edvertise

edvertise
barmer

बाड़मेर मोबाइल  में गूंजेगी किलकारी
किलकारी मोबाइल सेवा के तहत गर्भवती महिलाओ को मिल रहे है वाॅयस मेसेज

बाड़मेर। अब गर्भवती व प्रसूता महिलाओ को गर्भकाल के दौरान व बाद में
सावधानी व अन्य जानकारियो से अपडेट होने के लिए किसी किताब या इन्टरनेट
का सहारा नही लेना पडे़गा। न ही उन्हे आस-पास पड़ोस की किसी बुजुर्ग या
परिचित महिला से सलाह मशवरा करना पडे़गा। न ही उन्हे नवजात शिशु की
देखभाल के लिए बार-बार चिकित्सालय जाने की जरूरत होगी। क्योकि अब
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग गर्भवती महिलाओ व नवजात शिशुओ के लिए
मोबाइल सेवा किलकारी के जरिए वाॅयस मेसेज भेजना शुरू कर दिया। पीसीटीएस
में पंजीकृत जिले की गर्भवती महिलाओ को ये वाॅयस मेसेज भी प्राप्त होने
लगे हैं । मार्च माह से पुरे जिले में योजना प्रारम्भ कर दी गई है। इस
कार्यक्रम की राज्य स्तर से नियमित रूप से माॅनिटरिंग की जा रही है।
सीएमएचओ डाॅ. हेमराज सोनी ने बताया कि विभाग की ओर से गर्भवती एवं
प्रसूता महिला को नियमित स्वास्थ्य संदेश देने के लिए श्किलकारीश् सेवा
केन्दीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से प्रारम्भ की गई है। डाॅ. सोनी ने
बताया कि श्किलकारीश् सेवा से निश्चित ही महिलाऐ लाभान्वित होगी एवं
वाॅयस मेसेज सेवा के जरिये जिले की गर्भवती व नवजात शिशु की स्वास्थ्य
सेवाओ से सम्बंधित वाॅयस मेसेज भेजे जा रहे है। श्किलकारीश् वाॅयस मेसेज
पीसीटीएस साॅफ्टवेयर पर दर्ज लाभार्थी महिला के मोबाइल नम्बर पर गर्भकाल
के चैथे माह से प्रत्येक सप्ताह एक वाॅयस मेसेज प्राप्त होगा। इसी तरह
शिशु की आयु एक वर्ष होने तक यानि गर्भकाल के बाद से लाभार्थी को 72
मेसेज जायेगें। सीओआशा राकेश भाटी ने बताया कि सभी वाॅयस मेसेज
0124-3309999 नंबर से प्राप्त होगे। ये मेसेज प्रसव काल, एएनसी,
एचबीएनसी, परिवार कल्याण, एवं शिशु के पूर्ण टीकाकरण किये जाने के सम्बंध
में प्राप्त होंगे। यदि लाभार्थी पहला वाॅयस मेसेज काॅल रिसीव नही करती
है तो उसी दिन 3 अन्य मेसेज पुनः भेजे जायेगे। यदि काॅल ड्राॅप या
लाभार्थी उस समय वयस्त है तो बाद में टोल फ्री नम्बर 1800-3010-1703 के
जरिये नम्बर डायल कर पुनः मेसेज सुन सकती हैं। इस सम्बंध में मिशन निदेशक
एनएचएम नवीन जैन ने सभी बीएचएस/पीएचएस को निर्देशित किया हैै कि आशाओ के
जरिये गर्भवती महिलाओ तक यह जानकारी पहुॅचाये। यही नही कि पहली जाॅच के
दौरान ही महिला को वाॅयस मेसेज के बारे में अवगत करवाने के लिए सभी
चिकित्सा अधिकारियो व महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओ को पाबंद किया गया है।
भाटी ने बताया कि भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की
वेबसाइट श्एमसीटीएसश् पर श्किलकारीश् के सम्बंध में अनेक मेसेज एवं
जानकारी दी गई है। वही अनेक तरह की प्रचार-प्रसार सामग्री भी श्किलकारीश्
को लेकर दी गई है। यह कार्यक्रम मुख्यतः गर्भवती महिलाओ, नवजात शिशुओ व
आशाओ के लिए है। भाटी ने बताया कि कार्यक्रम को सफल बनाने में आशा
सहयोगिनीयो की अहम भूमिका होगी।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top