edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर,जिला कलक्टर की पहल पर मोहिनी देवी को मिली राहत
बाड़मेर, 03 अप्रैल। जिला कलक्टर सुधीर शर्मा की संवेदनशीलता बीसासर निवासी मोहिनी देवी के लिए वरदान साबित हुई। जिला कलक्टर के निर्देश पर मोहिनी देवी की जमीन पैमाइश कर नेखम स्थापित किए गए। वरिष्ठ नागरिकांे के प्रति सम्मान एवं महिला सशक्तिकरण के लिए संवेदनशीलता को लेकर मोहिनी देवी एवं उनकी पुत्रियांे ने जिला कलक्टर को आभार जताया।

बाड़मेर तहसीलदार गोपालसिंह मीणा ने एक अप्रैल को बीदासर के खसरा नंबर 1356 एवं 1357 मंे स्थित श्रीमती मोहिनी देवी धर्मपत्नी बागाराम खत्री एवं श्रीमती कमला, श्रीमती पुष्पा एवं श्रीमती रूखमणी की विवादग्रस्त भूमि संबंधित विवाद का निस्तारण का आश्वासन दिया। उस दिन अस्सी वर्षीय श्रीमती मोहिनी देवी अपनी पुत्रियांे के साथ मौके पर पहुंची तो पता चला कि पैमाइश की कार्यवाही अपरिहार्य कारणांे से स्थगित कर दी गई है। इस पर वरिष्ठ नागरिक श्रीमती मोहिनी देवी ने जिला कलक्टर सुधीर शर्मा के आवास पर पहुंचकर अपनी परिवेदना सुनाई। जिला कलक्टर ने संवेदनशीलता का परिचय देते हुए बाड़मेर तहसीलदार को दो घंटे मंे पैमाइश कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। इस पर राजस्व दल ने दोनांे पक्षांे की उपस्थिति मंे नक्शा मौमिन ट्रेस के आधार पर पैमाइश की जाकर दोनांे पक्षकारांे को मौके की स्थिति से अवगत कराया। विवादग्रस्त रकबे का दोनांे पक्षकारान के मध्य मानचित्र के अनुरूप विभाजन कर बिन्दू स्थापित किए गए। राजस्व दल की ओर से की गई पैमाइश तथा विवादग्रस्त रकबे का विभाजन किए गए बिन्दूआंे से दोनांे पक्षकारांे के सहमत होने पर उनकी उपस्थिति के कायम बिन्दूआंे पर नेखम स्थापित किए गए। श्रीमती मोहिनीदेवी तथा उनकी पुत्रियांे ने वरिष्ठ नागरिकांे के सम्मान एवं महिला सशक्तिकरण के प्रति संवेदनशीलता के लिए जिला कलक्टर, तहसीलदार एवं राजस्व दल का आभार जताया। विप्रार्थी ओमप्रकाश अग्रवाल ने भी विवाद का निस्तारण होने पर धन्यवाद ज्ञापित किया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top