edvertise

edvertise
barmer



अजमेर शौचालय निर्माण का बकाया भुगतान शीघ्र होगा - बी.चन्द्रकला

केन्द्रीय पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय की अवर सचिव आई अजमेर

स्वच्छ भारत मिशन के कामों की समीक्षा, देश में और गति पकडे़गा अभियान


अजमेर, 11 मई। केन्द्रीय पेयजल स्वच्छता मंत्रालय की अवर सचिव बी.चन्द्रकला ने कहा कि प्रधानमंत्राी श्री नरेन्द्र मोदी एवं मुख्यमंत्राी श्रीमती वसुन्धरा राजे द्वारा देश और प्रदेश को खुले में शौच के अभिशाप से मुक्त करने के लिए हो रहे प्रयासों को और अधिक तेज किया जाएगा। इसके लिए विभिन्न स्तरों पर क्रियान्वयन में समन्वय स्थापित किया जाएगा। अजमेर जिले में शौचालय निर्माण का बकाया भुगतान भी विशेष प्रयास कर शीघ्र करवाया जाएगा।

केन्द्रीय पेयजल स्वच्छता मंत्रालय की अवर सचिव बी.चन्द्रकला ने आज कलेक्ट्रेट में बैठक लेकर अजमेर में स्वच्छ भारत मिशन के तहत हुए कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने जानकारी दी कि अजमेर जिले में स्वच्छ भारत मिशन के तहत बहुत अच्छा कार्य हुआ है। ग्रामीण क्षेत्रा को पूरी तरह स्वच्छ से मुक्त कर दिया गया है। इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा जो कार्य किया गया, वह प्रशसंनीय है। इस गति को और तेज किए जाने की आवश्यकता है।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए जहां -जहां भी शौचालय बन गए हैं, वहां लोगों को उन्हें उपयोग करने के लिए प्रेरित किया जाए। इसके लिए प्रत्येक ग्राम पर गठित निगरानी समितियों से निरंतर संवाद रखा जाए ताकि गांवों में प्रत्येक व्यक्ति अपने घर में बने शौचालय का उपयोग करे। समय-समय पर आधिकारिक स्तर पर भी इसकी जांच की जाए ताकि हम अपने उद्देश्य में पूरी तरह सफल हो सके।

अवर सचिव बी. चन्द्रकला ने अजमेर जिले में स्वच्छ भारत मिशन के तहत गठित निगरानी समिति, स्वच्छता दूत, प्रेरक, जिला संदर्भ व्यक्ति और जनप्रतिनिधियों के सहयोग व भागीदारी की भी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि ऐसे सभी व्यक्तियों को प्रोत्साहित किए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि शौचालय निर्माण से संबंधित जो भी भुगतान बकाया है। उसे विशेष प्रयास कर दिलवाया जाएगा। बैठक में जिला परिषद के सीईओ श्री निकया गोहाएन, अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री अबु सूफियान चैहान, एसीईओ श्री संजय माथुर सहित स्वच्छ भारत मिशन से जुड़े अधिकारी एवं विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों में काम करने वाले जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।



जिला प्रभारी मंत्राी श्री भड़ाना और प्राधिकरण अध्यक्ष श्री हेड़ा ने किया पट्टांे का वितरण

शहरी जन कल्याण शिविर में आमजन को मिली राहत


अजमेर, 11 मई। शहरी क्षेत्रा अजमेर में गुरूवार को आयोजित शहरी जन कल्याण शिविर के अन्तर्गत वार्डवासियों से प्राप्त आवेदनों पर त्वरित कार्यवाही कर आमजन को राहत प्रदान की जा रही है।

जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल ने बताया कि जिले के प्रभारी मंत्राी श्री हेम सिंह भडाना ने अजमेर विकास प्राधिकरण के विश्राम स्थली पर आयोजित जन कल्याण शिविर में गुरूवार को मौके पर 16 पट्टे, अवधि विस्तार प्रकरण और मांग पत्रों का आवेदकों को वितरण किया। इस अवसर पर प्राधिकरण अध्यक्ष श्री शिव शंकर हेड़ा भी उपस्थित थे। प्राधिकरण के समक्ष शिविर में गुरूवार को 23 आवेदन आए जिसमें 6 मामले पट्टो से सम्बन्धित थे। इनमें पट्टे और मांग पत्रा आदि का लोगों को मौके पर वितरित करके उन्हें राहत पहुंचाई गई।

