edvertise

edvertise
barmer



जालोर   जिले में डाॅ. अम्बेडकर जयन्ति से प्रारभ्भ होगा पट्टा आंवटन अभियान
अभियान के तहत पट्टाविहीन पात्रा व्यक्तियों को मिलेंगे पट्टे
जालोर 10 अप्रेल -जिले में 14 अप्रेल डाॅ भीमराव अम्बेडकर जयन्ति से 12 जुलाई तक पट्टा आवंटन अभियान संचालित किया जायेगा जिसमें ग्राम पंचायतों में पट्टाविहीन पात्रा व्यक्तियों को आबादी भूमि के पट्टे तथा भूखण्डहीन पात्रा व्यक्तियों को आबादी भूमि में भूखण्ड आवंटित किये जायेंगे।

जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हरिराम मीना ने बताया कि ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग राजस्थान-जयपुर के निर्देशानुसार 14 अप्रेल डाॅ. भीमराव अम्बेडकर जयन्ति से 12 जुलाई तक 90 दिवस की अविधि के लिए विशेष पट्टा आवंटन अभियान संचालित किया जायेगा जिसमें जिले की सभी ग्राम पंचायतों में शिविर आयोजित किये जाकर पट्टाहीन पात्रा व्यक्तियों को आबादी भूमि में पट्टे तथा भूखण्डहीन पात्रा व्यक्तियों को आबादी भूमि में भूखण्ड आवंटित किये जायेंगे। उन्होंने बताया कि अभियान की शुरूआत 14 अप्रेल शुक्रवार को चयनित ग्राम पंचायत में चयनित ग्राम पंचायत में शिविर आयोजित कर की जायेगी इसके पश्चात् आगामी सप्ताह में प्रत्येक सोमवार व गुरूवार को प्रत्येक पंचायत समिति की चयनित एक ग्राम पंचायत में शिविर आयोजित किये जायेंगे तथा सोमवार अथवा गुरूवार को राजपत्रित अवकाश होने की स्थिति में अगले कार्यदिवस को शिविर आयोजित किये जायेंगे।

उन्होंने बताया कि निर्धारित कार्यक्रम के तहत 14 अप्रेल शुक्रवार को सामतीपुरा, भैंसवाडा, तीखी, भागलभीम, आलडी, जसवन्तपुरा, गुडाहेमा व सरनाऊ में शिविर आयोजित किये जाकर पट्टा आंवटन का कार्य किया जायेगा वही 17 अप्रेल सोमवार को लेटा, आहोर, बिशनगढ़, निम्बावास, रानीवाडाकलां, धानसा, हाडेचा व पालडी सोलंकियान में, 20 अप्रेल गुरूवार को सांकरणा, चरली, बालवाडा, नरसाणा, पूनासा, बडगांव, धामसीन, सेरणा, जोधावास व डबाल में, 24 अप्रेल सोमवार को गोदन, दयालपुरा, आंवलोज, माण्डवला, दांतीवास, जोडवास, धानोल, मोदरा, जोरादर व बावरला में, 27 अप्रेल गुरूवार को सामूजा, चवरछा, थांवला, ऐलाणा, डांगरा, फागोतरा, जाखडी, रतनपुर, बासडाधनजी, ईटादा व सरवाना में, 1 मई सोमवार को देवकी, गुडा बालोतान, अगवरी, उम्मेदाबाद, थोबाउ, दहीपुर, मैत्राीवाडा, तातोल, भाटकी, किलवा व दांतिया मंे, 4 मई गुरूवार को बादनवाडी, उम्मेदपुर, बिठुडा, ओटवाला, नरसाणा, गांग, जालेराखुर्द, तवाब, देवडा व अचलपुर में, 8 मई सोमवार को देबावास, पावटा, सेदरिया बालोतान, सायला, कावतरा, कूडा, सेवाडा, जोडवाडा, सुंथडी, कोड व भडवल में, 11 मई गुरूवार को ओडवाडा, डोडियाली, हरजी, आसाणा, चैराउ, सेवडी, कोटडा, सोमता, झाब, परावा, गोलासन व बिछावाडी मंे, 15 मई सोमवार को देसू, पादरली, चान्दराई, पोषाणा, जैरण, करवाडा, खानपुर, भीमगुडा व प्रतापपुरा में, 18 मई गुरूवार को उण, कवराडा, रोडला, सुराणा, तिलोडा, लूणावास, दांतवाडा, सीकवाडा, निम्बाउ व विरोल में, 22 मई सोमवार को भागली सिंधलान, भूती, कंवला, दादाल, खेतलावास, कालेटी, कोडका, माण्डोली, आकोली, पांचला व दुगावा में, 25 मई गुरूवार को रेवत, वलदरा, नोरवा, भुण्डवा, मेंगलवा, राह, करडा, पूनककलां, चितलवाना, सुरावा व लाछीवाड में तथा 29 मई सोमवार को बाकरारोड, चुण्डा, शंखवाली, सिराणा, तेजा की बेरी, जंूजाणी, चाटवाडा, रामसीन, डावल, सिवाडा, हाडेतर व दांता में शिविर का आयोजन किया जायेगा।

