edvertise

edvertise
barmer



बाडमेर काजरी के निदेशक ने कृषि एवं जल संरक्षण कार्य का अवलोकन किया
बाडमेर ,05 मई। काजरी केन्द्रीय शुष्क क्षेत्रीय अनुसंधान संस्थान के निदेशक डा.ओ.पी.यादव ने बाड़मेर जिले मंे केयर्न इंडिया की ओर कराए गए कृषि एवं जल संरक्षण कार्याें का अवलोकन किया। उन्होंने बाड़मेर मंे केयर्न इंडिया के साथ कृषि विकास की संभावनाएं तलाशी।

काजरी के निदेशक डा.ओ.पी.यादव ने तीन विभागाध्यक्षांे के साथ बाड़मेर जिले के विभिन्न स्थानांे पर केयर्न इंडिया की ओर से करवाए गए कार्याें का विस्तार से अवलोकन किया। उन्हांेने केयर्न इंडिया के सीएसआर हेड मनोज अग्रवाल से मुलाकात कर कृषि अनुसंधानों को किस तरह से किसानांे तक पहुंचाया जाए। इस बारे मंे विस्तार से विचार-विमर्श किया गया। इस दौरान केयर्न के डीजीएम शाश्वत कुलश्रेष्ठ समेत विभिन्न अधिकारी उपस्थित रहे।

रावतसर मंे अभिभावकांे की बैठक आयोजित

बाडमेर ,05 मई। राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय रावतसर मंे अध्यापक अभिभावक बैठक आयोजित हुई। इस दौरान परीक्षा परिणाम की जानकारी देने के साथ प्रवेशोत्सव कार्यक्रम के तहत अधिकाधिक बच्चों का प्रवेश दिलाने का आग्रह किया गया।

इस अवसर पर प्रधानाचार्य भंवराराम चौधरी ने राज्य सरकार की क्लिक योजना, एसडीएमसी मंे दान की राशि पर आयकर मंे छूट की जानकारी दी। साथ ही संबंधित आंगनबाड़ी केन्द्र पर्यवेक्षण की जानकारी उपलब्ध कराई गई। इस दौरान विद्यालय पूर्व विधार्थी परिषद का गठन किया गया। इस अवसर पर विद्यालय मंे संचालित व्यवसायिक शिक्षा की जानकारी अभिभावकांे को करवाई गई। इस दौरान पीटीए प्रभारी अणदाराम एवं जयराम समेत कई शिक्षक उपस्थित रहे।

कशीदाकारी से होगा आजीविका संवर्धनः अख्तर

बाड़मेर, 05 मई। ग्रामीण महिलाआंे को आत्मनिर्भर बनाने के लिए डवपलमेन्ट कमीशन हैण्डीक्राफ्ट और एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल फॉर हैण्डीक्राफ्ट के सहयोग से कशीदाकारी प्रशिक्षण चलाया जा रहा है। यह प्रशिक्षण सरहदी महिलाआंे को आर्थिक लिहाज से सक्षम बनाने मंे मददगार साबित होगा। महिला मंडल बाड़मेर आगोर की सचिव सराना अख्तर ने गागरिया में कशीदाकारी प्रशिक्षणार्थियांे को संबोधित करते हुए यह बात कही।

इस अवसर पर सराना अख्तर ने कहा कि महिलाए कशीदाकारी के विभिन्न नमूनों, रंगो की पहचान और बाजारीकरण के गुर सीख रही है। राज्य सरकार भी इस क्षेत्र का परम्परागत हुनर कषीदाकारी को निखारने का भरसक प्रयास कर रही है। उन्हांेने कहा कि कशीदाकारी के जरिए महिलाएं जीवन यापन करने के तरीको के बारे में सीख रही है। उनके मुताबिक कशीदाकारी प्रशिक्षण के बाद क्षेत्र में महिलाओ का कशीदाकार फेडरेशन बनाने की तैयारी भी कर रही है। महिलाएं इस प्रशिक्षण में इनके कशीदाकारी को एक नई दिशा देकर देश- विदेश में भी कशीदाकारी के कार्य को फैलाएंगे। महिला मंडल आगोर की तरफ से कशीदाकारी सिखा रहे डिजाइनर वसीम अकरम खान ने कहा कि महिलाओ में बहुत हुनर है जिसे हम निखारने की कोशिश कर रहे है। महिला मण्डल गागरिया बा्रंच मेनेजर मीरा कार्की ने कहा कि इस पा्रेजेक्ट का उददेश्य महिलाओ के हुनर को सही दिशा देकर आज के बाजारीकरण के दौर में आगे बढाना है। उन्हांेने कहा कि क्षेत्रीय हूनर को देश-विदेश स्तर पर विशेष पहचान दिलानी है। साथ ही महिलाओ को सक्षम बनानकर उनकी आजीविका को बढाना है।


0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top