edvertise

edvertise
barmer

अब पेट्रोल-डीजल की हो सकती है होम डिलीवरी, सरकार बना रही प्लान
Petrol Deasel, national news in hindi, national news
नई दिल्ली.पेट्रोलियम मिनिस्ट्री अब पेट्रोल और डीजल की होम डिलीवरी करने पर विचार कर रही है। मिनिस्ट्री की ओर से शुक्रवार को इस बारे में ट्वीट किए गए गए। मिनिस्ट्री का कहना है कि पेट्रोल पंपों पर लंबी-लंबी लाइनें लगती हैं। लोगों का वक्त बरबाद होता है। ऐसे में प्री-बुकिंग करा लेने पर कंज्यूमर्स को पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स की होम डिलीवरी किए जाने की स्कीम पर विचार किया जा रहा है। ट्वीटर पर दी जानकारी...

- पेट्रोलियम मिनिस्ट्री की ओर से शुक्रवार को यह जानकारी ट्विटर पर दी गई।

- ट्वीट में कहा गया है कि पेट्रोलियम प्रोडक्ट की होम डिलीवरी से पेट्रोल पंप पर लंबी लाइन में लगने की झंझट से निजात मिलेगी और कंज्यूमर्स का कीमती वक्त भी बचेगा।

- मिनिस्ट्री के मुताबिक, देशभर में रोजाना करीब 3.5 करोड़ लोग पेट्रोल पंपों पर आते हैं।

पेट्रोल पंपों पर रोजाना होता है 2500 करोड़ का लेनदेन

- पेट्रोलियम मिनिस्ट्री के मुताबिक देशभर में पेट्रोल पंपों पर रोजाना 2500 करोड़ रुपए का लेनदेन होता है।

- मिनिस्टर ऑफ स्टेट फॉर पेट्रोलियम एंड नेचुरल गैस धर्मेंद्र प्रधान के मुताबिक, पेट्रोल पंपों पर इस वक्त रोजाना 400 करोड़ का लेनदेन कैशलेस हो रहा है।

- बता दें कि भारत पेट्रोल-डीजल की खपत के मामले में दुनिया में तीसरे नंबर पर है।

1 मई से 5 शहरों में रोजाना तय होंगे पेट्रोल-डीजल के दाम

- बता दें कि हाल ही में सरकार ने यह भी फैसला किया है कि 1 मई से देश के पांच शहरों में डीजल-पेट्रोल के दाम रोजाना तय किए जाएंगे। यह स्कीम कामयाब रही तो इसे देशभर में लागू किया जाएगा।

- ये शहर हैं- पुडुचेरी, विशाखापट्टनम, उदयपुर, चडीगढ़ और जमशेदपुर।

- अभी तेल मार्केटिंग कंपनियां 15 दिन में पेट्रोल-डीजल के रेट का रिव्यु करती हैं।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top