edvertise

edvertise
barmer



अधिकारी जन समस्याओं का निराकरण प्रथम प्राथमिकता से करें- जिला प्रमुख
जालोर जिला परिषद की बैठक में पानी, बिजली व सडक कार्यो पर हुआ मंथन



जालोर 12 मई - जिला प्रमुख डाॅ. वन्नेसिंह गोहिल ने कहा कि जिले के सभी अधिकारी जन प्रतिनिधियों की मंशा के अनुरूप क्षेत्रा में जन समस्याओं का निराकरण तत्परता से करवायें वही अधिकारी अपनी पालना रिपोर्ट पूर्ण बिन्दुओं सहित व्यवस्थित रूप से भिजवायें।

जिला प्रमुख डा. वन्नेंसिंह गोहिल शुक्रवार को जिला परिषद के सभा कक्ष में परिषद की सामान्य बैठक में उपस्थित अधिकारियों को अध्यक्षीय उद्बोधन के दौरान सम्बोधित कर रहे थें। बैठक में रानीवाडा विधायक नारायणसिंह देवल, सांचैर विधायक सुखराम विश्नोई, जिला कलेक्टर एल.एन. सोनी, पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हरिराम मीना उपस्थित थें।

बैठक के प्रारभ्भ में जिला प्रमुख डाॅ. वन्नेसिंह गोहिल ने नवनियुक्त जिला कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक का स्वागत करते हुए कहा कि वर्तमान में ग्रीष्मकाल का समय है इसलिए सभी अधिकारी क्षेत्रा के जन प्रतिनिधियों के साथ आपस में समन्वय बनाये रखते हुए पानी की आपूर्ति बिना किसी व्यवधान के सम्पन्न करें। उन्होनें कहा कि अधिकारी जन हित के मामलों को प्राथमिकता से निस्तारित करें साथ ही सदस्यों द्वारा पूछे गये प्रश्नों के प्रतिउत्तर में किसी भी प्रकार की जल्दबाजी नही कर उसका निराकरण के बाद व्यवस्थित रूप से अपना जबाव भिजवायें ।

उन्होनें जनप्रतिनिधियों से चर्चा के दौरान कहा कि वे वर्तमान में क्षेत्रा में टयूबवैल एवं हैण्डपम्पों की दुरूस्ती के लिए चल रहे अभियान में सक्रियता से कार्य करवायें। उन्होनें बैठक में सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियन्ता को निर्देशित किया कि वे सदस्यों की भावना एवं राज्य सरकार के निर्धारित मापदण्डों के अनुरूप जिले में जहां पर भी अनावश्यक स्पीड ब्रेंकर बने हुए उनका सर्वे कर उन्हें सही करवाये या हटवायें। उन्होनें बैठक में सदस्यों की भावनाओं को इंगित करते हुए कहा कि भविष्य में जिले में होने वाले लोकार्पण के कार्यक्रमों में सम्बन्धित क्षेत्रा के जनप्रतिनिधि के नाम शिलापट्किाओं पर अंकित होने चाहिए।

बैठक में रानीवाडा विधायक नारायणसिंह देवल ने कहा कि क्षेत्रा में गारंटी अवधि में क्षतिग्रस्त हुई सडकों की शीघ्र ही मरम्मत करवायें साथ ही विभाग द्वारा बन रही सडकों की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान रखे ताकि सडकें बार-बार क्षतिग्रस्त नही हों । उन्होनें सुन्धा माता रोड को जल्दी ही ठीक करवाने एवं सडक की चैडाई बढानें की भी आवश्यकता जताई। बैठक में सांचैर विधायक सुखराम विश्नोई ने कहा कि जिले में जहां पर भी अवैद्य शराब की दुकाने चल रही है उन्हें बन्द किया जाये वही सांचैर में विधुत से सम्बन्धित विधायक मद के तहत स्वीकृत कार्यो को सम्बन्धित ठेकेदार के माध्यम से शीघ्र पूर्ण करवाने पर जोर दिया।

