राम पंचायत भीखोडाई में, 27 जून को ग्राम पंचायत सत्याया में तथा 30 जून को ग्राम पंचायत मण्डाई में रात्रि चैपाल का आयोजन करेगें एवं इन पंचायत क्षेत्र के ग्रामीणों की परिवेदनाएं सुनकर उनका समाधान करेगें। इस दौरान ग्राम पंचायत क्षेत्र मे संचालित विभिन्न राहत गतिविधियांे, विकास योजनाओं व कार्यो का निरीक्षण करेगें। जिला कलक्टर मीना ने समस्त जिला स्तरीय अधिकारियांे तथा पंचायत कलस्टर के लिए नियुक्त एडोप्टर्स को निर्देषित किया है कि वे इस दौरान उपस्थित रहेगें। उन्होंनें संबंधित तहसीलदार एवं विकास अधिकारियों को निर्देषित किया है कि वे रात्रि चैपाल की जनसुनवाई के दौरान समुचित व्यवस्थाएं सुनिष्चित करेगें एवं इन चैपालों का पूर्व में क्षेत्र में प्रचार प्रसार करेगें ताकि अधिक से अधिक ग्रामीण इन रात्रि चैपालों का लाभ लेवें।

-----000-----

मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के द्वितीय चरण में चयनित ग्रामों में

5 जून से 9 जून तक मनाया जाएगा जल स्वावलंबन सप्ताह

विविध कार्यक्रमों का होगा आयोजन


जैसलमेर, 02 जून। राज्य सरकार के निर्देषानुसार जिले में चल रहें मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान द्वितीय चरण के अन्तर्गत चयनित गांवों में 5 जून से 9 जून तक जल स्वावलंबन सप्ताह के रूप में मनाया जाएगा एवं इस दौरान विविध कार्यकम आयोजित होगें।

मुख्य कार्यकारी अधिकारी नारायणसिंह चारण ने एक आदेष जारी कर बताया कि इस जल स्वावलंबन सप्ताह के दौरान तीनों पंचायत समितियों में द्वितीय चरण के अन्तर्गत चयनित गांवों में कार्यक्रम होंगें। आदेष के अनुसार 6 जून को चयनित गांवों में महिला रैली, छात्र-छात्राओं एवं युवाओं की रैली का आयोजन किया जाएगा। इस आयोजन के लिए संबंधित विकास अधिकारी, महिला एवं बाल विकास, जिला षिक्षा अधिकारी माध्यमिक व प्रारम्भिक तथ नेहरू युवा केन्द्र को दायित्व सौंपा गया है।

इसी प्रकार 7 जून को चयनित गांवों में मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत करवाए गए कार्यो की प्रगति के लिए ग्राम स्तरीय बैठकें होगी वहीं पूर्ण हो चुके कार्यो का लोकार्पण किया जाएगा। इस कार्य का उत्तरदायित्व संबंधित विकास अधिकारी एवं ग्राम प्रभारी को सौंपा गया है। इसी प्रकार 8 जून को चयनित गांवों में चल रहें कार्यो एवं पूर्ण कार्यो का सघन निरीक्षण किया जाएगा। इस कार्य का उत्तरदायित्व परियोजना प्रबंधक एवं अधीक्षण अभियंता वाटरषेड तथा संबंधित विकास अधिकारी को सौंपा गया है। इसी प्रकार 9 जून को चयनित गांवों में ग्रामीणों के साथ श्रमदान का कार्य किया जाएगा। इस कार्य का दायित्व संबंधित विकास अधिकारी एवं ग्राम प्रभारी अधिकारी को सौंपा गया है।

आदेष के अनुसार उत्तरदायित्व अधिकारी अपने अपने क्षेत्र में जल स्वावलंबन सप्ताह के दौरान निर्धारित किए गए कार्यो को सफलता पूर्वक संपादित करेगें एवं आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में सांसद, विधायक, जिला प्रमुख, पंचायत समिति प्रधान, जिला परिषद सदस्य, पंचायत समिति सदस्य के साथ ही संबंधित जनप्रतिनिधियों साथ-साथ धार्मिक ट्रस्टों एवं सामाजिक संगठन के प्रतिनिधियों को आवष्यक रूप से आमंत्रित करेगें। कार्यक्रम की गतिविधियां आयोजित होने के बाद प्रतिवेदन मुख्य कार्यकारी अधिकारी को प्रेषित करेगें।

-----000-----

निःषक्त मेघसिंह को प्रधानमंत्री आवास योजना का मिला लाभ-मिला पट्टा
जैसलमेर, 02 जून। राज्य सरकार द्वारा 14 अप्रैल डाॅ. भीमराव अम्बेडकर जयन्ती से चलाए जा रहें पण्डित दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण पट्टा वितरण अभियान षिविर जैसलमेर के ग्रामीणों के लिए बहुत ही लाभदायी सिद्व हो रहें है। बडोडा गांव निवासी 40 वर्षीय निःषक्त मेघसिंह पुत्र खंगारसिंह के लिए तो पट्टा वितरण अभियान वरदान ही साबित हुआ। उल्लेखनीय है कि निःषक्त मेघसिंह जो कच्चे झोंपें में रहता था जिसे आंधी-तूफान आने पर काफी परेषानी होती थी। प्रधानमंत्री आवास योजना में निःषक्त मेघसिंह का सूची मंे नाम होने से प्रधानमंत्री आवास की स्वीकृति हुई एवं उसको आवास का लाभ मिला।

