edvertise

edvertise
barmer

You are hereNariCombiflam और D' Cold Total को कर दें हमेशा के लिए ना क्योंकि...
Combiflam और D' Cold Total को कर दें हमेशा के लिए ना क्योंकि...

लाइफ इतनी बिजी हो गई है कि काम का स्ट्रैस लेकर तनाव का शिकार हो जाना आम देखने सुनने को मिल रहा है। इसके चलते व्यक्ति को सेहत के प्रति बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। काम के ज्यादा प्रैशर, थकान, शरीर दर्द, सिरदर्द और कोल्ड कफ से तुरंत राहत पाने के लिए पेनकिलर का सहारा लेते हैं, जिसमें से डी कोल्ड टोटल और कॉबिफ्लेम जैसी दवाइयों का इस्तेमाल आम ही किया जाता है। अगर आप भी अपनी इन पेनकिलर का सहारा ले रहे हैं तो जरा संभल जाएं क्योंकि यह दवाइयां घटिया हैं। यह बात हम नहीं बल्कि एक शोध में कहीं गई है।




दरअसल, सेंट्रल ड्रग्स स्टेंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन (CDSCO) की जांच में पेनकिलर और ठंड लगने पर ली जाने वाली दवाइयों Combiflam और D Cold Total को घटिया कहा है। इन दवाइयों की जांच पिछले महीने की गई थी। इसी साथ ही Cipla’s Oflox-100 DT टैबलेट, Theo Asthalin टैबलेट्स और काडिला की Cadilose solution को भी इसी केटेगरी में रखा गया है।

PunjabKesari

CDSCO ने कुल 60 दवाइयों के लिए अलर्ट जारी किया है। इसमें ऊपर बताई गईं पांच दवाइयां भी इस लिस्ट में शामिल हैं जो कि मार्च 2017 में किए गए विभिन्न टेस्ट में फेल हुईं। अक्टूबर 2015 में बनी कॉबिफ्लेम के बैच नंबर A151195 पर टेस्ट किया गया था। इससे पहले भी कॉबिफ्लेम तीन बार CDSCO द्वारा घटिया बताई जा चुकी है। वे टेस्ट फरवरी, अप्रैल और जून में हुए थे। पिछली बार जब Combiflam को घटिया बताया गया था तो उसको बनाने वाली कंपनी Sanofi India ने कमी वाले सारे बैचों को वापस मंगा लिया था। Sanofi India Combiflam द्वारा सालाना 169.2 करोड़ रुपए की कमाई होती है।

हालांकि Sanofi India के प्रवक्ता ने कहा कि 2015 में बनी हुई कॉबिफ्लेम घटिया बताई गई क्योंकि वे विघटन टेस्ट में फेल हो गईं और आधिकारिक तौर पर नोटिस मिलने के बाद उनकी तरफ से इस पर एक्शन लिया जाएगा। वहीं डी कोल्ड टोटल भी टेस्ट के दौरान विघटन परीक्षण में फेल हुईं। उसके AD762 बैच नंबर पर परीक्षण किया गया था हालांकि इस मामले पर Cipla और Reckitt Benckiser Healthcare India ने किसी तरह की कोई टिप्पणी नहीं की।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top