edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर अंतिम छोर तक पानी पहुंचाने के साथ विकास

कार्याें की प्रभावी मोनेटरिंग करेंःगोयल


बाड़मेर, 18 मई। जलदाय विभाग पेयजल परियोजनाआंे के अंतिम छोर तक पानी पहंुचाना सुनिश्चित करें। ताकि गर्मी के मौसम मंे आमजन को किसी तरह की दिक्कत नहीं हो। विकास कार्याें की प्रभावी मोनेटरिंग के साथ गुणवत्ता मंे किसी तरह की कौताही नहीं बरती जाए। जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री सुरेन्द्र गोयल ने गुरूवार को जिला मुख्यालय पर कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल मंे आयोजित विकास योजनाआंे संबंधित समीक्षा बैठक के दौरान यह बात कही।

समीक्षा बैठक के दौरान प्रभारी मंत्री ने कहा कि भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना में निजी अस्पतालों की भूमिका की प्रभावी मोनिटरिंग एवं अब तक हुए भुगतान की जांच करके आगामी बैठक मंे रिपोर्ट उपलब्ध करवाई जाए। उन्हांेने कहा कि गर्मी के मौसम को ध्यान में रखते हुए सभी इलाकांे मंे जल परिवहन की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। टैंकर्स की जियो टैगिंग करने के साथ जलापूर्ति की प्रशासनिक अधिकारियांे से मोनेटरिंग की जाए। उन्हांेने कहा कि अगर पेयजल परिवहन मंे किसी तरह की लापरवाही पाई गई तो संबंधित अधिकारी को निलंबित किया जाएगा। उन्हांेने कहा कि राज्य सरकार की महत्ती योजनाओं का लाभ आमजन तक पहुंचाने के लिए समन्वित प्रयास किए जाए। उन्होंनें सभी टंकियों की सफाई करवाने के निर्देश दिए। प्रभारी मंत्री गोयल ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत खुले में शौच से मुक्ति कार्यक्रम की प्रगति की जानकारी ली तथा मुख्यमंत्री की बजट घोषणाओं, फ्लैगशिप योजनाओं की क्रियान्विति को गंभीरता से लेकर समयबद्ध तरीके से पूर्ण करवाने को कहा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के द्वितीय चरण के सभी कार्य 30 जून तक पूर्ण करवाएं। उन्होंने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों को कहा कि ग्रामीण गौरव पथ के निर्माण कार्य की गुणवता में किसी प्रकार की कोताही नहीं बरती जानी चाहिए। प्रभारी मंत्री ने सभी अधिकारियों को आपसी सामंजस्य से कार्य करने को कहा। प्रभारी मंत्री ने बाड़मेर शहर मंे पेयजल आपूर्ति के लिए भिजवाए गए प्रस्ताव को स्वीकृत करवाने का भरोसा दिलाया। बैठक के दौरान जलदाय विभाग की क्षतिग्रस्त टंकियांे को चिन्हित करके गिराने के निर्देश दिए गए। उन्हांेने आरओ लगाने मंे लापरवाही बरतने वाली फर्म के खिलाफ भी कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्हांेने बीपीएल परिवारांे के घर के बाहर बीपीएल परिवार लिखवाने तथा मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तीसरे चरण की कार्य योजना जन प्रतिनिधियांे से विचार-विमर्श के उपरांत ही भिजवाने को कहा।

