edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर मंे लगेंगे 610 आईपी फोन, ग्राम पंचायत स्तर पर सीधे हो सकेगी बातचीत
बाड़मेर, 19 मई। विभागीय कार्य प्रणाली मंे जवाबदेही एवं पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए सूचना एवं प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग जिला एवं ब्लाक स्तर के कार्यालयांे के साथ ग्राम पंचायतांे को सीधा आईपी फोन सुविधा से जोड़ेगा। बाड़मेर जिले के विभिन्न कार्यालयांे मंे इसके तहत 610 आईपी फोन स्थापित होंगे। अब तक 325 विभिन्न कार्यालयांे मंे आईपी फोन लगाए जा चुके हैं।

जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते ने बताया कि समस्त सरकारी कार्यालयांे को सूचना प्रौद्योगिकी से जोड़कर उनकी कार्यप्रणाली में जवाबदेही, कुशलता एवं पारदर्शिता लाने के प्रयास किए जा रहे है। इसके तहत सभी कार्यालय वीओआईपी (वॉयस ऑवर इंटरनेट प्रोटोकॉल) तकनीक पर आधारित फोन सेवा से जोड़े जा रहे है। अटल सेवा केंद्रों मंे भी आईपी फोन लगाए जा रहे है। यह फोन उन सभी कार्यालयों में लगाए जा रहे है, जहां राज-स्वान (राजस्थान स्टेट वाइड एरिया नेटवर्क) अथवा राजनेट से जुड़े हुए हैं। उनके मुताबिक ग्राम पंचायतों एवं ब्लॉक स्तरीय सरकारी दफ्तरों तक आईपी फोन तकनीक पहुंचाने की मुख्यमंत्री ने गत वर्ष बजट में घोषणा की थी। इन दिनों सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग की ओर से कार्य किया जा रहा है। कई ग्राम पंचायतों पर आईपी फोन इंस्टॉलेशन का काम कर दिया गया है। इससे सरकारी अधिकारियों का आपसी संवाद का सिस्टम मजबूत होगा। जिन कार्यालयों मंे आईपी फोन लगा दिए गए है, उनकी सेवाएं आगामी एक सप्ताह मंे प्रारंभ होने की संभावना है।

यह सुविधा भी उपलब्ध रहेगीः इसमें ऑडियो-वीडियो कांफ्रेंसिंग सुविधा भी उपलब्ध रहेगी। इससे राज्य, जिला मुख्यालय से लेकर ग्राम पंचायत स्तर तक के अधिकारी-कर्मचारी एक साथ कई दफ्तरों-शाखाओं को लाइन पर लेकर एक ही समय में बातचीत कर सकेंगे।

निःशुल्क बातचीत हो सकेगीः आईपी फोन के माध्यम से जिले की सभी ग्राम पंचायत के अटल सेवा केन्द्रों से ग्राम पंचायत एवं पंचायत समिति मुख्यालय पर जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी निःशुल्क बात कर सकेंगे। साथ ही ग्रामीणों को सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी इसके माध्यम से निशुल्क प्राप्त हो सकेगी।

कहां-कहां कितने आईपी फोन लगेंगेः बाड़मेर जिले मंे 489 ग्राम पंचायत मुख्यालय, ब्लाक स्तर के 70 कार्यालय, जिला मुख्यालय के 51 कार्यालयांे मंे आईपी फोन लगाए जाने है।

आवासीय विद्यालयों, छात्रावासों मंे प्रवेश के लिए ऑनलाईन आवेदन आज से

बाड़मेर, 19 मई। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की ओर से संचालित समस्त राजकीय एवं अनुदानित छात्रावासों, आवासीय विद्यालयों में शैक्षणिक सत्र 2017-18 के लिए ऑनलाईन आवेदन प्रस्तुत किये जाने की व्यवस्था लागू की गई है। ऑनलाईन आवेदन 20 मई से 30 जून तक पोर्टल पर किए जा सकेंगे।

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक सुरेन्द्र पूनिया ने बताया कि विभागीय छात्रावासों में प्रवेश के लिए ऑनलाईन आवेदन पत्र sso.rajsathan.gov.in के माध्यम से SJMS.Rajsathan.gov.in पर ई-मित्र कियोस्क, साइबर कैफे, निजी इन्टरनेट आदि के माध्यम से किए जा सकेंगे। एक विद्यार्थी अधिकतम तीन छात्रावासों, आवासीय विद्यालयों के लिये आवेदन कर सकेगा। आवेदक की न्यूनतम आयु सीमा 7 वर्ष एवं उसे गत परीक्षा में उतीर्ण होना आवश्यक होगा।

यह लगाने होंगे आवश्यक दस्तावेजः आवेदन के लिए ई-मेल आईडी, मोबाईल नम्बर, आधार नम्बर, यू.आई.डी. अथवा आधार ई.आई.डी. रसीद, भामाशाह कार्ड नम्बर अथवा भामाशाह रजिस्ट्रेशन नम्बर, मूल निवास प्रमाण-पत्र, गत वर्ष की अंक तालिका, जाति प्रमाण-पत्र, बीपीएल प्रमाण-पत्र, निःशक्तता प्रमाण-पत्र, आय प्रमाण-पत्र गैर बीपीएल के लिए, माता और पिता का मृत्यु प्रमाण-पत्र, पिता का मृत्यु प्रमाण-पत्र विधवा के बालक, बालिका के लिए, पति का मृत्यु प्रमाण-पत्र विधवा आवेदकों के लिए, राजस्थान के निष्क्रमणीय पशुपालक होने का प्रमाण-पत्र निष्क्रमणीय पशुपालकों के आवासीय विद्यालय के लिये) एवं राज्य के भिक्षावृति एवं अवांछित वृतियों में लिप्त परिवार होने का प्रमाण-पत्र केवल भिक्षावृति व अवांछित वृतियों में लिप्त परिवारों के आवासीय विद्यालय के लिए प्रस्तुत करना होगा। सभी दस्तावेजों की स्वप्रमाणित स्कैन प्रति संलग्न करनी होगी। फाइल का आकार 200 के.बी. से कम होना चाहिए। पूर्व में प्रवेशित उत्तीर्ण विद्यार्थियों की गत परीक्षा की अंकतालिका sso.rajsathan.gov.in

पोर्टल पर छात्रावास अधीक्षकों द्वारा अपलोड करनी होगी। ऐसे विद्यार्थियों को सत्र 2017-18 के लिए पुनः पृथक से आवेदन करने की आवश्यकता नहीं होगी। छात्रावास एवं आवासीय विद्यालयों एवं अन्य समान्य दिशा-निर्देश का विस्तृत विवरण विभाग की वेबसाईट http://www.sje.rajasthan.gov.in पर उपलब्ध है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top