edvertise

edvertise
barmer

फेसबुक पर हुई फ्रेंडशिप, अब शादी करके कोटा में 2 साल से विमंदित बच्चों को संभाल रही हैं तुर्की की जूलेहा


कोटा। जिन मानसिक विमंदित बच्चों को देख हम मुंह मोड़ लेते हैं। ऐसे ही बच्चों की तीन साल पहले 7000 किमी दूर तुर्की से आई जूलेहा कोटा में निशुल्क केयर कर रही हैं। कोटा के आर्टिस्ट सर्वेश हाड़ा से फेसबुक से फ्रेंडशिप होने के बाद ऐसे बच्चों की सेवा के लिए यहां रहने का मन बना लिया। यहां हाड़ा से 2015 में हिन्दू-विवाह रीति से शादी भी कर ली है। पिछले दो साल से जरूरतमंद परिवारों से जुड़े पांच बच्चों की केयर कर उन्हें सोशल बना रही है।


फेसबुक पर हुई फ्रेंडशिप, अब शादी करके कोटा में 2 साल से विमंदित बच्चों को संभाल रही हैं तुर्की की जूलेहा




- उन्होंने बताया कि वो अंकारा में एक लाख रुपए महीने के पैकेज पर रिहेबिलिटी सेंटर में टीचर थी। फादर उसके बिल्डर्स और ब्रदर कनाड़ा में इंजीनियर है।

- बताया कि यहां सर्वेश से फेस बुक पर फ्रेंडशिप हुई। इसी से पता चला कि कोटा में करीब 800 मानसिक विमंदित बच्चे हैं।

- मेरा सब्जेक्ट भी यही रहा है। सर्वेश के जर्नी ऑफ बुक स्वयंसेवी संगठन में वर्क के लिए इंडिया आने के लिए वीजा अप्लाई किया और मिल गया है।

मैं निशुल्क सेवा करूंगी:

- उन्होंने बताया कोटा अच्छा शहर है। यहां आकर खुशी हुई है। ऐसे बच्चे मेरे लिए आत्मा के समान है। मैं इंडिया में रहकर इनकी निशुल्क सेवा करूंगी।

- मेरे लिए पैसा इम्पॉर्टेंट नहीं हैं। मेरे फादर बिल्डर है। मैं उनकी इकलौती बेटी हूं। मेरी सेलरी एक लाख रुपए महीने थी। लेकिन, ऐसे बच्चों की सेवा का जुनून है, इसीलिए यहां हूं।

तुर्की की जूलेहा मानसिक विमंदित बच्चों को पढ़ाते हुए। बच्चों के मां-पिता भी उनसे बहुत खुश हैं।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top