मेघसिंह के पास किसी प्रकार का आवासीय पट्टा नहीं था जब प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत हुआ तो उसने बडोडा गांव में आयोजित पण्डित दीनदयाल उपाध्याय पट्टा वितरण षिविर में उसके लिए आवेदन किया। षिविर के दौरान ही तहसीलदार वीरेन्द्रसिंह की मौजूदगी में ग्राम सेवक एवं सरपंच द्वारा उसके आवासीय भूमि का मौके पर ही पट्टा बनाया जाकर उसका पंजीयन भी किया गया। निःषक्त मेघसिंह आवासीय पट्टा प्राप्त कर बहुत ही प्रसन्नचित एवं इसके लिए राज्य सरकार द्वारा चलाए गए पट्टा अभियान की तारीफ ही एवं कहा कि इस प्रकार के विषेष अभियानों के कारण मेरे जैसे कितने निःषक्त लोगों का भला होता है।

निःषक्त मेघसिंह को सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत प्रतिमाह 750 रूपये पेंषन भी मिल रही है। अब निःषक्त मेघसिंह पक्के आवास में निवास करेगा एवं उसका जो पक्के मकान का सपना था वह प्रधानमंत्री आवास योजना से फलीभूत हो गया। उसने मुक्त कंठों से प्रधानमंत्री आवास योजना की भी तारीफ की एवं सराहना की कि मेरे जैसे कितने गरीबों लोगांे को इस योजना से पक्के आवास की सुविधा का लाभ मिलता है।



-----000-----

कच्चे झोंपें में रहने वाली गरीब परिवार की सुषीला को

मिला आवास सुविधा का लाभ-मिला आवास का पट्टा


जैसलमेर, 02 जून। राज्य सरकार द्वारा 14 अप्रैल डाॅ. भीमराव अम्बेडकर जयन्ती से चलाए जा रहें पण्डित दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण पट्टा वितरण अभियान षिविर जैसलमेर के ग्रामीणों के लिए बहुत ही लाभदायी सिद्व हो रहें है। बडोडा गांव निवासी 35 वर्षीया गरीब परिवार की श्रीमती सुषीला पत्नि मगाराम मेघवाल को प्रधानमंत्री आवास योजना में आवास की सुविधा का लाभ मिला वहीं पट्टा अभियान के दौरान उसे आवासीय भूखण्ड का पट्टा भी प्राप्त हुआ। गरीब परिवार की सुषीला के लिए तो पट्टा वितरण अभियान बहुत ही लाभदायी रहा।

उल्लेखनीय है कि गरीब परिवार की महिला श्रीमती सुषीला जो महानरेगा योजना में मजदूरी करके अपना जीवन यापन कर रही थी एवं उसका पति भी नरेगा मे कार्य करके मजदूरी प्राप्त करता था। यह गरीब परिवार कच्चे झोंपें में निवास करता था। सामाजिक आर्थिक जातिगत जनगणना 2011 के अन्तर्गत प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण की सूची में श्रीमती सुषीला का नाम था इसलिए इस योजना के तहत आवास की स्वीकृति पंचायती राज विभाग द्वारा जारी की गई।

पण्डित दीनदयाल पट्टा वितरण अभियान के दौरान श्रीमती सुषीला ने आवासी पट्टे के लिए आवेदन किया जिस पर उपखंड अधिकारी जैसलमेर कैलाष चन्द्र शर्मा ने मौके पर ही ग्राम सेवक को निर्देष दिए कि वे श्रीमती सुषीला के आवास का पट्टा जारी किया जाए। सभी कार्यवाही मौके पर ही की जाकर गरीब परिवार की सुषीला को आवास का पट्टा भी जारी कर दिया गया। अब श्रीमती सुषीला एवं उसके परिवार जो लम्बे समय से कच्चे झौंपें में रहते थें उनका सपना जो पक्के मकान का था उसकी पूर्ति प्रधानमंत्री आवास योजना के कारण हो गई। इस प्रकार श्रीमती सुषीला के लिए तो पट्टा अभियान षिविर वरदान साबित हुआ एवं उसे पट्टा भी मिल गया। सुषीला एवं उसके पति मगाराम ने प्रधानमंत्री आवास योजना की अन्र्तमन से सराहना की एवं कहा कि इस योजना के कारण हमारे जैसे कितने गरीब लोगों को पक्की छत की सुविधा का लाभ मिल रहा है। उन्होंनें पट्टा वितरण अभियान के लिए राज्य सरकार की भी तहेदिल से तारीफ की ।

-----000-----



0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top