बैठक में जिला कलेक्टर लक्ष्मीनारायण सोनी ने कहा कि जिले में जलदाय विभाग से सम्बन्धित सभी योजनाओं की समीक्षा की जा रही है तथा जरूरतमंद क्षेत्रों में पीने के पानी की आपूर्ति में किसी भी स्तर पर कोत्ताही नही बरती जायेगी। उन्होनें कहा कि आंगनवाडी केन्द्र या अन्य किसी राजकीय भवनों के पट्टों से सम्बन्धित बकाया कार्य है तो वर्तमान में चल रहे अभियान के दौरान उन्हें शतप्रतिशत पूर्ण किया जाये। उन्होनें सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियन्ता को निर्देशित किया कि जिले में बीओटी सडकों की जांच रफोमीटर से करवाकर निर्धारित मापदण्ड के तहत सडक नही पाई जाये तो सम्बन्धित टोल नाकेदारों को नोटिस जारी करें।

बैठक में उप जिला प्रमुख श्रीमती गिरधर कंवर ने जिले में बजरी खनन के तहत नदियों में खोदे जा रहे खड्डों को रोकने, भीनमाल में राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विधालय में विज्ञान संकाय खोलने, नवापुरा में क्षतिग्रस्त आंगनवाडी भवन को गिराने, दांसपा में चिकित्सक को मुख्यालय पर रहने एवं पुलिस थानों में परिवादियों की तत्परता से एफआईआर दर्ज करने सहित विभिन्न बिन्दुओं को रखा। बैठक में चितलवाना प्रधान हनुमान प्रसाद भादू, सांचैर प्रधान टाबाराम, भीनमाल प्रधान धुखाराम पुरोहित, सायला प्रधान जबरसिंह, जालोर प्रधान संतोष, आहोर प्रधान श्रीमती राजेश्वरी कंवर, जिला परिषद सदस्य मंगलसिंह सिराणा, खेमराज देसाई, मेघराज, श्रीमती अमृता कंवर, श्रीमती पवनी देवी, दिनेश कुमार, पुनमाराम, किशोर कुमार, प्यारेश्वरी, राजेश कुमार, मीरादेवी एवं हिम्मताराम आदि ने अपने-अपने क्षेत्रा की जन समस्याओं को तत्परता से रखा। बैठक में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हरिराम मीना ने बैठक में रखे जाने वाले विषयों तथा विभागीय प्रगति के सम्बन्ध में जानकारी दी। इस अवसर पर सहित विभिन्न सदस्य एवं जिला स्तरीय अधिकारी आदि उपस्थित थें।

---000---

मुख्य मंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान की समीक्षा बैठक सम्पन्न



जालोर 12 मई - जिला कलेक्टर एल.एन.सोनी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में मुख्य मंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई जिसमें जिले में अभियान के तहत स्वीकृत किये गये कार्यो की विस्तार से समीक्षा की गई।

बैठक में जिला कलेक्टर एल.एन. सोनी ने मुख्य मंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान से जुडे सभी विभागीय अधिकारियों को सख्त शब्दों में कहा कि राज्य सरकार का महत्वाकांक्षी अभियान मुख्य मंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान के इसलिए इसमें किसी भी स्तर पर की गई ढिलाई को बर्दास्त नही किया जायेगा। उन्होनें कहा कि अभियान के तहत स्वीकृत किये गये सभी कार्यो की जीओं टेगिंग 14 मई के पूर्व हो जानी चाहिए वही जो कार्य किसी कारणवश दोहरे स्वीकृत हो गये है या किन्ही विशेष परिस्थितियों के तहत उन्हें बदला जाना है तो उसे भी आगामी सोमवार के पूर्व किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होनें बैठक में विभिन्न विभागों के अधिकारियों एवं अभियन्ताओं से सीधे संवाद करते हुए कहा कि जो कार्य स्वीकृत हो चुके है उन्हें हर हालत में निर्धारित तिथि के पूर्व पूर्ण किया जाना है इसलिए वे अपनी मानसिकता इसी हिसाब से बनायें। उन्होनें कहा कि जो कार्य स्वीकृत हो चुके है उनके टेंडर आगामी 20 मई के पूर्व खोले जाकर उसी दिन कार्यादेश जारी किया जायें।

