edvertise

edvertise
barmer

अपने 'रेपिस्ट' को सजा से बचाना चाहती है ये लड़की, जानें क्या है कारण

अपने 'रेपिस्ट' को सजा से बचाना चाहती है ये लड़की, जानें क्या है कारण
गोरखपुर. अपने 'रेपिस्ट' को सजा से बचाने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ से दो बार मुलाकात कर चुकी युवती ने बीते बुधवार सीओ सर्किल राजेश भारती से मुलाकात की। पुलिस ने लड़की को सलाह दी कि अपने ब्वॉयफ्रेंड को सरेंडर करने के लिए कहे, नहीं तो उसके घर जाकर कुर्की करवाई जाएगी। जानिए क्या है पूरा मामला...

- गोरखपुर जिले के चिलुआताल इलाके की एक युवती ने इसी साल मार्च में अपने ब्वॉयफ्रेंड के खिलाफ रेप का केस फाइल किया था। युवती का कहना था कि युवक ने उसके साथ शादी का झांसा देकर रेप किया। 4 साल के रिलेशन में वो दो बार प्रेग्नेंट हुई तो उसका अबॉर्शन करवाया गया।

- पिपराइच थाने में मार्च महीने में आरोपी युवक अजय निषाद के खिलाफ धारा 376, 313, 506, 323 एवं 3 (4) पॉक्सो एक्ट के तहत केस फाइल हुआ।

- केस दर्ज करवाते समय युवती के परिजनों ने उसे नाबालिग बताया था। मेडिकल एग्जामिनेशन के बाद कोर्ट में 164 सीआरपीसी के तहत युवती ने अपना रिटन स्टेटमेंट भी दर्ज कराया।

- पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए अजय के खिलाफ चार्जशीट दायर कर कार्रवाई शुरू कर दी। पुलिस गिरफ्तारी के लिए उसकी तलाश कर रही है।

फिर से जागा प्यार

- युवती ने सीएम योगी आदित्यनाथ से ब्वॉयफ्रेंड अजय के खिलाफ कार्रवाई रोकने की गुहार लगाने के लिए पहली बार बीते 3 अप्रैल को मुलाकात की।

- युवती का कहना है कि ब्वॉयफ्रेंड के खिलाफ एफआईआर करना उसकी नासमझी थी। वो अजय से प्यार करती है और उसे सलाखों के पीछे नहीं देख सकती।

- युवती ने बताया, "अजय को शक था कि मेरा अफेयर किसी अन्य लड़के से चल रहा है। इसी बात को लेकर हमारे बीच झगड़ा हुआ और उसने बातचीत बंद कर दी। मैं उससे शादी के लिए कहती रही, लेकिन उसने कोई रिस्पॉन्स नहीं दिया। मार्च में होली के मौके पर मैं उसके घर गई थी। वहां मैंने जहर खाकर अपने हाथ की नस काट ली थी। तभी मैंने कुछ शुभचिंतकों के कहने पर अजय के खिलाफ केस दर्ज करवाया था।"

- अब युवती अजय को बचाने की कोशिशों में जुटी है।

क्या कहती है पुलिस

- सीओ राजेश भारती ने बताया, "मामले में चार्जशीट लग चुकी है। अब इसका फैसला कोर्ट में ही पॉसिबल है। हमने लड़की से कहा है कि वो ब्वॉयफ्रेंड से सरेंडर करने को कहा है। अगर वो सरेंडर नहीं करता तो हमें उसके घर जाकर कुर्की की कार्रवाई करनी होगी।"

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top