उन्होंने बताया कि शहरी जन कल्याण शिविर के दौरान गुरूवार को अजमेर नगर निगम द्वारा 15 कौशल प्रशिक्षण आवेदन, 5 जन्म मृत्यु प्रमाण पत्रा, 24 व्यक्तिगत शौचालय एवं एक सिवरेज कनेक्शन के लिए आमजन को राहत प्रदान की गई। शिविर में नगरीय कर विकास के 98 हजार 973 रूपए जमा किए गए।

सहायता राशि का वितरण

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा शहरी जन कल्याण शिविर में अन्तर्जातीय विवाह योजना एवं अनुप्रति योजना के लिए 15 लाख 25 हजार की राशि से लाभान्वित किया गया।


जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल ने बताया कि विश्राम स्थली में आयोजित शहरी जन कल्याण शिविर के दौरान अन्तर्जातीय विवाह योजना के 3 पात्रा युगलों को 15 लाख की राशि से लाभान्वित किया गया। इसमें से 2.50-2.50 लाख तीनों युगलों के संयुक्त खाते में जमा किए गए। शेष 2.50 लाख की राशि की 8 वर्ष के लिए एफडीआर बनाकर मौके पर वितरित की गई। भजनगंज के प्रमोद कुमार एवं लक्ष्मी रूपाणी, पसंद नगर के रूपचंद देवार एवं सरीता तथा रामगंज के अक्षय तीवारी एवं जया को इस योजना के द्वारा लाभान्वित किया गया। इसी प्रकार अनुप्रति योजना अन्तर्गत सराना निवासी श्री मनमोहन सिंह को राजस्थान प्रशासनिक सेवा प्रारम्भिक परीक्षा उत्तीर्ण करने पर 25 हजार की राशि स्वीकृत कर लाभान्वित किया गया।




न्याय आपके द्वार में 2 हजार 645 प्रकरणों का निस्तारण

अजमेर, 11 मई। राजस्व लोक अदालत अभियान न्याय आपके द्वार 2017 के अन्तर्गत गुरूवार को जिले में 2 हजार 645 प्रकरणों का निस्तारण कर आमजन को राहत प्रदान की गई। जिला कलक्टर स्तर पर 4 एवं अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन स्तर पर 9 प्रकरण निस्तारित किए गए।

जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल ने बताया कि उपखण्ड अधिकारी स्तर पर 221 प्रकरण निस्तारित किए गए। नसीराबाद के सनोद में 57 खाता दुरूस्ती, विभाजन, खातेदारी, अन्य के एक-एक, टाॅडगढ़ के मालातों की बेर में खाता दुरूस्ती के 45, विभाजन, खातेदारी, स्थायाी निषेधाज्ञा, नामांतरण, पत्थर गढ़ी के एक-एक, अन्य 3, किशनगढ़ के सलेमाबाद में खाता दुरूस्ती के 21, विभाजन, खातेदारी घोषणा, स्थयी निषेधाज्ञा के एक-एक, इजराय, अन्य 5-5, सरवाड़ के मोहनपुरा में खाता दुरूस्ती के 10, खातेदारी घोषणा के 4, स्थायी निषेधाज्ञा के एक, इजराय के 5, पत्थर गढ़ी व अन्य 2-2, मसूदा के लोडियाना में खाता दुरूस्ती के 15, खातेदारी घोषणा के 2, अन्य एक, ब्यावर के बडकोचरा में विभाजन के 4, नामांतरण अपील के एक, अन्य 3, केकड़ी के गोरधा में स्थायी निषाधाज्ञा के एक, इजराय के एक, रास्ते के एक, अन्य 4, रूपनगढ़ के नोसल में खाता दुरूस्ती के एक, स्थायी निषेधाज्ञा के एक, पत्थर गढ़ी एवं अन्य 2-2, पीसांगन के बिडिक्चियावास में विभाजन के एक, स्थायी निषेधाज्ञा के एक, अन्य 2, सहायक कलक्टर द्वारा गगवाना में नामांतरण अपील के 2, अन्य 2, भिनाय के चापानेरी में विभाजन के एक, खातेदारी घोषणा एक, अन्य एक प्रकरण निस्तारित किए गए।

