edvertise

edvertise
barmer

बाड़मेर तो आज नये हाकिम ने बिजली पानी अधिकारियों की क्लास ले ही डाली।।अधिकारियों घिघियाते नजर आए।।*

*बाड़मेर जिले कर नए हाकिम शिवप्रसाद एम नकाते जिनके बाड़मेर आने से पहले उनके आक्रामक होने की सूचनाएं मिली थी।आज उन्होंने अपनी पहली बड़ी बैठक में अपने इरादे जाहिर कर दिए।।पानी बिजली स्वास्थ्य और शहर की सरकार के साथ अहम बैठक में एक एक करके सभी अधिकारियों की न केवल क्लास ले डाली अपितु अधिकारियों को हाकिम के सवालों के जवाब सूझते नजर नही आये।यस सर यस सर की प्रवृति पे उन्होंने दो टूक कहा कि मुझे काम चाहिए।।कोई फरियादी मेरे पास आता है इसका मतलब आप लोग काम नही कर रहे।उन्होंने बिजली विभाग के अधिकारियों को विद्युत योजनाओं की प्रगति रिपोर्ट अपने फॉर्मेट में लाने का बोला तो पानी महकमे के अधिकारियों की खास खिंचाई की ।उन्होंने जलदाय विभाग के आला अधिकारी से बोला कि आप तो मुझे जिले के हैंड पंप की सूचना फॉर्मेट में दीजिए कि कितने पंप कार्यरत है कितने खराब कितने मृत हैं।उन्होंने कहा कि ट्यूब वेल कार्यो की समीक्षा वे खुद करेंगे भौतिक सत्यापन भी।उन्होंने कहा कि जलाशयों की सफाई कागज़ों में करना बंद करो।आप सफाई से पहले और बाद कि फोटो मंगवाईये।।साथ ही पेयजल की किल्लत को दुर्ज करे।छोटे बड़े फॉल्ट है उन्हें दुरुस्त कर।कोई बहाना नही चलेगा।उन्होंने शहरी क्षेत्र में पेयजल व्यवस्था दुरुस्त करने की बात कही।हाकिम ने फो टूक कहा कि उनके पास आने वाली शिकाययो से अधिकारियों की जिम्मीदरी तय की जाएगी।उन्होंने चिकित्सा अधिकारी को बोला कि आपके डॉ ग्रामीण इलाकों में अस्पताल जाते है या नही आपको पता है।।उन्होंने निर्देश दिए कि आप डॉ की अस्पताल आने जाने के वक़्त फोटो मंगवाईये।उन्होंने कहा कि डॉ अस्पताल न जाकर PG की तैयारियों में रहते है ।सोच लो ऐसे डॉ की PG नही होने दूंगा।डॉ अपनी जिम्मीदरी निभाये।उन्होंने स्वास्थ्य विभाग में प्रायिनियुक्तियो की सूचना मांगी साथ ही किसकी प्रतिनियुक्ति किसके आदेश से हुई यह भी मांग लिया।स्वास्थ्य अधिकारी को तो जवाब देते नही बना तो हाकिम नर बोला मीटिंग में आवो तो पूरी तैयारी से आना। हाकिम के तेवर आज बदले नजर आए।इसी तरह एक अधिकारी ने हाकिम से बोलै वो कल छुट्टी जायेंगे ,हाकिम ने टपक से बोलै आपने मेरे से अवकाश स्वीकृत कराया ,मेरे बगैर स्वीकृति के कोई छूती नहीं जायेगा ,अधिकारी के मानो काटो तो खून नहीं ,।मूलभूत सुविधाओं वाले विभागों से जनता सर्वाधिक दुखी हैं शायद यह बात नाएं हाकिम समझ गए।लम्बे अरसे बाद अजिताभ शर्मा,कृष्ण कुणाल ,रवि जैन और गौरव गोयल जैसी क्षमता नये हाकिम में नजर आई।।नये हाकिम ने नगर परिषद के आयुक्त को बाड़मेर शहर की सफाई  व्यवस्था सुधारने के लिए सात दिन का समय दिया था जिसमे पांच दिन चले गए।सातवें दिन का इंतज़ार हैं।।बाड़मेर की जनता का कुछ भला होगा आशा जगी हैं।।*BNT।।

*बाड़मेर न्यूज़ ट्रैक*

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top