edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर,नवजात शिशु उपचार सेवाओं के लिए बनेगी जिला स्तरीय विशिष्ट कार्ययोजना
बाड़मेर, 24 अप्रैल। बाड़मेर समेत प्रदेश के 13 उच्च प्राथमिकता वाले जिलों में नवजात शिशुओं को विशेष उपचार की स्वास्थ्य सुविधायें प्रदान करने एवं नवजात मृत्यु दर को कम करने के विशिष्ट जिलास्तरीय कार्ययोजना बनाकर प्रभावी सेवाएं सुनिश्चित की जाएगी। इसके लिए जिले में उपलब्ध संसाधनों एवं सामाजिक पहलुओं को ध्यान में रखकर जिलावार विशिष्ट कार्ययोजना बनाई जाएगी।

प्रमुख शासन सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्रीमती वीनू गुप्ता के मुताबिक वर्ष 2014 के एसआरएस के अनुसार राजस्थान में प्रति हजार जीवित जन्म पर 32 नवजात मृत्यु दर है। वर्ष 2030 तक इसे कम करके 12 प्रति हजार पर लाने का ग्लोबल लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसके लिए प्रदेश में विशेषकर उच्च प्राथमिकता वाले बाड़मेर जिले समेत उदयपुर, बांसवाडा, धौलपुर, डूंगरपुर, करौली, जैसलमेर, जालोर, राजसमंद, चित्तौड़गढ़, अलवर, सिरोही एवं बूंदी मंे बीमार बच्चों के लिए नवजात देखभाल इकाइयों, प्रसव कक्षों में व्यवस्थाएं, स्टाफ की उपलब्धता, इंफ्रास्ट्रक्टर सहित विभिन्न बिन्दुओं के आधार पर जिला स्तरीय कार्ययोजना तैयार की जाएगी। इसके लिए जिला स्तर पर राज्य स्तरीय नोडल अधिकारी नियुक्त करते हुए उनके नेतृत्व में विशिष्ट कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए गए है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top