edvertise

edvertise
barmer



जालोर अधिकारी अपनी कार्य पद्धति में बदलाव लाकर वांछित परिणाम दें- सोनी

जिला कलेक्टर ने साप्ताहिक बैठक में अधिकारियों को दिए आवश्यक निर्देश

जालोर 22 मई - जिला कलक्टर एल.एन. सोनी ने अधिकारियों को अपनी कार्य पद्धति में बदलाव के निर्देश देते हुए कहा कि जिले में फ्लैगशिप योजनाओं, विकास कार्यो एवं जन समस्याओं तथा राजस्थान सम्पर्क पोर्टल के बकाया मामलों आदि के निस्तारण में तेजी लाये साथ ही विभागीय कार्यो का प्रभावी निरीक्षण करते हुए वांछित सूचनाओं को यथा समय में प्रेषित किया जाना भी सुनिश्चित करें।

जिला कलक्टर एल.एन. सोनी ने सोमवार को कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में आयोजित बैठक में जिला स्तरीय अधिकारियों को सख्त शब्दों में निर्देशित किया कि भविष्य में कोई भी अधिकारी बिना सक्षम लिखित या मौखिक स्वीकृति के अपना मुख्यालय नही छोडेगे साथ ही प्रत्येक कार्यालयअध्यक्ष अपने कार्यालय में मूवमेन्ट रजिस्ट्रर अनिवार्य रूप से खोले तथा इसका नियमित संधारण भी सुनिश्चित करें। उन्होनें कहा कि अधिकारी राजस्थान सम्पर्क पोर्टल एवं पे-मेनेजर आदि को प्रतिदिन खोले तथा प्राप्त ई-मेल एवं वांछित पत्रों को पढते हुए उन पर पूर्ण मार्किग आदि भी करें। उन्होनें अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे अपनी कार्य शैली में परिवर्तन लाते हुए राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप ठोस परिणाम दे साथ ही अपने अधीनस्थ अधिकारियों एवं कार्मिकों के कार्यो भी पाबन्द कर उनके द्वारा किये जाने वाले कार्यो पर भी प्रभावी निगरानी रखें।

सोनी ने बैठक में राज्य सरकार द्वारा संचालित फ्लैगशिप योजनाओं की प्रगति की विस्तार से समीक्षा करते हुए कहा कि सभी सम्बन्धित विभाग अपनी विभागीय योजनाओं के निस्तारण में किसी भी स्तर पर कौत्ताही नही बरते अन्यथा सम्बन्धित के विरूद्व अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेगी। उन्होनें डिस्कांम के अधीक्षण अभियन्ता बी.एल. दहिया को निर्देशित किया कि विशेष परिस्थितियों को छोडकर बार-बार विधुती कटौती नही होनी चाहिए वही फीडर सुधार एवं विधुत छीजत के मामलों में भी विशेष ध्यान दें साथ ही राजकीय कार्यालयों व भवनों में विद्युतीकरण व अन्य समस्याओं के मामलों का प्रथम प्राथमिकता से निस्तारण करें। उन्होनें जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे अपने सभी राजकीय विधालयों में छात्रा कोष में जमा राशि की सूचना संकलित कर प्रस्तुत करें।

जिला कलेक्टर ने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियन्ता एन.के. माथुर को कहा कि सडकों की गुणवत्ता के लिए निरन्तर जांच कार्य करते रहे तथा टोल सडकों की जांच में कौत्ताही पाये जाने पर सम्बन्धित को नोटिस देने में विलम्ब नही करें साथ ही नोटिस की प्रति कलेक्ट्रेट को भी भिजवाये ताकि उचित कार्यवाही की जा सकें। उन्होनें भीनमाल बाईपास गौरव पथ के निर्माण कार्य की समीक्षा के दौरान विधुत एवं जालोर नगर परिषद के आयुक्त को निर्देशित किया कि संयुक्त रूप से निरीक्षण कर आवश्यक रिपोर्ट प्रस्तुत करें। उन्होनें जालोर नगर परिषद के आयुक्त को यह भी निर्देश दिये कि नगरीय सीमा में राजस्थान सम्पत्ति विरूपण के तहत मामले दर्ज कर सम्बन्धित के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवायें एवं अतिक्रमण के मामलों में किसी भी स्तर पर ढिलाई नही बरतें।