बैठक में मुख्य कार्यकारी अधिकारी हरिराम मीना ने मुख्य मंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान के तहत स्वीकृत किये गये कार्यो एवं समस्याओं के सम्बध में विस्तार से जानकारी दी। बैठक में अतिरिक्त जिला कलेक्टर नरेश बुनकर, जालोर उपखण्ड अधिकारी राजेन्द्रसिंह, भीनमाल उपखण्ड अधिकारी सुश्री रेणु सेनी, आहोर उपखण्ड अधिकारी प्रकाश चन्द्र अग्रवाल, रानीवाडा उपखण्ड अधिकारी हनुमानसिंह, वाटरशेड के अधीक्षण अभियन्ता दिलीप वर्मा एवं जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियन्ता कमलजीत तथा उपवन संरक्षक हनुमानाराम सहित सभी विकास अधिकारी एवं सम्बन्धित पंचायत समितियों के अभियन्ता एवं सम्बन्धित विभागों के अधिकारी आदि उपस्थित थें।

----000---

16 मई को लेटा में औद्योगिक प्रोत्साहन शिविर का आयोजन



जालोर 12 मई -जिला उद्योग केन्द्र द्वारा दस्तकारों के पंजीयन एवं औद्योगिक प्रोत्साहन शिविर का आयोजन 1़6 मई को लेटा ग्राम पंचायत में किया जायेगा।

जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबन्धक सुशील छाबडा ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की जानकारी देने एवं उनके अन्तर्गत पात्रा लोगों को लाभान्वित करने के लिए दस्तकारों के पंजीयन एवं औद्योगिक प्रोत्साहन शिविर का आयोजन 16 मई को लेटा ग्राम पंचायत में किया जायेगा जिसमें मौके पर ही उद्योग विभाग की विभिन्न योजनाओं के तहत पात्रा व्यक्तियों के आवेदन पत्रा तैयार किये जाकर विभाग की ओर से आर्टिजन/बुनकर परिचय पत्रा बनाना, आर्टीजन परिचय पत्रा योजना, बाजार सहायता योजना, पीएमईजीपी, बुनकर क्रेडिट कार्ड, चर्म शिल्प आधुनिकीकरण योजना, बुनकर बीमा, बुनकर पुरूस्कार योजना, भामाशाह रोजगार सृजन योजना आदि की विस्तृत जानकारी प्रदान की जायेगी।

----000---

भूमि विकास बैंकों मंे एक मुश्त समझौता योजना की अवधि 30 जून तक बढ़ी



जालोर 12 मई -जिले की भूमि विकास बैंकों में अवधिपार ऋणों की वसूली के लिए एक मुश्त समझौता योजना की अवधि को 30 जून तक बढ़ाया गया हैं।

जालोर सहकारी भूमि विकास बैंक लि. जालोर के सचिव हीरालाल जीनगर ने बताया कि सहकारिता विभाग राजस्थान द्वारा राज्य की भूमि विकास बैंकों के लिए अवधिपार ऋणों की वसूली के लिए एक मुश्त समझौता योजना 30 अप्रेल तक लागू की गई थी जिसकी अवधि को बढ़ाकर 30 जून, 2017 तक किया गया हैं जिसके अन्तर्गत योजना की शर्त पूर्ण करने वाले पात्रा ग्राहकों को अवधिपार ब्याज में राहत प्रदान की जायेगी तथा इस सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी भूमि विकास बैंक जालोर की विभिन्न शाखाओं यथा-जालोर, सायला, भीनमाल, रानीवाड़ा व सांचैर से कार्यदिवस के दौरान बैंक समय में व्यक्तिगत रूप से सम्पर्क कर प्राप्त की जा सकती हैं।

----000---

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top