बाड़मेर-जैसलमेर सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी ने कहा कि आगामी दो माह तक चारे, पानी एवं रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए प्रभावी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। अनियमितताआंे को रोकने के लिए उपखंड एवं विकास अधिकारियांे की टीम बनाकर निरीक्षण करवाया जाए। उन्हांेने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय विद्युतीकरण योजना के तहत मौजूदा समय मंे सर्वे चल रहा है इसमंे कोई भी परिवार पीछे नहीं रहे, इसके लिए जन प्रतिनिधि एवं अधिकारी प्रयास करें। संसदीय सचिव लादूराम विश्नोई ने टयूबवैल खुदाई के बाद खारा पानी निकलने वाले स्थानांे पर आरओ प्लांट लगाने की जरूरत जताई। उन्हांेने कहा कि बांसवाड़ा एवं डूंगरपुर मंे पदस्थापित चिकित्सा कार्मिकांे को बाड़मेर स्थानांतरित करवाया जाए। ताकि बेहतरीन चिकित्सा सुविधा मिल सके। इस दौरान सिवाना विधायक हमीरसिंह भायल ने कहा कि अधिकाधिक लोगांे को पटटा वितरण करवाने के साथ न्याय आपके द्वार अभियान से लाभांवित करवाया जाए। बाड़मेर विधायक मेवाराम जैन ने पेयजल एवं आमजन की समस्याआंे से जुड़े मुददांे पर अपनी बात रखी।

प्रभारी सचिव राजीवसिंह ठाकुर ने कहा कि महात्मा गांधी नरेगा योजनान्तर्गत अधिकाधिक लोगांे को टांका निर्माण कार्याें से लाभांवित किया जाए। उन्हांेने कहा कि अनुमत कार्याें को प्राथमिकता से करवाया जाए। प्रभारी सचिव ने कहा कि मनरेगा के तहत निर्मित अनाज भंडारांे को प्राथमिकता से संबंधित राशन डीलर को आवंटित करते हुए उसका उपयोग सुनिश्चित किया जाए। इसमंे लापरवाही बरतने वाले डीलरांे के लाइसेंस निरस्त किए जाए। उन्हांेने कहा कि राशन डीलरांे को सामग्री वितरण की रसीद आवश्यक रूप से देने के लिए पाबंद किया जाए। उन्हांेने कहा कि खाद्य सामग्री वितरण मंे किसी तरह की अनियमितता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते ने कहा कि पटटा वितरण एवं न्याय आपके द्वार अभियान से अधिकाधिक लोगांे को लाभांवित करवाने के लिए प्रशासनिक अधिकारियांे को निर्देशित किया गया है। उन्हांेने जन कल्याणकारी योजनाआंे का अधिकाधिक प्रचार-प्रसार करवाने की बात कही। उन्हांेने कहा कि पेयजल परिवहन संबंधित समस्त सूचियां जन प्रतिनिधियांे को उपलब्ध करवाई जा रही है। उन्हांेने बैठक मंे दिए गए निर्देशांे की नियमित रूप से समीक्षा करवाकर आमजन को अधिकाधिक राहत पहुंचाने का भरोसा दिलाया। बैठक के दौरान चौहटन प्रधान कुंभाराम सेंवर, गडरारोड़ प्रधान तेजाराम कोडेचा, गिड़ा प्रधान लक्ष्मणराम ने पेयजल परियोजनाआंे के लिए पर्याप्त बजट एवं कार्मिक उपलब्ध कराने का मामला उठाया। चौहटन प्रधान ने सीमांत क्षेत्र विकास कार्यक्रम के तहत फायरबिग्रेड उपलब्ध कराने की बात रखी। इस दौरान पाटोदी प्रधान रसीदा बानो ने तेज आंधी से प्रभावित परिवारांे को राहत पहुंचाने, सिवाना प्रधान श्रीमती गरिमा राजपुरोहित ने रातड़ी ग्राम पंचायत मंे स्वच्छ भारत मिशन के तहत अनियमितता एवं चिकित्सा कार्मिक संबंधित प्रकरण उठाया। इस दौरान जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने ग्रामीण विकास योजनाआंे एवं कार्यक्रमांे की प्रगति से अवगत कराया। वहीं कोषाधिकारी दिनेश बारहठ ने संपर्क पोर्टल पर दर्ज प्रकरणांे की जानकारी दी। बैठक के दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी.बिश्नोई, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा.गुंजन सोनी, अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक सुरेश कुमार दाधीच समेत विभिन्न जन प्रतिनिधिगण एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top