उन्होंने बताया कि तहसीलदार एव ंनायब तहसीलदार स्तर पर 4 हजार 411 प्रकरण निस्तारित किए गए। अजमेर के गगवाना में नामांतरण के 3, सीमाज्ञान के 11, नकले 368, अन्य 37, ब्यावर के बडकोचरा में नामांतरण 65, खाता दुरूस्ती के एक, सीमाज्ञान के 3, राजस्व नकले 44, किशनगढ़ के सलेमाबाद में नामंातरण 36, खाता दुरूस्ती के 21, खाता विभाजन के 12, सीमाज्ञान के 5, धारा 251 के 3, नकले 45, नसीराबाद के सनोद में नामांतकरण के 83, खाता दुरूस्ती के 65, खाता विभाजन के 2, सीमाज्ञान के 3, धारा 251 के एक, राजस्व नकले 115, अन्य 92, सरवाड़ के मनोहरपुरा में नामांतरण के 215, खाता दुरूस्ती के 155, खाता विभाजन के 24, सीमाज्ञान के एक, धारा 251 के एक, राजस्व नकले 165, अन्य 10, पीसांगन के बिडक्चिियावास में नामांतरण के 25, खाता दुरूस्ती के 16, खाता विभाजन के 9, सीमाज्ञान के 5, राजस्व नकले 75, भिनाय के चापानेरी में नामांतरण के 22, खाता दुरूस्ती के 11, राजस्व नकले 60, टाॅडगढ़ के मलोतो की बेर में नामांतरण के 47, खाता दुरूस्ती के118, खाता विभाजन के 18, नए राजस्व ग्राम के प्रस्ताव एक, सीमाज्ञान 9, धारा 251 के 2, राजस्व नकले 170, अन्य 528, रूपनगढ़ के नोसल में नामांतरण के 85, खाता दुरूस्ती के 2, सीमाज्ञान के 3, राजस्व नकले 203, अन्य 187, सावर के गोरधा में नामांतरण के 165, खाता दुरूस्ती के89, खाता विभाजन के 11, नए राजस्व ग्राम के प्रस्ताव एक, राजस्व नकले 160, अन्य 185 तथा बिजय नगर के लोडियाना में नामांतण के 83, खाता दुरूस्ती के 15, खाता विभाजन, सीमाज्ञान, धारा 251 के 7-7, राजस्व नकले 303 एवं अन्य 39 प्रकरण निस्तारित कर ग्रामीणों को राहत पहुंचायी गई।




राजस्व लोक अदालत अभियान: न्याय आपके द्वार 2017

शुक्रवार को 6 ग्राम पंचायतों में लगेंगे शिविर


अजमेर, 11 मई। राज्य सरकार के निर्देशानुसार आयोजित किए जाने वाले राजस्व लोक अदालत अभियान - न्याय आपके द्वार 2017 के तहत शुक्रवार को 6 ग्राम पंचायतों में शिविरों का आयोजन किया जाएगा।

जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल ने बताया कि 12 मई शुक्रवार को झड़वासा, केसरपुरा, तारागढ़, बांदरसिंदरी, जुनिया एवं भिनाय में राजस्व लोक अदालत अभियान शिविर आयोजित होंगे।




पं.दीनदयाल उपाध्याय पंचायत जन कल्याण शिविर

जिले की 11 ग्राम पंचायतों में 1260 परिवारों को जारी किये गए आवासीय भूखड़ों के पट्टे

अजमेर 11 मई। राज्य सरकार के निर्देश पर आयोजित होने वाले पं.दीनदयाल उपाध्याय पंचायत जन कल्याण शिविर में गुरूवार को आयोजित पंचायत शिविरों में आठ पंचायत समितियों की 11 ग्राम पंचायतों में 1260 पट्टाहीन पात्रा परिवारों को आबादी भूमि के पट्टे बनाकर वितरित किये गए।

जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल ने बताया कि गुरूवार को आयोजित दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण पट्टा शिविर में पंचायत समिति मसूदा की ग्राम पंचायत लोडियाना में 65 एवं दोलतपुरा प्रथम में 76, पंचायत समिति जवाजा की ग्राम पंचायत मालातों की बेर में 143 एवं बडकोचरा मे 95, पंचायत समिति भिनाय की ग्राम पंचायत चापानेरी में 81, पंचायत समिति अंराई की मनोहरपुरा ग्राम पंचायत में 245, पंचायत समिति किशनगढ की ग्राम पंचायत सलेमाबाद में 98, पंचायत समिति पीसांगन की ग्राम पंचायत बिडिक्चयावास में 105 एवं लामाना में 110, पंचायत समिति सरवाड़ की हिगोनिया ग्राम पंचायत में 102 पात्रा परिवारों को आबादी भूमि के पट्टे बनाकर वितरित किये गए है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top