edvertise

edvertise
barmer



अजमेर मुख्यमंत्राी जल स्वावलम्बन सप्ताह: भामाशाहों का सम्मान समारोह

जल स्वावलम्बन अभियान से राज्य के 50 नए ब्लाॅकों में बढ़ा जल स्तर

टैंकरों पर कम हुई निर्भरता


अजमेर, 9 जून। मुख्यमंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान के कारण राज्य के 50 नए ब्लाॅकों के जल स्तर में वृद्धि दर्ज की गई। साथ ही अभियान के कारण प्रदेशवासियों की टैंकरों पर निर्भरता कम हुई है। यह बात शिक्षा राज्यमंत्राी श्री वासुदेव देवनानी ने शुक्रवार को मुख्यमंत्राी जल स्वावलम्बन सप्ताह के अन्तर्गत अभियान में सहयोग प्रदान करने वाले भामाशाहों के सम्मान समारोह में जिला परिषद के पं. दीनदयाल उपाध्याय सभागार में कही।

उन्होंने कहा कि राजस्थान जैसे कम वर्षा वाले क्षेत्रा में जल संरक्षण अतिआवश्यक है। मुख्यमंत्राी ने इस दिशा में आगे बढ़ते हुए एक अभियान के रूप में सबको साथ लेकर जल संरक्षण का कार्य कर रही है। इसमें समस्त प्रदेशवासियों की सहभागिता आवश्यक है। राज्य के 295 ब्लाॅक मे से अधिकतर डार्क जोन के अन्तर्गत आते है। अभियान के प्रथम चरण से डार्क जोन के 50 नए ब्लाॅकों के भू-जल स्तर में वृद्धि दर्ज की गई है।

उन्होंने कहा कि जल स्वावलम्बन के अन्तर्गत किए जाने वाले कार्यो की गति में वृद्धि करके 30 जून तक अवश्य पूर्ण किया जाए। द्वितीय चरण के कार्यों के पूर्ण होने के साथ ही तृतीय चरण के लिए तैयारी आरम्भ की जानी चाहिए। उन्होंने आह्वान किया कि समस्त नागरिकों को अपनी आय का एक भाग जल स्वावलम्बन के लिए अवश्य रखना चाहिए। आज का जल संरक्षण आने वाली पीढी़ के लिए जल स्त्रोत का कार्य करेगा। भामाशाहों को जल स्वावलम्बन के लिए समाज की अपेक्षा से ज्यादा देने का प्रयास करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि जल की उपयोगिता स्वयं से आरम्भ की जानी चाहिए। इसका सदुपयोग करने की आदत बचपन से ही विकसित होने से स्वभाविक जल संरक्षण हो जाएगा। जल को व्यर्थ में नष्ट होने से बचाना सबकी जिम्मेदारी है। जल की एक-एक बूंद कीमती है। इसलिए वर्षा जल को संग्रहित करने के लिए टांके बनाए जाने चाहिए।

जिला प्रमुख सुश्री वंदना नोगिया ने कहा कि जल संरक्षण के लिए समाज के सभी वर्गों ने अपना अमूल्य योगदान प्रदान किया।

अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री किशोर कुमार ने कहा कि जल स्वावलम्बन अभियान के दौरान नकद, श्रम, सामग्री, मशीनरी, उपकरण एवं सामाजिक सरोकार मद (सीएसआर) के द्वारा सहयोग प्रदान करने वाले समस्त भामाशाहों के सहयोग से ही इतना बड़ा अभियान सफल हो रहा है। तृतीय चरण में भी इसी प्रकार सबकी सहभागिता आवश्यक रहेगी।

जल ग्रहण विकास विभाग के श्री शरद गेमावत ने जिले में अभियान के दौरान हुए कार्यों के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी।

इस अवसर पर जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री निकया गोहाएन, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री संजय माथुर सहित भामाशाह, जनप्रतिनिधि एवं जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

इन भामाशाहों का रहा सहयोग

मुख्यमंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान के अन्तर्गत जिले में 10 हजार की राशि से अधिक सहयोग प्रदान करने वाले 71 भामाशाहों को समारोह में प्रशस्ति पत्रा एवं स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया गया। श्री सिमेंट प्रा. लि. ब्यावर ने 33 लाख 94 हजार, हिन्दूस्तान जिंक ने 19 लाख 66 हजार, अडानी लाॅजिस्टिक ने 7 लाख 16 हजार, भिनाय पुलिस थाने ने 4 लाख 50 हजार, बांदनवाड़ा के श्री राणजीत रेहलानिया ने एक लाख 50 हजार, ब्रह्मा मन्दिर ट्रस्ट ने एक लाख 11 हजार, बाबा रामदेव सहकारी समिति, खुण्डियास ने एक लाख, सांवर में घनश्याम माली ने एक लाख, उद्धाराम, जितेन्द्र कुमावत सरपंच डोडियाना, पीरू सिंह सरपंच बुधवाड़ा, गणपति मन्दिर सूरज पोल ब्यावर ने 21-21 हजार का सहयोग प्रदान किया। इसी प्रकार पीसांगन के आदित्य पाॅलीसेक प्रा.लि. एवं पेग्मा रिसोर्सेजेज प्रा.लि. ने एक-एक लाख, श्री पुखराज पहाड़िया, श्री शिवलाल फामड़ा, श्री छीतरमल कुमावत, श्री लोकेश लम्बा ने 11-11 हजार, सरवाड़ के श्री चन्द्रवीर सिंह राठौड़, श्री सुनिल माहेश्वरी ने 51-51 हजार, प्रियंका ग्रेनाईट, श्री सालासर ग्रेनाईट ने 41-41 हजार, मसूदा के श्री महेन्द्र सिंह राठौड़, श्रीमती उषा राठौड़, श्री विक्रमादित्य, श्री सुरेन्द्र सिंह, श्री सुवालाल उपाध्याय, श्री सुदर्शन सिंह, श्री पुखराज सिंह कुमावत ने 10-10 हजार, मैं एसबी मिनरल्स, श्री अभयराज पदावत, श्री रामपाल गुर्जर, मै. रिषभ ग्राइन्डिंग, श्री जितेन्द्र दाधिच ने 20-20 हजार, श्री पंकज कुमार टांक, मै. स्टोन इण्डस्ट्रीज, श्री नीरज टांक, श्री एम.एल. डांगा ने 10-10 हजार, कुमारी मुग्ध अग्रवाल, श्रीमती मिनाक्षी अग्रवाल, श्री नितीन अग्रवाल, ज्योति अग्रवाल, श्री प्रतिक अग्रवाल ने 20-20 हजार, श्री आदित्य आर्य ने 11 हजार, मै. सत्यप्रकाश माईनिंग ने 20 हजार, श्री बुद्धा मेहरात ने 10 हजार एवं श्री कैलाशचंद ने 25 हजार राशि का सहयोग प्रदान किया।




