साध्वी जयश्री गिरी राजस्थान में गिरफ्तार, बाहुबली-2 देखने के बाद पुलिस को चकमा देकर हुर्इ थी फरार


अहमदाबाद। गुजरात में अहमदाबाद के साबरमती सेंट्रल जेल से 10 दिन की पैरोल पर रिहाई के बाद एक निजी अस्पताल में इलाज के लिए लार्इ गर्इ विवादास्पद महिला साध्वी तथा उत्तर गुजरात के मुक्तेश्वर मठ की पूर्व महंत साध्वी जयश्री गिरी, जो 14 जून को यहां से पुलिस को चकमा देकर फरार हो गर्इ थी, एक बार फिर पकड़ ली गर्इ है।

साध्वी जयश्री गिरी राजस्थान में गिरफ्तार, बाहुबली-2 देखने के बाद पुलिस को चकमा देकर हुर्इ थी फरार

क्राइम ब्रांच के आईजी जे के भट्ट ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर साध्वी तथा दो अन्य को राजस्थान के उदयपुर जिले में नाथद्वारा रोड के एक टोल नाके के पास एक गाड़ी से पकड़ा गया है। इस मामले में चार पुलिसकर्मियों समेत छह लोगों को 15 जून को ही गिरफ्तार किया गया था।

साध्वी शहर के थलतेज इलाके में एसजी हाईवे के निकट स्थित जाइडस कैडिला अस्पताल से शहर के हिमालया मॉल गर्इ थीं और वहां से पुलिस को झांसा देकर फरार हो गर्इ। फरार होने से साध्वी ने बाहुबली-2 भी देखी थी। उन्हें साबरमती जेल से चार जून को 10 दिन के पेरोल पर पुलिस निगरानी में जेल से रिहा किया गया था।

47 वर्षीय साध्वी जिसके खिलाफ अकेले बनासकांठा जिले में धोखाधडी, हत्या, शराब रखने जैसे आठ से अधिक मामले दर्ज है, को पांच करोड रूपये के सोने की धोखाधडी के मामले में पालनपुर में उनके आवास से जनवरी में पकडा गया था। उनके घर से 100 ग्राम वजन वाले सोने के 24 बिस्कुट, सवा करोड से अधिक की नकदी भी बरामद हुई थी।

इसके बाद उन्हें जूनागढ के एक प्रसिद्ध मंदिर के प्रबंधन से भी हटा दिया गया था और महामंडलेश्वर की उपाधि भी छीन ली गयी थी। वह 2008 में बनासकांठा के बडगाम स्थित मुक्तेश्वर मठ के तत्कालीन महंत संजय गिरी की हत्या के मामले में भी वांछित थीं। उनके पास से शराब भी बरामद हुई थी। उन्हें यहां साबरमती सेंट्रल जेल में रखा गया था।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top