edvertise

edvertise
barmer



ब्यावर.उसने बनाया था युवती को अपनी हवस का शिकार, कोर्ट में सबके सामने किया एेसा इशारा कि पैरों तले सबके खिसक गई जमीन


अपर जिला न्यायाधीश संख्या एक में शुक्रवार को सामूहिक बलात्कार प्रकरण की सुनवाई के दौरान आरोपित के मजिस्टे्रट के सामने ही पीडि़ता को जान से मारने की धमकी देने का मामला सामने आया है।

उसने बनाया था युवती को अपनी हवस का शिकार, कोर्ट में सबके सामने किया एेसा इशारा कि  पैरों तले सबके खिसक गई जमीन


पीडि़ता की शिकायत पर अदालत ने सिटी थाना पुलिस को पीडि़ता को सुरक्षा मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं। इस मामले में अब सुनवाई सोमवार को होगी।

अपर जिला जज संख्या एक की अदालत में शुक्रवार को किशोरी से सामूहिक दुराचार प्रकरण में पीडि़ता व उसके परिजन के बयान हो रहे थे। इस दौरान मुख्य आरोपित शहाबुद्दीन न्यायालय में ही था। आरोप है कि पीडि़ता बयान देकर निकल रही थी कि सामने खड़े आरोपित शहाबुद्दीन ने पीडि़ता को हाथ से उसका गला काटने का इशारा किया।




आरोपित की इस हरकत पर पीडि़ता चिल्लाने लगी। अदालत के निर्देश पर आरोपित को घेरे में लेने के साथ न्यायालय ने पीडि़ता को सुरक्षा मुहैया कराने के निर्देश दिए। सुनवाई के बाद आरोपित को कड़ी सुरक्षा में न्यायालय से सेदरिया सब जेल ले जाया गया।




पीडि़ता को सिटी थाना पुलिस ने घर तक छोड़ा। गौरतलब है कि गत वर्ष 11 सितम्बर को शहर की एक किशोरी को सेमला झाक निवासी शहाबुद्दीन (23) अपहरण करके जोधपुर ले गए। वहां से किशोरी को केरल ले गए, जहां उससे दुराचार किया।




किशोरी ने वहां रखे आरोपित के मोबाइल से परिजन को मामले की जानकारी दी। मोबाइल लोकेशन के आधार पर सिटी थाना पुलिस की टीम ने आरोपितों को केरल के एक होटल से गिरफ्तार कर पीडि़ता को बरामद कर लिया। पुलिस ने पोक्सो एक्ट में मामला दर्ज कर आरोपितों को न्यायालय में पेश किया, जहां से किशोर को अजमेर के बाल सुधार गृह तथा मुख्य आरोपित को सेदरिया सब जेल भेज दिया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top