बैठक में अतिरिक्त जिला कलेक्टर नरेश बुनकर ने गत बैठक में लिये गये निर्णयों एवं क्रियान्विति की जानकारी देते हुए कहा कि सीएम काॅन्फ्रेन्स से सम्बन्धित चाही गई जानकारी व सूचना जिला स्तरीय अधिकारी तत्काल भिजवायें साथ ही नोडल विभाग भी सूचना इकजाई कर भिजवायें न कि अलग-अलग। बैठक में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हरिराम मीना, जालोर उपखण्ड अधिकारी राजेन्द्रसिंह, जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियन्ता कमलजीत व वाटर शेड के अधीक्षण अभियन्ता दिलीप वर्मा सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

----000---

बीस सूत्राी कार्यक्रम की बैठक सम्पन्न

जालोर 22 मई - जिला कलेक्टर एल.एन. सोनी की अध्यक्षता में बीस सूत्राी कार्यक्रम की द्वितीय स्तरीय समिति की बैठक सम्पन्न हुई जिसमें गत माह में अर्जित प्रगति की समीक्षा करते हुए आवश्यक निर्देश दिए।

कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में सोमवार को आयोजित बैठक में जिला कलक्टर एल.एन सोनी ने कहा कि बीस सूत्राी कार्यक्रम के तहत जिन विभागों को वर्तमान में विभागीय लक्ष्य प्राप्त नही हुए है वे गत वर्ष के लक्ष्यों को आधार मानते हुए कार्य करें। उन्होनें जिला रसद अधिकारी सम्पत राज वडेरा को निर्देशित किया कि वे पाॅस मशीनों से रसद सामग्री के वितरण पर पूर्ण नजर रखें तथा प्रवर्तन निरीक्षक से जांच करवायें। उन्होनें महिला एवं बाल विकास विभाग की उप निदेशक श्रीमती सती चैधरी को कहा कि जिले में आंगनवाडी एवं सहायिकाओं के रिक्त पदों को भरने के लिए सम्बन्धित ग्राम की पात्रा महिलाओं को प्रेरित कर आवेदन करवायें। उन्होनें वन विभाग के सहायक उप वन संरक्षक जयदेव सिंह को निर्देशित किया कि जालोर नगरीय सीमा में यदि वन विभाग की जमीन खाली पडी है तो वहाॅ पर पार्क के लिए आवश्यक कार्य कर अपनी रिपोर्ट दें।

बैठक में अतिरिक्त जिला कलेक्टर नरेश बुनकर एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हरिराम मीना सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थें।

-----000---

जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक मंगलवार को
जालोर 22 मई -अग्रणी बैंक योजना के तहत जिला स्तरीय समन्वय समिति व जिला स्तरीय साख समीक्षा समिति की बैठक जिला कलक्टर एल.एन.सोनी की अध्यक्षता में 23 मई मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार मंे आयोजित की जायेगी।

अग्रणी (मार्गदर्शी)बैंक के मुख्य प्रबन्धक एम.एस. राठौड ने बताया कि जिला स्तरीय समन्वय समिति (डीएलसीसी) व जिला स्तरीय साख समीक्षा समिति (डीएलआरसी) की बैठक जिला कलक्टर एल.एन.सोनी की अध्यक्षता में 23 मई मंगलवार को प्रातः 11 बजे कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की जायेगी जिसमें जिले में बैंकिंग एवं वित्तीय संस्थाओं द्वारा अर्जित प्रगति एवं उपलब्धियों, वार्षिक साख योजना, सरकारी ऋण योजनाओं एवं अन्य बैंकिंग गतिविधियों की समीक्षा की जायेगी।

---000---

जनप्रतिनिधियों की कार्यशाला मंगलवार को
जालोर 22 मई - जनप्रतिनिधियों की एक दिवसीय कार्यशाला 23 मई मंगलवार को प्रातः 10 बजे जिला परिषद सभागार में आयोजित की जायेगी जिसमें ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित पट्टा वितरण अभियान की जानकारी एवं समीक्षा की जायेगी।

मुख्य कार्यकारी अधिकराी हरिराम मीना ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा वर्तमान में ग्रामीण क्षेत्रों में पट्टा वितरण अभियान संचालित किया जा रहा जिसकेे तहत पंचयतों में पट्टाहीन पात्रा व्यक्तियों को आबादी भूमि के पट्टे एवं भूखण्डहीन पात्रा व्यक्तियों केा भूखण्ड आवंटित किये जाने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस पट्टा वितरण अभियान की पूर्ण जानकारी देने के लिए जनप्रतिनिधियों की एक दिवसीय कार्यशाला 23 मई मंगलवार को प्रातः 10 बजे जिला परिषद सभागार में आयोजित की जायेगी जिसमें सभी विधायकों, जिला परिषद सदस्यों एवं प्रधानगणों को आमन्त्रिात किया गया है।

---000---

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top