उन्होने बताया कि इसी प्रकार 1 जून को मंडगाव, काम्बर, अजीतपुरा, सांगाणा, डाबली, वाडा भाडवी, वणधर, मुडतरा सिली, सुराचन्द, पुर व धमाणा में, 5 जून को नून, भाद्राजून, तालियाणा, जीवाणा, कूका, रोपसी, भरूडी, खेजडीयाली, काछेला, गुन्दाऊ व सेडिया में, 8 जून को चूरा, रामा, बाला, बावतरा, वालेरा, डूंगरवा, भालणी, चितरोडी, थूर, होथीगांव, रणोदर, नैनोल व सांकड में, 12 जून को सांथू, घाणा, भोरडा, रेवतडा, आलासन, धुम्बडिया, बागोडा, मालवाडा, बूगांव, केरिया, कारोला व धाणता मंे, 15 जून को बागरा, आईपुरा, नोसरा, बाकरा, बैरठ, चैनपुरा, राउता, कागमाला, चान्दूर, केसुरी व अरणाय में, 19 जून को नारणावास, वेडिया, बावडी, केशवना, सांफाडा, मोरसीम, नई मोरसीम, सुरजवाडा, डोरडा, दुठवा, विरावा, जाखल व हरियाली में, 22 जून को आकोली, भंवरानी, बांकली, तुरा, थलवाड, जैसावास, नांदिया, डूंगरी, सावीधर, सेसावा, डूंगरी व चैरा में, 27 जून को दीगांव, डूडसी, पांचोटा, ऊनडी, खोखा, रंगाला, रानीवाड़ा खुर्द, गजीपुरा, टांपी व भादरूणा में, 29 जून को बिबलसर, सिवणा, रायथल, कोमता,नरता, भागलसेफ्टा, आखराड, पावली, जानवी व बिजरोल खेडा में, 3 जुलाई को सियाणा, चांदणा, सुगालिया जोधा, पांथेडी, बोरटा, कोटकास्तां, मेडा, पंसेरी, डी.एस.ढाणी व पमाणा में, 6 जुलाई को मेडाउपरला, निम्बला, देताकलां, दासपां, कोरा, सिलासन, दांतलावास, गोमी व खारा में, 10 जुलाई को लाखणी, बाली, भाटीप, राजीकावास व कलापुरा में तथा 12 जुलाई गुरूवार को पूरण व गजापुरा में शिविर का आयोजन किया जाकर पट्टाहीन पात्रा व्यक्तियों को आबादी भूमि के पट्टे तथा भूखण्डहीन पात्रा व्यक्तियों को आबादी भूमि में भूखण्ड आवंटित किये जायेंगे।

---000---

जिला कलेक्टर ने कृषकों से अवशेष रही फसलों को नही जलाने का किया आग्रह
जालोर 10 अप्रैल - जिला कलक्टर ने जिले के सभी किसान भाईयों से आग्रह किया है कि वे अपने खेतों में फसल कटाई के बाद अवशेष रही फसल को जलाये नही क्योकि जलाने से वायु प्रदूषण की समस्या उत्पन्न होती है वही भूमि की उर्वरा क्षमता भी प्रभावित होती है।

जिला कलक्टर अनिल गुप्ता ने जिले के सभी कृषक बन्धुओं से आग्रह किया कि सामान्यतः रूप से जिन खेतों में कम्बाईन हार्वेस्टर के द्वारा फसल कटाई की जाती है वहाॅ पर 6 से 9 इंच तक की ऊॅचाई तक फसल अवशेष भूमि में बच जाता है। उक्त फसल अवशेष को सामान्यतः किसानों द्वारा जला दिया जाता है जिससे वायु प्रदूषण की समस्या उत्पन्न होती है। उन्होनें बताया कि राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण एवं केन्द्रीय प्रदूषण नियन्त्राक मंडल द्वारा इस परिपाटी को रोकने के लिए निर्देशित किया है वही राज्य के पर्यावरण विभाग द्वारा भी उक्त फसल अवशेष को जलाने से रोकने के लिए 27 अगस्त 2015 द्वारा जारी अधिसूचना द्वारा वायु (प्रदूषण नियन्त्राण एवं रोकथाम) अधिनियम 1981 की धारा 19 (5) के तहत प्रतिबन्धित किया गया है।

उन्होनें बताया कि उक्त फसल अवशेष कृषि भूमि के लिए पोषक तत्वों का उत्तम स्त्रोत है। उन्नत कृषि यन्त्रों जैसे कि रोटावेयर, रीपर, हैप्पीसीडर, रीपर बाइण्डर एवं स्ट्रा रीपर आदि के इस्तेमाल से उक्त फसल अवशेष को काटकर ईधन के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है या इसके टुकडे-टुकडे कर मिट्टी में मिश्रित किया जा सकता है या फिर इसे पशु आहार के भूसे के रूप में भी परिवर्तित किया जा सकता है।

जिला कलेक्टर ने जिले के सभी राजस्व एवं कृषि अधिकारियों को भी निर्देशित किया कि वे पर्यावरण विभाग द्वारा जारी निर्देशों की पालना के लिए यथेष्ट प्रचार प्रसार करते हुए आवश्यक कार्यवाही भी करें।

----000---

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top