edvertise

edvertise
barmer

नागौर रंग लाया जिला कलक्टर राजन विशाल का नवाचार,

निदेशक जन स्वास्थ्य ने लिखा उप शासन सचिव, शिक्षा विभाग को पत्र

नागौर, 17 अप्रेल। नागौर जिले में स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत चलाया जा रहा चुप्पी तोड़ो-सयानी बनो अभियान पूरे राज्य की बाकि राजकीय बालिका स्कूलों में लागू होगा। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के निदेशक जन स्वास्थ्य ने नागौर के जिला कलक्टर राजन विशाल की ओर से शुरू किए गए इस नवाचार को राज्य की सभी बालिका स्कूलों में लागू करने के लिए उप शासन सचिव शिक्षा ग्रुप-6 को पत्र लिखा है।


निदेशक जन स्वास्थ्य ने अपने पत्र में लिखा है कि नागौर जिला कलक्टर राजन विशाल की ओर से नागौर जिले की सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाली बालिकाओं को महावारी प्रबंधन का पाठ पढ़ाने के लिए शुरू किया गया चुप्पी तोड़ो-सयानी बनो अभियान अच्छा है। इस अभियान के जरिए बालिकाओं में महावारी प्रबंधन के प्रति जागरूकता लाने के लिए प्रयासों का विवरण भी निदेशक जन स्वास्थ्य ने अपने पत्र में लिखा है। गौरतलब है कि नागौर जिले में शुरू किए गए चुप्पी तोड़ो-सयानी बनो अभियान में सबसे पहले जिले की सभी राजकीय माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों की एक-एक महिला अध्यापक को महावारी प्रबंधन की मास्टर ट्रेनर के रूप में प्रशिक्षण दिया गया। इसके बाद इन मास्टर ट्रेनर ने स्कूल स्तर पर किशोरी बालिकाओं को महावारी प्रबंधन का पाठ पढ़ाया। इसके बाद से लेकर अब हर माह के तीसरे मंगलवार को जिले की सभी 1601 सरकारी स्कूलों में बालिकाओं को महावारी प्रबंधन में स्वच्छता संबंधी जागरूकता का पाठ पढ़ाया जा रहा है।


स्कूलों में निशुल्क मिल रहे सेनेटरी नेपकीन


निदेशक जन स्वास्थ्य ने बताया कि राज्य में 08 मार्च 2016 से प्रदेश के सभी 33 जिलों में ग्रामीण क्षेत्रों की सरकारी स्कूलों में कक्षा 6 से 12 की विद्यालयों में जाने वाली किशोरी बालिकाओं एवं बीपीएल परिवार की विद्यालय नहीं जाने वाली 10 से 19 वर्ष की किशोरी बालिकाओं को प्रतिमाह 12 सेनेटरी नेपेकिन प्रति बालिका निशुल्क वितरित किए जा रहे हैं।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top