गांवों की दशा सुधारने के लिए किए करोड़ों रूपये व्यय - प्रो. देवनानी

शिक्षा राज्यमंत्राी ने किया बोराज में सड़क निर्माण कार्य का शुभारम्भ


अजमेर, 09 जून। शिक्षा राज्यमंत्राी प्रो. वासुदेव देवनानी ने कहा कि सरकार गांव में विकास पर पूर्ण ध्यान दे रही है। यहां सड़क, पानी व अन्य मूलभूत सुविधाएं प्रदान करने के लिए करोड़ों रूपए व्यय किए जा रहे है ताकि आमजन को राहत मिले।

शिक्षा राज्यमंत्राी शुक्रवार सांय बोराज गांव के भाटी की डांग रावत नगर में 59 लाख रूपए की लागत से बनने वाली मिसिंग लिंक सड़क के शुभारम्भ के अवसर पर ग्रामीणों को संबोधित कर रहे थे। 1.20 किलो मीटर लम्बी यह सड़क गांधी चैक भाटी की डांग से रावत काॅलोनी से होलीदड़ा गांव बोराज होते हुए संजय नगर तक बनेगी। उन्होंने कहा कि पिछले तीन साल में अजमेर उत्तर विधानसभा क्षेत्रा में करोडों़ की लागत से सड़कों का कायाकल्प हुआ है। क्षेत्रा में सभी तरफ प्रमुख सड़कों का निर्माण करवाया गया है। आने वाले सालों में सड़क सुदृढ़ीकरण पर कई करोड़ रूपये खर्च किए जाएंगे।

प्रो. देवनानी ने कहा कि मुख्यमंत्राी श्रीमती वसुन्धरा राजे चाहती है कि राजस्थान के शहरी क्षेत्रा सभी बुनियादी सुविधाओं से पूरी तरह लैस हों। राज्य सरकार के इन्हीं प्रयासों के तहत शहर से सटे हाथीखेड़ा, बोराज, माकड़वाली, लोहागल आदि गांवों में मिसिंग लिंक एवं ग्रामीण गौरव पथ योजनाओं के तहत सड़कों का निर्माण किया गया। पुष्कर रोड़ को चैड़ा करने का कार्य भी किया जा रहा है। गांव में पेयजल की समस्या के समाधान के लिए भी काजीपुरा में पानी की टंकी एवं पाइपलाइन पर 1.80 लाख रूपए व्यय किए जा रहे है। शिक्षा के क्षेत्रा में भी बोराज गांव में स्मार्ट क्लास रूम बनाकर बच्चों को उच्च गुणवत्ता की शिक्षा प्रदान की जा रही है।

उन्होंने कहा कि सरकार चिकित्सा के क्षेत्रा में भी भमाशाह योजना के तहत चिकित्सा सुविधा प्रदान कर रही वहीं बच्चियों के नाम राज लक्ष्मी योजना के तहत 50 हजार रूपए तक खाते में जमा करवाए जा रहे है। उन्होंने सभी से आग्रह किया कि वे स्वच्छता पर ध्यान दें तथा पानी का दुरूपयोग रोके।

इस मौके पर प्रधानमंत्राी उज्ज्वला गैस योजना के तहत तीन निःशुल्क गैस कनेक्शन राधा/धन्ना, सोहनी/सुवा तथा सोहनी /लाला को प्रदान किए गए। वहीं बोराज चतुर्थ, चामुण्डा माता काॅलोनी तथा गोटा काॅलोनी की आंगनबाड़ी केन्द्रों के बच्चों को खिलौने एवं डेªस भी वितरित किए गए।

समारोह में श्रीनगर के प्रधान श्रीमती सुनिता रावत एवं अध्यक्ष श्री अरविंद यादव ने भी अपने विचार व्यक्त कर सरकार की योजनाओं की जानकारी दी।

इस अवसर पर जिला परिषद सदस्य शमशेर सिंह, पंचायत समिति सदस्य महेन्द्र सिंह रावत, पूर्व सरपंच रतन सिंह, सीताराम शर्मा, राजकुमार एवं कुन्दन सिंह रावत सहित अनेक ग्रामीणजन उपस्थित थे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top