edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर कोई भी विद्यालय विद्युत कनेक्शन से वंचित नहीं रहेः चौधरी

-विद्यालयांे मंे आधारभूत सुविधाएं सुनिश्चित करने के निर्देश


बाड़मेर, 16 मई। जिले मंे पंडित दीनदयाल उपाध्याय विद्युतीकरण योजना के तहत विद्यालयांे मंे प्राथमिकता से विद्युत कनेक्शन उपलब्ध करवाए जाए। कोई भी विद्यालय विद्युत कनेक्शन से वंचित नहीं रहना चाहिए। इसके लिए ब्लाक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी एवं संबंधित संस्था प्रधान की जिम्मेदारी निर्धारित की जाए। बाड़मेर-जैसलमेर सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल मंे स्कूल सलाहकार समिति की बैठक के दौरान यह बात कही।

सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी ने कहा कि बाड़मेर एवं बालोतरा क्षेत्र मंे विद्युतीकरण के लिए 500 करोड़ की स्वीकृति जारी की गई है। मौजूदा समय मंे सर्वे का कार्य चल रहा है। आगामी डेढ़ साल मंे विद्युतीकरण का कार्य पूर्ण होगा। उन्हांेने कहा कि जिन विद्यालयांे के भवन मरम्मत योग्य अथवा बेहद खराब स्थिति मंे है उनको चिन्हित किया जाए। उन्हांेने कहा कि विद्यालयांे मंे आधारभूत सुविधाएं सुनिश्चित करने के लिए समन्वित प्रयास किए जाए। उन्हांेने कहा कि ब्लाक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारियांे की कार्य संपादन के आधार पर ग्रेडिग निर्धारित की जाए। संसदीय सचिव लादूराम विश्नोई ने कहा कि शिक्षा विभाग के अधिकारी समय पर विद्यालयांे को क्रमोन्नत करवाने के प्रस्ताव उच्च स्तर पर भिजवाएं। ताकि समय रहते विद्यालयांे को क्रमोन्नत करवाया जा सके। जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते ने कहा कि ब्लाक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी प्राथमिकताएं निर्धारित करें। वे नियमित रूप से विद्यालयांे का निरीक्षण करने के साथ विद्यार्थियांे के शैक्षणिक स्तर को जांचे। उन्हांेने प्रतिनियुक्ति पर लगे शिक्षकांे को हटाने के साथ वास्तविक रूप से इसकी पालना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्हांेने कहा कि प्रतिनियुक्ति पर लगे शिक्षक कार्य मुक्त होने के साथ संबंधित विद्यालय मंे कार्यग्रहण करें। उन्हांेने कहा कि प्रतिनियुक्ति पर लगे शिक्षक कार्यग्रहण नहीं करें,उसका वेतन नहीं बनाया जाए। जिला कलक्टर ने कहा कि प्रतिनियुक्ति निरस्त नहीं होने पर संबंधित ब्लाक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी की व्यक्तिगत जिम्मेदारी तय की जाएगी। उन्हांेने विद्यालय भवन निर्माण के लिए संबंधित अधिकारियांे को निरंतर प्रयास करने के निर्देश देते हुए जिला स्तर से अपेक्षित सहयोग करवाने का भरोसा दिलाया। उन्हांेने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय विद्युतीकरण योजना के सर्वे से कोई परिवार पीछे नहीं छूटे, इसके लिए सरपंच एवं अन्य जन प्रतिनिधियांे के अलावा शिक्षकांे के जरिए भी आमजन तक जानकारी पहुंचाई जाए। उन्हांेने कहा कि मनरेगा के तहत बनाए गए ख्ेाल मैदानांे के समुचित उपयोग के लिए विद्यार्थियांे को प्रोत्साहित किया जाए। इस दौरान जिला प्रमुख श्रीमती प्रियंका मेघवाल ने कहा कि विद्यालयांे मंे शैक्षणिक सुधार के लिए प्रयास किए जाए। बैठक के दौरान जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक ओमप्रकाश शर्मा, धारा संस्थान के महेश पनपालिया समेत विभिन्न विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक शिक्षा प्रेमचंद सांखला ने गत बैठक की कार्यवाही के पठन के साथ आगामी कार्य योजना के बारे मंे विस्तार से जानकारी दी। बैठक मंे रामकुमार जोशी ने विद्यालयांे के भवन निर्माण के लिए डिजाइन निर्धारित करने, ताराचंद जाटोल ने क्षतिग्रस्त भवनांे की मरम्मत करवाने, ग्रामीण विकास एवं चेतना संस्थान के विक्रमसिंह ने सरकारी स्कूलांे मंे हुए नवाचारांे की सोशियल मीडिया पर ब्राडिंग करने की जरूरत जताई।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top