जयपुर.राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी जयपुर आए, कई राजनेताओं की मौजूदगी में हुआ भैरोंसिंह स्मृति व्याख्यान
राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी सोमवार दोपहर को जयपुर पहुंचें। उन्हेें यहां पूर्व उपराष्ट्रपति भैरोंसिंह शेखावत की स्मृति में बिड़ला ऑडिटोरियम में होने वाली पहली व्याख्यान माला में बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित किया गया। मुखर्जी एयरपोर्ट से सीधे बिड़ला ऑडिटोरियम पहुंचें। यहां उनका व्याख्यान हुआ। ऐसा रहा कार्यक्रम...



राष्ट्रपति के स्वागत के पश्चात बिड़ला ऑडिटोरियम में भाजपा नेता ओम माथुर, राज्यपाल कल्याण सिंह, पंजाब के राज्यपाल वी.पी. सिंह बदनौर, मुख्यमंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी मौजूद रहे। व्याख्यान माला कार्यक्रम में अशोक गहलोत ने पूर्व उपराष्ट्रपति भैरोसिंह शेखावत को गरीबों को मसीहा बताया




दोपहर: 1:30 बजे

— एक मंच पर दो मुख्यमंत्री, दो राज्यपाल, एक पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा के अन्य वरिष्ठ पदाधिकारी मौजूद हैं। राष्ट्रपति के साथ राजस्थान के सत्तापक्ष—विपक्ष पूर्व सीएम और मौजूदा सीएम आमने सामने दिखे।










— इस दौरान प्रदेश की मुख्यमंत्री ने बीजेपी सरकार की अन्नपूर्णा, काम के बदले अनाज जैसी योजनाओं को शुरू करने पर भाषण दिया।




— वहीं, गहलोत ने कहा कि भैरोसिंह शेखावत पक्ष-विपक्ष को साथ लेकर चलते थे, अब यह देखने को नहीँ मिल रहा है।





— सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन कुमार चांमलिंग भी मंच पर पहुंचे। इसी कार्यक्रम में उन्हें लाइफ टाइम एचीवमेंट अवार्ड प्रदान किया गया।

— पंजाब के राज्यपाल वी पी सिंह एवं प्रदेश के राज्यपाल कल्याण सिंह भी राष्ट्रपति के दोनों ओर मौजूद।




Read: अब मिला मां के कलेजे को चैन, 5 साल बाद हो सका शहीद बेटे की प्रतिमा का अनावरण




दोपहर: 2 बजे

चांमलिंग का संबोधन

सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन कुमार चांमलिंग ने अपनी स्पीच में कहा कि कई बार अच्छी पालिसी भी निंदा का शिकार हो जाती है। इसके बावजूद कड़े निर्णय लेने पड़ते हैं, आज मोदी शासन में देश का सम्मान बढा है।




पंजाब के राज्यपाल वी पी सिंह का संबोधन

पंजाब के राज्यपाल वी पी सिंह ने कहा कि पूर्व उपराष्ट्रपति भैरोसिंह शेखावत महान हस्ती थीं। वी पी ने सांगानेर एयरपोर्ट का नाम शेखावत के नाम करने की मांग की। उन्होंने मुख्यमंत्री और गहलोत से विधानसभा में इसका प्रस्ताव पारित करने का आग्रह किया।




राष्ट्रपति मुखर्जी का भाषण

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने पंच वर्षीय योजना में शेखावत के योगदान को याद करते हुए दुनिया में भारत को सबसे बड़ा लोकतंत्र कहा। प्रणब ने छोटे राज्य सिक्किम को रोल मॉडल स्टेट बताया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top